ताज़ा खबर
 

हिंसक भीड़ में घिरे SI दिनेश की मोहम्मद साबिर ने बचाई थी जान, अफसर का बुलेट प्रूफ जैकेट हटाकर पहनाई दूसरी जैकेट, फिर यूं किया था रेस्क्यू!

दंगों के दौरान जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के पास दिल्ली पुलिस के सब इंस्पेक्टर दिनेश कुमार हिंसक भीड़ से घिरे गए थे। उस दौरान उन्हें उस भीड़ से मोहम्मद साबिर नाम के शख्स ने बचाया था।

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: February 29, 2020 12:02 PM
दिल्ली हिंसा के दौरान भीड़ को नियंत्रित करते पुलिसकर्मी। (एक्सप्रेस फोटो)

दिल्ली के उत्तर-पूर्वी इलाके में भड़की हिंसा की वजह से अब तक 42 लोगों की मौत हो चुकी है। हिंसाग्रस्त इलाकों में दिल्ली पुलिस और पैरा मिलिट्री फोर्स के जवान तैनात कर दिये गए हैं। इस हिंसा के बीच चंद कहानियां इंसानियत को भी बयां करती हैं। ऐसी ही एक कहानी जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के पास की है। ‘आज तक’ की रिपोर्ट के मुताबिक दंगों के दौरान जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के पास दिल्ली पुलिस के सब इंस्पेक्टर दिनेश कुमार हिंसक भीड़ से घिरे गए थे। उस दौरान उन्हें उस भीड़ से मोहम्मद साबिर नाम के शख्स ने बचाया था।

दिनेश कुमार के पास अपने आप को बचाने के लिए हथियार थे मगर उनके चेहरे पर काफी घबराहट दिख रही थी। हिंसक भीड़ लगातार उनकी तरफ बढ़ रही थी। लेकिन तभी मोहम्मद साबिर ने उन्हें भीड़ से घिरे हुए देखा और उन्हें बचाने पहुंच गए। साबिर ने दिनेश की बुलेट प्रूफ जैकेट उतारी और उन्हें सामान्य जैकेट पहना दी। वहीं एक और शख्स अबू कमर ने अपनी टोपी दिनेश को पहनाई। बाद में डॉक्टर फहीम बेग ने उन्हें अपनी बाइक पर बैठाकर वहां से निकाला और सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया।

दिल्ली हिंसा के वीडियो में खुलासा- जमीन पर पड़े घायल से जबरन बोलवाया ‘वंदे मातरम’ और ‘जन गण मन’

ऐसा ही एक और वाक्या हुआ जहां भीड़ से घबराकर एक युवक मस्जिद में जा छिपा। वह मस्जिद में घुसा ही था कि भीड़ उसके पीछे-पीछे उसे मारने वहां आ गई। भीड़ चन्दन नाम के किसी शख्स को ढूंढ रही थी। लेकिन अफजल खान नाम के एक युवक ने भीड़ को दूर किया और कहा कि वो यहां से चले जाएं ये मेरा भाई है। बाद में अफजल ने चंदन को पानी पिलाया। बातचीत में पता चला कि वह घर से काम की वजह से निकला था लेकिन हिंसक भीड़ के बीच फंस गया। बाद में उसे सुरक्षित मौजपुर चौक तक छोड़ा गया।

अंकित शर्मा पर हमला करने वाले लगा रहे थे जय श्रीराम का नारा, हाथों में थीं तलवारें- भाई ने बताया

बता दें दिल्ली पुलिस के पीआरओ एमएस रंधावा के मुताबिक दिल्ली हिंसा में अब तक 123 एएफआईआर दर्ज की जा चुकी हैं। 630 लोगों को गिरफ्तार या फिर हिरासत में लिया गया है। उत्तर पूर्वी दिल्ली के दंगा पीड़ितों की मदद के लिए दिल्ली सरकार ने शुक्रवार को एक और बड़ा कदम उठाने का ऐलान किया है। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार शाम को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि उत्तर-पूर्वी दिल्ली में 4 सब डिविजन हैं। आम तौर पर यहां 4 एसडीएम होते थे, लेकिन अब हमने यहां 18 एसडीएम नियुक्त किए हैं। सीएम केजरीवाल ने कहा कि जिन लोगों के घर पूरी तरह से या काफी हद तक जल गए हैं, उन्हें कल दोपहर 25,000 रुपये नकद दिए जाएंगे।

दिल्ली हिंसा से जुड़ी सभी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

Next Stories
1 MP: ‘कहां छिपे हो आपलोग? यहां नफरत फैलाया जा रहा और आप चुपचाप पड़े हो’, कांग्रेस विधायक ने अपनी ही पार्टी नेताओं को ललकारा
2 Delhi Violence, CAA Protest Updates: दंगाग्रस्त उत्तर-पूर्वी दिल्ली में सामान्य हो रही स्थिति, सड़कों पर दिखी चहल-पहल
3 पीएम की तारीफ करने वाले जज ने सुप्रीम कोर्ट में चुटकी लेकर कसा आलोचकों पर तंज, कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी कर रहे थे बहस
ये पढ़ा क्या?
X