X

Delhi university admission 2016: गैप ईयर के छात्र भी ले सकते हैं डीयू में प्रवेश

दिल्ली विश्वविद्यालय में दाखिले के लिए जूझ रहे छात्र उलझन में हैं। डीयू के खुले सत्र में कई उलझनें और जिज्ञासाएं निकल कर सामने आर्इं।

दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) में स्नातक स्तरीय पाठयक्रम में दाखिले की शुरुआत से अब तक 1,14,152 आवेदन पंजीकृत हुआ है। इनमें से 40,508 छात्रों ने शुक्रवार तक फीस भी जमा करा दी है। यह जानकारी डीयू के रजिस्ट्रार ने दी है। विश्वविद्यालय ने आंकड़ों को जारी कर दावा किया है कि उसकी आनलाइन आवेदन प्रक्रिया पूरी तरह सफल रही है। डीयू के विभिन्न स्नातक पाठ्यक्रमों में 60,000 से अधिक सीटों के लिए बुधवार को दाखिला शुरू  हो गया और आनलाइन पंजीकरण 19 जून को संपन्न होगा।

दिल्ली विश्वविद्यालय में दाखिले के लिए जूझ रहे छात्र उलझन में हैं। डीयू के खुले सत्र में कई उलझनें और जिज्ञासाएं निकल कर सामने आर्इं। छात्र और अभिभावकों में ‘बेस्ट फोर’ की गणना कैसे हो? कालेजों में बेहतर और सबसे बेहतर कौन? गैप ईयर होने पर दाखिले को लेकर भारी संख्या में छात्रों जानकारी मांगी। डीयू के शिक्षकों ने उनका मार्गदर्शन भी किया। लेकिन उनके सामने बड़ी समस्या ‘आनलाइन’ की भी है। साइबर कैफे वाले परेशान छात्रों बेजा फायदा उठाते हैं।

यदि आप बीकाम आनर्स या अर्थशास्त्र (आनर्स) में दाखिला लेना चाहते हैं और पहले गणित नहीं पढ़ी है तो इन दो पाठ्यक्रमों में दाखिला नहीं मिल सकता है। इन दो पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए बारहवीं में गणित में पास होना जरूरी है। हां, बीकाम प्रोग्राम पाठ्यक्रम के लिए लागू नहीं है।

डीयू के अनुसार यदि ऐसा विषय जिसे छात्र ने 12वीं में नहीं पढ़ा और बीए में उस विषय में दाखिला लेना चाहता है तो छात्र के बेस्टफोर का अंकन 2.5 फीसद अंक घटाकर होगा। मतलब 2.5 फीसद घटाने का अर्थ है कुल अंकों से 10 नंबर काट कर बेस्ट फोर तय होगा। डीयू में गैप ईयर छात्रों को कोई भी कालेज दाखिले से मना नहीं करता, बशर्ते छात्रों को दाखिले के वक्त कालेज प्रशासन को यह बताना होगा कि उसने पिछले साल कहीं दाखिला नहीं लिया था। ट्रांसफर सर्टिफिकेट या माइग्रेशन सर्टिफिकेट दिल्ली से बाहर के राज्यों से आने वाले छात्रों के लिए जरूरी है। यह स्कूल से मिलता है। जिसका मतलब है कि यह छात्रों अब दूसरे राज्य में पढ़ाई के लिए रजिस्ट्रेशन कर रहा है। डीयू के डीन स्टूडेंट्स वेलफेयर प्रो. जेएम खुराना के मुताबिक दाखिले के लिए बेस्ट फोर के अंकन में तीन एकेडमिक सब्जेक्ट (मुख्य विषय) और एक लैंगवेज (कोर, इलेक्टिव और फंक्शनल) को शामिल किया जाता है।

एकेडमिक विषयों में एकाउंटेंसी, बिजनेस स्टडीज, कॉमर्स, अरेबिक, फ्रेंच, लीगल स्टडीज, बायोलॉजी, रसायन, पंजाबी, बायो-टेक्नोलॉजी, बंगाली, ज्योग्राफी, गणितमेटिक्स, संस्कृत, बॉटनी -जीयोलॉजी (वनस्पति विज्ञान व जंतु विज्ञान) समाज शास्त्र, जर्मन, पर्सियन, स्पैनिश, हिंदी, दर्शन शास्त्र, स्टैटिक्स, कंप्यूटर साइंस, इतिहास, भौतिकी, उर्दू, अर्थशास्त्र, गृह विज्ञान, राजनीति विज्ञान, भूगर्भ विज्ञान, अंग्रेजी, इटालियन और मनोविज्ञान शामिल हैं। इसके साथ एक लैंग्वेज होना अनिवार्य है।

 

  • Tags: Delhi university, Delhi University Admissions, Delhi University admissions 2016, du online admission, u.ac.in,