ताज़ा खबर
 

COVID-19 Sero Survey: दिल्ली में 5-17 साल के नाबालिग सर्वाधिक चपेट में, अरविंद केजरीवाल बोले- हालात काबू में

किसी भी शरीर में किसी रोग के एंटीबॉडीज तभी बनते हैं जब शरीर में उस रोग का वायरस प्रवेश करता है। ऐसे में दिल्ली में 5-17 साल के नाबालिग सबसे ज्यादा कोरोना की चपेट में आए हैं।

Indian Medical Associationतस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक रूप से किया गया है। (पीटीआई फोटो)

कोरोना वायरस के चलते हजारों लोग अबतक अपनी जान गवां चुके हैं। देश की राजधानी दिल्ली में भी इसका प्रकोप बहुत तेजी से फैला है। सीरोलॉजिकल सर्वे ने एक चौंकाने वाला खुलासा किया है। ‘द प्रिंट’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक सबसे ज्यादा कोविद -19 एंटीबॉडीज 5 से 17 साल के बच्चों में पाई गई है।

किसी भी शरीर में किसी रोग के एंटीबॉडीज तभी बनते हैं जब शरीर में उस रोग का वायरस प्रवेश करता है। ऐसे में दिल्ली में 5-17 साल के नाबालिग सबसे ज्यादा कोरोना की चपेट में आए हैं। सर्वेक्षण के परिणामों के अनुसार, 5-17 वर्ष की आयु के 34.7 प्रतिशत प्रतिभागियों में कोविद -19 एंटीबॉडी थे, जबकि यह आंकड़ा 50 वर्ष से अधिक आयु वालों के लिए 31.2 प्रतिशत और 18-49 वर्ष के बच्चों के लिए 28.5 प्रतिशत था। वहीं दिल्ली के मुख्य मंत्री अरविंद केजरीवाल का कहना है कि राजधानी में हालात काबू में हैं।

केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा है कि दिल्ली में अब कोरोना की स्थिति ठीक हो रही है। दिल्ली में हम मेट्रो खोलना चाहते हैं। दिल्ली में ट्रायल बेसिस पर मेट्रो चलने की इजाजत अब मिलनी चाहिए। मुझे उम्मीद है कि केंद्र जल्द ही इस पर निर्णय लेगा।

क्या है एंटीबॉडी –
एंटीबॉडी की उपस्थिति आमतौर पर दो महत्वपूर्ण बातों को प्रकट करती है पहला किसी व्यक्ति को पहले से ही बीमारी है और दूसरा उन्हें रोग की प्रतिरोधक क्षमता होने की संभावना होती है, क्योंकि शरीर वायरस को समझ जाता है। एंटीबॉडी शरीर का वो तत्व है, जिसका निर्माण हमारा इम्यून सिस्टम शरीर में वायरस को बेअसर करने के लिए पैदा करता है। संक्रमण के बाद एंटीबॉडीज बनने में कई बार एक हफ्ते तक का वक्त लग सकता है, इसलिए अगर इससे पहले एंटीबॉडी टेस्ट किए जाएं तो सही जानकारी नहीं मिल पाती है। एंटीबॉडी दो प्रकार के होते हैं – पहला एंटीबॉडी हैं – आईजीएम (इम्यूनोग्लोबुलिन एम) और आईजीजी (इम्यूनोग्लोबुलिन जी)।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 CWC बैठकः 7 घंटे में भी न निकला हल, सोनिया गांधी को खून से लिखा खत हो रहा वायरल
2 ‘जो भी कोई जनेऊधारी नेतृत्व का विरोध करेगा उसे भाजपा की बी टीम बता देंगे’, ओवैसी ने कांग्रेस नेता गुलाम नबी को दिखाया आइना
3 लेटरल एंट्री: नरेंद्र मोदी सरकार ने RSS कनेक्‍शन वाले वैद्य को बनाया AYUSH मंत्रालय में सचिव
ये पढ़ा क्या?
X