ताज़ा खबर
 

दिल्ली दंगा: पुलिस की जांच रिपोर्ट पर हाईकोर्ट की सख्त टिप्पणी, कहा, ‘यह रद्दी कागज जैसा है’

छात्र की तरफ पेश वकील सिद्धार्थ अग्रवाल ने छात्र की छवि को धूमिल करने का आरोप पुलिस पर लगाया। वकील ने कहा कि पुलिस केवल अपने लोगो को बचाने के लिए काम कर रही है।

Delhi HC displeasure,lawyers arguing,video conferenceदिल्ली हाईकोर्ट (फोटो सोर्सःट्विटर/@cnbctv18live)

दिल्ली हाईकोर्ट ने पुलिस को फटकार लगायी है। सोमवार को पुलिस की तरफ से पेश सतर्कता जांच रिपोर्ट पर असंतोष जताते हुए अदालत ने कहा कि रिपोर्ट ‘अधपकी’ और रद्दी कागज की तरह है। बताते चलें कि यह जांच जामिया मिल्लिया इस्लामिया के एक छात्र का बयान मीडिया में लीक करने को लेकर की गयी थी।

अदालत ने विशेष आयुक्त (सतर्कता) को मामले में पांच मार्च को सुनवायी में उपस्थित होने के लिए कहा है। जस्टिस मुक्ता गुप्ता की अदालत ने कहा कि यह सतर्कता जांच चोरी के किसी मामले की एक समान्य जांच से भी बदतर है। जांच पर सवाल उठाते हुए अदालत ने कहा कि आप एक वरिष्ठ अधिकारी हैं, आपने जांच की, आपने किससे पूछताछ की? फाइलें कहां भेजी गई थी? कौन उन्हें दिल्ली सरकार और गृह मंत्रालय से वापस ले कर आया?

कोर्ट ने फटकार लगाते हुए कहा कि रिपोर्ट में कुछ भी नहीं है। यह सड़क पर पड़े दस्तावेज नहीं हैं। अदालत छात्र द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई कर रहा था। जिसमें जांच एजेंसी द्वारा दर्ज बयान को मीडिया में लीक किये जाने पर पुलिस पर कदाचार के आरोप लगाए गए थे।

छवि धूमिल करने का लगाया आरोप: छात्र की तरफ पेश वकील सिद्धार्थ अग्रवाल ने छात्र की छवि को धूमिल करने का आरोप पुलिस पर लगाया। वकील ने कहा कि पुलिस केवल अपने लोगो को बचाने के लिए काम कर रही है।

मीडिया पर उठे सवाल: इस मामले में अदालत में मीडिया पर सवाल खड़े किए गए। कुछ ही दिन पहले हाईकोर्ट ने दंगा मामले में छात्र के कथित कबूलनामे के प्रसारण पर जी न्यूज से भी सवाल किया था, साथ ही कहा था कि इस तरह के दस्तावेजों को बाहर लाकर प्रकाशित नहीं किया जा सकता है।

Next Stories
1 बंगाल चुनाव से पहले कांग्रेस में विवाद,आनंद शर्मा ने ISF के साथ गठबंधन पर उठाए सवाल, अधीर रंजन चौधरी ने किया पलटवार
2 देखें, पोती की शादी में कैप्टन अमरिंदर सिंह का अलग अंदाज, गाया भावुक कर देने वाला गाना
3 सोशल मीडिया: सरकार के नए नियमन कितने दमदार नियम, कितने सवाल बाकी
ये पढ़ा क्या?
X