ताज़ा खबर
 

दिल्ली दंगा: दो हफ्ते में अमित शाह के दो बोल- पहले कहा था अचानक फैली हिंसा अब कह रहे ‘प्री-प्लान्ड साजिश’

गृह मंत्री के लोकसभा भाषण में विरोधाभास देखने को मिला। बुधवार को अमित शाह ने कहा कि दिल्ली में सांप्रदायिक दंगे एक "प्री-प्लान्ड साजिश" थी। लेकिन कुछ दिन पहले ही उन्होंने कहा था कि ये हिंसा अचानक फैली थी।

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Published on: March 13, 2020 1:02 PM
Delhi Riots: ये सांप्रदायिक हिंसा उत्तर पूर्वी दिल्ली में हुई थी। (फाइल फोटो)

Delhi riots: उत्तर-पूर्वी दिल्ली के कई इलाकों में बीते दिनों हुए दंगों में 50 से ज्यादा लोगों ने अपनी जान गवाई है। बुधवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने लोकसभा को संबोधित किया और दिल्ली दंगों पर भाषण दिया। लेकिन गृह मंत्री के इस भाषण में विरोधाभास देखने को मिला। बुधवार को अमित शाह ने कहा कि दिल्ली में सांप्रदायिक दंगे एक “प्री-प्लान्ड साजिश” थी। लेकिन कुछ दिन पहले ही उन्होंने कहा था कि ये हिंसा अचानक फैली थी।

25 फरवरी को, प्रेस सूचना ब्यूरो द्वारा जारी एक बयान के मुताबिक अमित शाह ने कहा था कि पेशेवर आकलन है कि राजधानी में हिंसा अचानक फैली थी। बयान में कहा गया है कि उन्हें दिल्ली पुलिस पर पूरा भरोसा था और स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए बल ने अधिकतम संयम दिखाया है। यह बयान 25 फरवरी को दिल्ली के हालात पर एक बैठक के बाद दिया गया है। इस बैठक में दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल मौजूद थे।

बुधवार को लोकसभा में अपने भाषण में, शाह ने कहा कि इस हिंसा के लिए हवाले के माध्यम से पैसा लगाया गया था। उत्तर प्रदेश के 300 से अधिक दंगाइयों की पहचान की गई थी, जिससे पता लगता है कि दंगे की योजना पहले से बनाई गई थी। शाह ने कहा कि दिल्ली दंगा के गुनहगारों को बख्शा नहीं जाएगा। दिल्ली दंगे को लेकर 27 फरवरी से अब तक 700 से ज्यादा एफआईआर दर्ज की जा चुकी हैं।

अपने इस भाषण में शाह ने बताया कि वो खुद दिल्ली हिंसा प्रभावित इलाकों में क्यों नहीं गए और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल को क्यों भेजा? केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा, ‘मैं इसलिए दंगा प्रभावित इलाकों में नहीं गया, क्योंकि अगर मैं जाता, तो मेरे जाने से पुलिस मेरे पीछे लगती और पुलिस दंगे रोकने में अपने बल को नहीं लगा पाती। इसलिए मैंने अजीत डोभाल को भेजा था।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 उन्नाव रेप पीड़िता के पिता की हत्या मामले में कुलदीप सेंगर को 10 साल की सजा, 10 लाख का जुर्माना भी
2 …तो क्या भतीजे ज्योतिरादित्य की बीजेपी में एंट्री से वसुंधरा राजे को भुगतना पड़ेगा बड़ा खामियाजा, समझें- सियासी नफा-नुकसान
3 यूपी: 9 साल की बच्ची के शरीर पर दो दर्जन से ज्यादा निशान, आंत भी फटी, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा- रेप के बाद बर्बर तरीके से की हत्या