ताज़ा खबर
 

दिल्ली दंगा: WSJ के खिलाफ पुलिस में शिकायत, अंकित शर्मा के भाई ने कहा- मेरे नाम से चलाया झूठा बयान

प्रसार भारती के अनुसार, दिल्ली में हुई हिंसा और अंकित शर्मा की मौत पर "गलत तरीके से खबर पेश करने" के संबंध में ये शिकायतें की गई हैं।

crime, crime newsदिल्ली में हुई हिंसा में कई परिवारों ने अपनों को खोया है। (express)

दिल्ली हिंसा में Intelligence Bureau (IB) में सिक्योरिटी असिस्टेंट अंकित शर्मा की मौत मामले में Prasar Bharati प्रसार भारती ने अमेरिकी अखबार ‘The Wall Street Journal’ के खिलाफ दिल्ली पुलिस और महाराष्ट्र पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है और एक धर्म, समुदाय विशेष को बदनाम करने का आरोप लगाया है। प्रसार भारती के अनुसार, दिल्ली में हुई हिंसा और अंकित की मौत पर “गलत तरीके से खबर पेश करने” के संबंध में ये शिकायतें की गई हैं।

शिकायत में कहा गया है कि अखबार ने अंकित के भाई अंकुर शर्मा का भी झूठा बयान चलाया है। ‘WSJ’ ने अपनी रिपोर्ट में अंकित के भाई अंकुर शर्मा के हवाले से लिखा था कि जिन लोगों ने अंकित को मारा है वे ‘जय श्रीराम’ के नारे लगा रहे थे और उनके हाथों में तलवारें थीं।

प्रसार भारती के मुताबिक अंकुर का कहना है कि उसने किसी से ऐसी बात कही ही नहीं है। कई अन्य स्थानीय मीडिया से बातचीत में भी अंकुर ने इस तरह के बयान से इनकार किया है और कहा है कि विदेशी अखबर ने गलत बयान छापा है।

चुनाव आयोग ने जिस अफसर पर लिया था एक्शन, उसे सौंपी दिल्ली दंगे की जांच, जामिया, जेएनयू हिंसा की जांच से भी जुड़े हैं

‘द वाल स्ट्रीट जर्नल’ की रिपोर्ट में बताया गया था कि अंकित के भाई अंकुर शर्मा ने फोन पर बातचीत की थी। रिपोर्ट के मुताबिक अंकित के भाई ने बताया कि वह घर लौट रहा था जब दंगाइयों के एक समूह ने पत्थर फेंकना शुरू कर दिया और उसे पास की गली में ले गए।

दिल्ली हिंसा के वीडियो में खुलासा- जमीन पर पड़े घायल से जबरन बोलवाया ‘वंदे मातरम’ और ‘जन गण मन’

WSJ की रिपोर्ट के हिसाब से अंकुर शर्मा ने टेलीफोन साक्षात्कार में कहा, “वे पत्थर, छड़, चाकू और तलवारों से लैस होकर आए थे। वे ज़ोर-ज़ोर से ‘जय श्री राम’ के नारे लगा रहे थे। कुछ ने हेलमेट भी पहना रखा था।” अंकुर ने आगे बताया कि जो लोग अंकित की मदद करने के लिए सामने आए उनपर दंगाइयों ने पत्थर और ईंटें फेंकना शुरू कर दिये। अगले दिन अंकित का शव एक नाले में मिला था।

यहां देखें वॉल स्ट्रीट जर्नल की रिपोर्ट का वह हिस्सा:

वहीं, अंकुर और अंकित के अन्य परिजन ने AAP नेता और पार्षद ताहिर हुसैन पर हत्या का आरोप लगाया है। हुसैन के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज हो गई है। फॉरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (FSL) की एक टीम ने शुक्रवार (28 फरवरी) की सुबह चांद बाग में आप पार्षद के घर का निरीक्षण किया।

एफएसएल टीम ने घर से सबूतों के नमूने और टुकड़े एकत्र किए, आरोपी के छत पर पेट्रोल बम, ईंट और पत्थर पाए गए हैं। हुसैन के खिलाफ दयालपुर पुलिस स्टेशन में हत्या, सबूत नष्ट करने और अपहरण के आरोपों के तहत एफ़आईआर दर्ज की गई है।

परिजनों की FIR में ये कहा गया है –

शिकायत में अंकित के पिता ने आरोप लगाया है कि हुसैन ने अपने निवास पर “गुंडे इकट्ठे किए थे, वे लोग छत से गोलियां चला रहे थे और लोगों पर पेट्रोल बम फेंक रहे थे। अंकित का परिवार चांद बाग के करीब खजूरी खास में रहता है।

अंकित के पिता ने शिकायत में कहा, “मंगलवार को वह घर वापस आए लेकिन किराने का सामान खरीदने के लिए शाम करीब 5 बजे घर से निकल गए। जब वह नहीं लौटा, तो हमने विभिन्न पुलिस स्टेशनों और अस्पतालों में उसकी तलाश शुरू की। हम उसे ढूंढ नहीं सकते थे और रात का इंतजार कर रहे थे और सुबह लापता की रिपोर्ट दर्ज कराई। बाद में, एक पड़ोसी ने मुझे बताया कि उसने अंकित को एक दोस्त के साथ देखा था। हम उस दोस्त के यहां गए और अंकित के बारे में पूछा। हमने तब अफवाहें सुनीं कि चांद बाग में एक आदमी मारा गया। उसके शरीर को पुल से एक नाले में फेंक दिया गया था।”

 


दिल्ली हिंसा से जुड़ी सभी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 राजस्थान: ‘रातभर पुलिसवाले पीटते रहे और वो चिल्लाता रहा, फिर हो गई मौत’, दलित युवक ने बताई भाई की आपबीती
2 NSA के दौरे और भारी सुरक्षा बल की तैनाती के बावजूद 60 साल के बुजुर्ग की पीट-पीटकर हत्या, दिल्ली हिंसा में मृतकों की संख्या हुई 42
3 दिल्ली हिंसा के वीडियो में खुलासा- जमीन पर पड़े घायल से जबरन बोलवाया ‘वंदे मातरम’ और ‘जन गण मन’
ये पढ़ा क्या...
X