ताज़ा खबर
 

अरव‍िंद केजरीवाल को चंडीगढ़ जाकर करनी पड़ी मनोहर लाल खट्टर से मुलाकात, दो द‍िन द‍िल्‍ली में रह कर भी नहीं द‍िया वक्‍त

मुलाकात के दौरान हरियाणा के मुख्यमंत्री ने वायु प्रदूषण से लड़ने के लिए हरसंभव मदद करने का केजरीवाल से वादा किया है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर। (Photo Source: Twitter)

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने वायु प्रदूषण और पराली जलाए जाने के मामले हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से चंडीगढ़ में मुलाकात की। मुलाकात के दौरान हरियाणा सरकार ने वायु प्रदूषण से लड़ने के लिए हरसंभव मदद करने का वादा किया है ।केजरीवाल के साथ दिल्ली के पर्यावरण मंत्री और पर्यावरण सचिव भी मुलाकात में शामिल थे। इस मामले पर चर्चा करने के लिए अरविंद केजरीवाल ने हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह से मुलाकात का वक्त मांगा था। इसके बाद मनोहर लाल खट्टर दो दिनों के लिए दिल्ली आए थे, लेकिन उन्होंने केजरीवाल को समय नहीं दिया था।

दिल्ली आने से पहले खट्टर ने केजरीवाल को एक खत लिखा था, जिसमें कहा गया था, ‘मैं 13 और 14 नवंबर को दिल्ली में रहूंगा। उसके बाद मैं चंडीगढ़ में मौजूद रहूंगा। आप मुझे कभी भी बैठक के लिए कॉल कर सकते हैं।’ इसके बाद केजरीवाल ने ट्वीट किया था, ‘सर, मेरे ऑफिस की तरफ से बैठक फिक्स करने के लिए लगातार संपर्क किया जा रहा है।’ उसके बाद केजरीवाल ने 13 नवंबर की शाम को एक और ट्वीट किया था, ‘खट्टर जी ने कॉल किया है। वे कल तक दिल्ली में है। उन्होंने कहा कि वे बहुत ज्यादा व्यस्त हैं और दिल्ली में उनसे मुलाकात नहीं कर सकते। उन्होंने मुझे बुधवार को चंडीगढ़ आने के लिए कहा है। अब मैं बुधवार को उनसे चंडीगढ़ में मिलूंगा।’

HOT DEALS
  • Apple iPhone 6 32 GB Space Grey
    ₹ 25799 MRP ₹ 30700 -16%
    ₹3750 Cashback
  • Lenovo Phab 2 Plus 32GB Gunmetal Grey
    ₹ 17999 MRP ₹ 17999 -0%
    ₹0 Cashback

बता दें, दिल्ली के मुख्यमंत्री ने पड़ोसी राज्यों में पराली जलाए जाने का समाधान खोजने के लिए हरियाणा एवं पंजाब के अपने समकक्षों के साथ बैठक की इच्छा जताई थी। हर साल सर्दी के दौरान क्षेत्र में जहरीली धुंध छाने के लिए पंजाब और हरियाणा के किसानों के पराली जलाने को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है। केजरीवाल ने हाल में कहा था कि केंद्र, हरियाणा, पंजाब और दिल्ली सरकारों को राजनीतिक मतभेदों को दरकिनार रखना चाहिए और पराली जलाए जाने के स्थायी समाधान के लिए एकजुट होकर काम करना चाहिए। पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने दिल्ली के मुख्यमंत्री से मिलने से मंगलवार को इंकार कर दिया था और कहा था केजरीवाल इस गंभीर मुद्दे को ‘राजनीतिक रंग’ नहीं दें। सिंह ने दावा किया कि वह यह नहीं समझ पा रहे हैं कि दिल्ली के मुख्यमंत्री इस पर इतना जोर क्यों दे रहे हैं, जबकि उन्हें यह पता है कि इस तरह की चर्चा ‘अर्थहीन और बेकार’ होगी।

उन्होंने आरोप लगाया कि आम आदमी पार्टी (आप) के नेता दिल्ली में प्रदूषण रोकने की अपनी सरकार की नाकामी से लोगों का ध्यान भटकाने की कोशिश कर रहे हैं जिसका सम-विषम योजना को लेकर राष्ट्रीय हरित अधिकरण की प्रतिक्रिया ने खुलासा कर दिया है। सिंह ने यह भी कहा कि केजरीवाल से मुलाकात करना व्यर्थ है और उन्होंने जोर दिया कि पराली जलाने के मामले को केंद्र को सुलझाना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App