ताज़ा खबर
 

दिल्ली दंगा: मुस्लिम लोगों ने आतंक पैदा कर रखा था, मैं डीसीपी से विनती कर रहा था- पूछताछ में बोले कपिल मिश्रा

आपको याद दिला दें कि 23 फरवरी को कपिल मिश्रा ने एक वीडियो शेयर किया था। इससे एक दिन पहले नॉर्थईस्ट दिल्ली में जबरदस्त दंगे हुए थे।

kapil mishra, delhi riotsकपिल मिश्रा ने कहा कि वो डीसीपी से विनती कर रहे थे। फाइल फोटो

दिल्ली में हुए दंगों को लेकर दिल्ली पुलिस ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेता कपिल मिश्रा से पूछताछ की है। कपिल मिश्रा ने पूछताछ में कहा है कि वो उस इलाके में उस दिन स्थिति को ठीक करने के लिए गए थे। उन्होंने पुलिस से कहा है कि उन्होंने कोई भड़काऊ स्पीच नहीं दिया है। डीसीपी के सामने खड़े होकर वो उनसे विनती कर रहे थे कि एंटी सीएए प्रदर्शनकारियों को शांत कराया जाए। दिल्ली पुलिस ने यह जानकारियां अपनी चार्जशीट में भी दी हैं। कपिल मिश्रा ने पुलिस से पूछताछ के दौरान कहा है कि पुलिस लोगों ने आतंक पैदा कर रखा था और वो पुलिस से सिर्फ विनती कर रहे थे।

आपको याद दिला दें कि 23 फरवरी को कपिल मिश्रा ने एक वीडियो शेयर किया था। इससे एक दिन पहले नॉर्थईस्ट दिल्ली में जबरदस्त दंगे हुए थे। इस वीडियो में कपिल मिश्रा, डीसीपी (नॉर्थईस्ट) वेद प्रकाश के ठीक बगल में खड़े हैं। वो उस वक्त सीएए के समर्थन में प्रदर्शन कर रहे लोगों से बातचीत करते हुए नजर आ रहे हैं।

दिल्ली में आग लगी रहे ये (प्रदर्शनकारी) यही चाहते हैं। इसलिए इन लोगों ने सड़क बंद कर रखी है। ‘ट्रंप के जाने से तक तो हम शांति से जा रहे हैं। लेकिन, उसके बाद हम आपकी (पुलिस) भी नहीं सुनेंगे अगर रास्ते खाली नहीं हुए तो। ट्रंप के जाने तक आप जाफराबाद और चांद बाग खाली करवा लीजिए ऐसी आपसी विनती कर रहे हैं। इसके बाद हमें रोड पर आना पड़ेगा।‘

पुलिस की चार्जशीट के मुताबिक कपिल मिश्रा से उनके यू ट्यूब वीडियो और उस दिन दिल्ली के इस इलाके के दौरे के बारे में भी सवाल पूछा गया है। इसके जवाब में कपिल मिश्रा ने कहा है कि उन्होंने डीसीपी से आग्रह किया कि वो जाफराबाद औऱ चादबाग इलाके को एंटी सीएए प्रदर्शनकारियों की भीड़ से खाली कराएं।

कपिल मिश्रा ने आगे पुलिस से कहा है कि इस प्रदर्शन की वजह से स्थानीय लोग अपन दुकान हीं खोल रहे थे…बच्चों को स्कूल जाने में परेशानी हो रही थी। मुसलमानों ने वहां आतंक और डर का माहौल बना रखा था। यहां तक कि उस इलाके में एंबुलेंस को भी जाने नहीं दिया जा रहा था।

कपिल मिश्रा से पुलिस ने पूछा कि वो मौजपुर चौक क्यों गए थे? इसके जवाब में उन्होंने पुलिस को बताया कि क्योंकि स्थानीय लोगों ने उन्हें फोन किया था और फेसबुक से उन्हें जानकारी मिली थी कि यहां के स्थानीय लोगों को परेशानियां हो रही हैं।

आगे उन्होंने बताया कि वो वहां अकेले गए थे और वहां करीब 1 घंटा ही रुके। यहां आपको यह भी बता दें कि 23 फरवरी को कपिल मिश्रा ने एक ट्वीट कर कहा था कि ‘आज 3 बजे हम मौजपुर चौक पर जाफराबाद प्रदर्शन के खिलाफ जुटेंगे। हम सीएए का समर्थन करेंगे आप सभी का स्वागत है।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बीजेपी सांसद ने पूछा- देश में कितने शहरी गरीब, क्या है इनकी परिभाषा? सरकार ने दे दिया घुमावदार जवाब
2 12वीं में लाई 90%, पर बनना चाहती थी जिहाद में देश की ‘वंडर वीमेन’, NIA ने कसा शिकंजा
3 कृषि बिलः निलंबित 8 RS सांसद रात भरे बैठे रहे धरने पर, सुबह उपसभापति लेकर गए चाय तो पीने से कर दिया इन्कार
IPL 2020
X