ताज़ा खबर
 

आश्रम चौक पर लगने वाले जाम से मिलेगी राहत

परियोजना पूरी होने पर रिंग रोड को भी मिलेगी राहत, नौ माह का लगेगा समय, तब तक दिल्ली को जाम से जूझना होगा।

अंडरपास बनने से दिल्ली के आश्रम चौक पर लगने वाले जाम से दिल्ली वासियों को निजात मिल जाएगी

आश्रम चौक पर लगने वाले जाम से बचने के लिए नया अंडरपास व फ्लाइओवर तैयार होगा। इसके लिए दिल्ली सरकार के लोक निर्माण विभाग ने कार्य शुरू कर दिया है और करीब नौ माह के अंदर इस सबसे व्यस्त चौराहे को जाम से निजात दिलाई जा सकेगी। इस परियोजना के पूर्ण होने के बाद रिंग रोड को भी प्रतिदिन होने वाले जाम से राहत मिलेगी।

सरकार की योजना के मुताबिक, इसके लिए आश्रम फ्लाइओवर को डीएनडी से जोड़कर और एक भूमिगत पास के निर्माण से मार्ग को जाम से राहत दिलाई जाएगी। फ्लाइओवर कार्य पर करीब 125 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है जबकि भूमिगत पास पर करीब 75 करोड़ रुपए का खर्च होगा। हालांकि इस कार्य के शुरू होने से इस मार्ग से गुजरने वाले वाहन चालकों को कुछ माह के लिए परेशानियां भी उठानी होगी। इसके लिए पहले ही यातायात पुलिस के सहयोग से अलग- अलग मार्गों के प्रयोग की सलाह जारी की गई है।

जानकारी के मुताबिक आश्रम चौक दिल्ली के सबसे व्यस्त चौराहों में से एक हैं और इस मार्ग पर 24 घंटे करीब 2.8 लाख गाड़ियां गुजरती हैं। इस मार्ग पर प्रति घंटे पर औसत वाहन 11600 यात्री कार यूनिट (पीयूसी) है। ये हालात सुबह व शाम के व्यस्त समय के दौरान मार्ग पर हमेशा बनी रहती है। नया भूमिगत पास आने के 41 फीसद वाहनों को रुकने की आवश्यकता नहीं होगी और वह सीधे अपने गंतव्य तक जा सकेगा। इससे जाम की स्थिति में राहत होगी।

योजना के मुताबिक आश्रम तक डीएनडी फ्लाइ ओवर का विस्तार 6 लेन का होगा। लेन संख्या बढ़ जाने से इसकी मदद से नोएडा व आश्रम का समय भी कम होगा। इसके बाद सिग्नल की आवश्यकता नहीं रहेगी।

अप्रैल-मई तक पूर्ण होगा अंडरपास
आश्रम चौक को जाम से बचाने के लिए लोक निर्माण विभाग एक नए भूमिगत पास का निर्माण कर रहा है। यह नया भूमिगत पास मथुरा रोड पर जंगपुरा से सविता विहार आने व जाने के लिए प्रयोग किया जा सकेगा। यह चार लेन का होगा। इसकी मदद से यहां लगने वाले जाम से राहत होगी और मुख्य रिंग को प्रभावित होने से बचाया जा सकेगा।

यह अंडरपास अप्रैल-मई 2021 तक पूर्ण होने की संभावना है। लोक निर्माण विभाग के मुताबिक यह अंडरपास करीब 410 मीटर लम्बा होगा और चार लेन का होगा। इस का प्रयोग मार्ग पर चलने वाला 41 फीसद यातायात प्रयोग करेगा। जिससे मथुरा रोड को जाम से राहत होगी।

Next Stories
1 AIMMS प्रमुख रणदीप गुलेरिया बोले- जनवरी 2021 तक आ सकती है कोरोना वैक्सीन, मगर..
2 धारा 144 के बावजूद हाथरस गैंगरेप के आरोपियों के समर्थन में हुई पंचायत, 4 को पूर्व विधायक के घर बैठक
3 पिता की चाहत नहीं तय कर सकती है सेना में सेलेक्शन- कोर्ट ने किया साफ, जानें पूरा मामला
आज का राशिफल
X