ताज़ा खबर
 

Delhi Violence: एक द‍िन में 12 साल का लड़का समेत 21 लोग गोली से घायल, 19 वर्षीय नौजवान के स‍िर में घुसेड़ी ड्र‍िल

Delhi Violence, Delhi Protest Today News: 19 वर्षीय विवेक चौधरी को जब जीटीबी अस्पताल लाया गया था, तब वह खून से लथपथ था। उसके सिर में बायीं तरफ मोटर ड्रिल मशीन से छेद कर दिया गया था और ड्रिल का वो हिस्सा उसके सिर में ही घुसा हुआ था।

Author Edited By प्रमोद प्रवीण नई दिल्ली | Updated: February 26, 2020 1:28 PM
19 वर्षीय विवेक चौधरी को जीटीबी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

Delhi Violence, Delhi Protest Today News: उत्तर-पूर्वी दिल्ली में भड़की हिंसा में मंगलवार (25 फरवरी) को करीब 100 घायलों को जीटीबी अस्पताल में भर्ती कराया गया। इनमें से 21 ऐसे थे जिन्हें गोली लगी थी। एक नवयुवक ऐसा था जिसके सिर में ड्रिल मशीन घुसेड़ दी गयी थी। उसकी स्थिति नाजुक बनी हुई है। 19 वर्षीय विवेक चौधरी को जब जीटीबी अस्पताल लाया गया था, तब वह खून से लथपथ था। उसके सिर में बायीं तरफ मोटर ड्रिल मशीन से छेद कर दिया गया था और ड्रिल का वो हिस्सा उसके सिर में ही घुसा हुआ था। उसके दोस्तों ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि विवेक मंगलवार की सुबह करावल नगर इलाके के शिव विहार की ओर जा रहा था, तभी उस पर दंगाइयों ने हमला बोल दिया।

विवेक चौधरी के दोस्त पारस ने आरोप लगाया कि कुछ लोगों के झुंड ने विवेक से नाम पूछा फिर उससे आईडी की मांग की, जब इसकी जानकारी उसने नहीं दी तो भीड़ में शामिल एक शख्स ने ड्रिल मशीन उसके सिर में घुसेड़ दी। उसने बताया, “ड्रिल का करीब 1.5 इंच हिस्सा अभी भी विवेक के सिर में फंसा हुआ है। डॉक्टरों का कहना है कि उसकी स्थिति काफी नाजुक है। वह अपने मां-बाप का इकलौता संतान है।”

दिल्ली हिंसा से जुड़ी सभी खबरें पढ़ने के लिए क्लिक करें

बीजेपी विधायक के सामने लगे नारे- ‘पुलिस के हत्यारों को, गोली मारो सालों को’, अभय वर्मा ने भी गरमाया पूर्वी दिल्ली का माहौल

जीटीबी अस्पताल में हिंसा के चपेट में आया 12 साल का एक बच्चा जैदी भी है। सातवीं क्लास में पढ़ने वाला जैदी मंगलवार की सुबह अपने छोटे भाई को देखने घर से बाहर निकला था। इस दौरान जब वह घोंडा चौक के पास सड़क पर गिरे किसी घायल की मदद कर रहा था तभी दूसरी तरफ से की गई फायरिंग में गोली उसके कमर में जा घुसी। इंडियन एक्सप्रेस को उसने बताया, “मैं जमीन पर गिर गया। मोहल्ले के दूसरे लड़कों ने दौड़कर मेरे घरवालों को इसकी खबर दी। फिर अस्पताल पहुंचाया।”

बाइक पर अस्पताल पहुंचे 45 साल के राजबीर के चेहरे पर गोली लगी है। उसके पड़ोसी हिमांशु पाल ने बताया, “राजबीर प्रदर्शन नहीं कर रहे थे। वो अपने घर के बाहर बैठे थे। हमें पता नहीं कैसे क्या हुआ? हमलोगों ने गोली चलने की आवाज सुनी..थोड़ी ही देर में देखा कि राजबीर अपने दरवाजे पर ही जमीन पर गिरे पड़े हैं। उनकी पत्नी यह देखकर चिल्लाईं, तब हमने अपनी बाइक निकाली और फौरन उन्हें जीटीबी अस्पताल ले आया।”

‘कपिल मिश्रा आग लगा के घर में घुस गया, हम जैसों के बेटे मर रहे हैं’- फूटा रोहित सोलंकी के पिता का दर्द और गुस्सा

जीटीबी अस्पताल के आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि 15 मरीजों की स्थिति अभी भी नाजुक बनी हुई है, जबकि अब तक 20 लोगों की मौत हो चुकी है।

Next Stories
1 राजस्थान में दर्दनाक हादसा, बारातियों से भरी बस नदी में गिरी, कम से कम 24 लोगों की मौत
2 CAA Protest: ‘दिल्ली में अभी हालात ठीक नहीं, सुनवाई टाल देनी चाहिए’, शाहीन बाग केस में कोर्टरूम में बोले SC जज
3 Delhi Voilence: दिल्ली हिंसा पर हाई कोर्ट सख्त, बीजेपी नेताओं के भड़काऊ बयानों पर मांगी रिपोर्ट
ये पढ़ा क्या?
X