ताज़ा खबर
 

उबर बलात्कार मामला: कैब चालक दोषी करार, हो सकती है आजीवन कारावास की सजा

दिल्‍ली की एक अदालत ने उबर रेप केस मामले में आरोपी शिव कुमार यादव को बलात्‍कार का दोषी करार दिया है। तीस हजारी कोर्ट ने यह फैसला देते हुए कहा कि यादव को सजा 23 अक्‍टूबर को सुनाई जाएगी।

Author नई दिल्ली | October 20, 2015 8:14 PM
टैक्‍सी में पैसेंजर से रेप करने का आरोपी उबर का ड्राइवर दोषी करार, सजा का एलान 23 को

दिल्ली की एक अदालत ने उबर कैब के चालक को पिछले वर्ष दिसम्बर में 25 वर्षीय महिला से अपनी टैक्सी के अंदर बलात्कार करने और उसकी जिंदगी को खतरे में डालने के लिए दोषी करार दिया है। चालक को अधिकतम आजीवन कारावास की सजा हो सकती है। 32 वर्षीय शिव कुमार यादव को भादंसं की धारा 376 (2) (एम), 366, 506 और 323 के तहत दोषी पाया गया है।

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश कावेरी बावेजा ने कहा, ‘‘शिव कुमार यादव को सभी धाराओं में दोषी पाया गया है। सजा पर सुनवाई 23 अक्तूबर को होगी।’’अदालत ने यह भी कहा कि सजा की घोषणा के बाद 23 अक्तूबर को फैसले का ब्यौरा मुहैया कराया जाएगा। इसने सात अक्तूबर को फैसला सुरक्षित रख लिया था। मंगलवार के फैसले के मुताबिक यादव को अधिकतम आजीवन कारावास की सजा हो सकती है।

देखें दोषी करार दिए गए ड्राइवर की तस्‍वीरें

HOT DEALS
  • Honor 9 Lite 64GB Glacier Grey
    ₹ 15220 MRP ₹ 17999 -15%
    ₹2000 Cashback
  • Honor 9 Lite 64GB Glacier Grey
    ₹ 13989 MRP ₹ 16999 -18%
    ₹2000 Cashback

जेल से अदालत लाया गया यादव न्यायाधीश द्वारा फैसला पढ़े जाने के समय स्तब्ध दिख रहा था। पुलिसकर्मी उसे अदालत कक्ष से बाहर लेकर गए। अदालत कक्ष में उसकी पत्नी और माता…पिता सहित परिवार के सदस्य मौजूद थे लेकिन उन्हें यादव से बात करने का मौका नहीं मिला क्योंकि उसे तुरंत हवालात में ले जाया गया।

अभियोजन के मुताबिक घटना पिछले वर्ष पांच दिसम्बर की रात की है जब गुड़गांव में वित्त एक्जीक्यूटिव के तौर पर काम करने वाली पीड़िता पश्चिम दिल्ली के इंद्रलोक स्थित अपने घर की ओर जा रही थी।

इसने अदालत से कहा कि यादव ने उसे कई थप्पड़ मारे और उसका गला दबाया। अभियोजक ने कहा था कि चिकित्सक के मुताबिक पीड़िता की गर्दन पर खरोंच के निशानों से पता चलता है कि उसका गला घोंटने का प्रयास किया गया था।

पीड़िता के पिता भी अदालत में मौजूद थे और उन्होंने न्याय पर संतोष जाहिर किया। वहीं चालक की पत्नी अदालत के बाहर रोने लगी और कहा कि परिवार बर्बाद हो गया।

उबर कैब की सर्विस बैन भी कर दी गई थी

चालक की पत्नी ने कहा, ‘‘हम गरीब हैं और जिन लोगों के पास धन है वे सफल हो गए। भगवान सब देख रहा है।’’उसने शिकायत की कि उसे अपने पति से एक मिनट के लिए भी बात नहीं करने दिया गया।

विशेष लोक अभियोजक अतुल श्रीवास्तव ने कहा कि वह यादव को आजीवन कारावास की अधिकतम सजा देने की मांग करेंगे। यादव के वकील डी. के. मिश्रा ने कहा कि फैसले को वह दिल्ली उच्च न्यायालय में चुनौती देंगे।

किसी महिला से बलात्कार करते हुए उसकी जिंदगी को खतरे में डालने के लिए न्यूनतम दस वर्ष सश्रम कारावास और अधिकतम आजीवन कारावास की सजा होती है।

चालक को घटना के दो दिनों बाद सात दिसम्बर 2014 को मथुरा से गिरफ्तार किया गया था और वर्तमान में वह न्यायिक हिरासत में है। बहरहाल यादव ने सभी आरोपों से इंकार किया है और इन्हें ‘‘गलत’’ बताया है।

अभियोजन ने मामले में जहां 28 गवाह पेश किए वहीं चालक ने अपने बचाव में किसी को भी पेश नहीं किया।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App