ताज़ा खबर
 

DU के स्टीफेंस कॉलेज में 13 छात्रों सहित 15 संक्रमित, परिसर बंद; राजधानी में 24 घंटे में 10 मरीजों की मौत, 3,567 नए केस

सेंट स्टीफेंस कॉलेज के गवर्निंग बॉडी की सदस्य नंदिता नारायण ने कॉलेज के प्रधानाचार्य जॉन वर्गीज को पत्र लिखकर छात्रों के कोविड-19 से संक्रमित होने और डलहौजी दौरे से संबंधित रिपोर्ट को लेकर कई सवाल किए।

Coronavirus, covid19, coronaएक दिन में कोरोना के अब तक के रिकॉर्ड मामले सामने आए

दिल्ली विश्वविद्यालय का उत्तरी परिसर भी कोरोना की चपेट में आ गया है। यहां के सेंट स्टीफेंस कॉलेज के 13 विद्यार्थी, डीन और एक सुरक्षा अधिकारी के कोविड-19 से संक्रमित होने के बाद परिसर के भीतरी क्षेत्र को बंद कर दिया गया है। कॉलेज के प्रधानाचार्य की ओर से जारी एक नोटिस में कहा गया है कि सभी निवासियों के लिए एकांतवास और सामाजिक दूरी सुनिश्चित करने के लिए डीन कार्यालय की ओर से जरूरी व सख्त कदम उठाए जा रहे हैं। कॉलेज की गवर्निंग बॉडी की सदस्य ने मामले में कॉलेज प्रबंधन से सफाई मांगी है और हालात बदतर होने वाले कारणों को उजागर करने को कहा है।

आवास-सह-कॉलेज के डीन और सार्वजनिक प्रबंधक (सुरक्षा अधिकारी) में कोरोना विषाणु की पुष्टि हुई है। ये दोनों छात्रावास में रहने वाले छात्रों व अन्य छात्रों के एक समूह को मार्च के आखिरी हफ्ते में हिमाचल प्रदेश के डलहौजी में शैक्षणिक दौरे पर ले गए थे। जानकारी के मुताबिक, कॉलेज के भीतरी हिस्से को सभी के लिए बंद कर दिया गया है। केवल प्रधानाचार्य से अनुमति मिलने पर ही वहां जाने की इजाजत होगी। प्रासंगिक और नियमित कार्य करने वाले उचित प्रक्रिया और सुरक्षा उपायों का पालन करते हुए कॉलेज के बाहरी हिस्से में आ-जा सकते हैं। स्थिति में सुधार की अधिसूचना मिलने तक संकाय के सदस्य कॉलेज आना टाल सकते हैं।

सेंट स्टीफेंस कॉलेज के गवर्निंग बॉडी की सदस्य नंदिता नारायण ने कॉलेज के प्रधानाचार्य जॉन वर्गीज को पत्र लिखकर छात्रों के कोविड-19 से संक्रमित होने और डलहौजी दौरे से संबंधित रिपोर्ट को लेकर कई सवाल किए।

पत्र में उन्होंने यह भी पूछा कि क्या कॉलेज प्रशासन ने इस दौरे और छात्रावास खोलने तथा 200 से अधिक छात्रों को पिछले कुछ महीनों में वापस आने की इजाजत देने के लिए दिल्ली विश्वविद्यालय और राज्य सरकार से अनुमति ली थी।

नारायण ने पूछा कि कोविड-19 महामारी के समय में कॉलेज के अधिकारियों ने इस दौरे का आयोजन क्यों किया? क्या इस दौरे को प्रधानाचार्य ने मंजूरी दी थी? क्या इसके लिए छात्रों के अभिभावकों की रजामंदी ली गयी थी? क्या महामारी के ऐसे समय में इस दौरे के लिए दिल्ली विश्वविद्यालय और राज्य सरकार से अनुमति ली गयी थी? नारायण के मुताबिक,अपने जवाब में वर्गीज ने छात्रों और कर्मचारियोंं की जांच रिपोर्ट की पुष्टि करने के अलावा कहा कि जिस दौरे को लेकर सवाल किया जा रहा है, उसकी अनुमति उन्होंने दी थी और इसके लिए छात्रों के अभिभावकों से मंजूरी भी ली गई थी।

Next Stories
1 आठ राज्यों में आए कोरोना विषाणु के 81 फीसद से अधिक मामले, शनिवार को देशभर में 92 हजार से अधिक नए केस
2 तेजस्वी सूर्या ने खुद को बताया न्यू इंडिया का सिंबल, कांग्रेस प्रवक्ता का तंज- युवा परेशान, किसान हलकान, जुमलों से चल रहा देश
3 हाथरस दुष्कर्म मामलाः UP पुलिस ने केरल के पत्रकार के खिलाफ UAPA के तहत दायर की चार्जशीट
CSK vs DC Live
X