Delhi Rape case: Cab driver Shiv Yadav sent to Tihar Jail - Jansatta
ताज़ा खबर
 

दिल्ली रेप केस: आरोपी चालक शिव यादव 24 तक न्यायिक हिरासत में

हड़ताली वकीलों के हंगामे के बीच गुरुवार को दिल्ली की एक अदालत ने बलात्कार के आरोप में गिरफ्तार उबर के चालक शिव कुमार यादव को 24 दिसंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया। यादव को ‘आॅल इंडिया टूरिस्ट परमिट’ लेने के लिए फर्जी चरित्र प्रमाणपत्र दिलवाने में कथित तौर पर मदद करने वाले, वित्तीय कंपनी […]

Author , December 12, 2014 8:29 AM
दिल्ली में हुए कैब रेप का आरोपी शिव कुमार यादव एक कुख्यात बदमाश है। (एक्सप्रेस फोटो: प्रेमनाथ पांडेय)

हड़ताली वकीलों के हंगामे के बीच गुरुवार को दिल्ली की एक अदालत ने बलात्कार के आरोप में गिरफ्तार उबर के चालक शिव कुमार यादव को 24 दिसंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया। यादव को ‘आॅल इंडिया टूरिस्ट परमिट’ लेने के लिए फर्जी चरित्र प्रमाणपत्र दिलवाने में कथित तौर पर मदद करने वाले, वित्तीय कंपनी के एजंट को भी पुलिस ने हिरासत में लिया है।

मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट रवींद्र कुमार पांडेय ने शिव कुमार यादव को तिहाड़ जेल में तब भेज दिया जब जांच अधिकारी ने कहा कि उससे हिरासत में पूछताछ की अब जरूरत नहीं है। जांच अधिकारी ने कहा कि आरोपी के मोबाइल फोन और घटना के वक्त पहने गए उसके कपड़े बरामद कर लिए गए हैं। अधिकारी ने कहा कि मामले में जांच अब भी जारी है। कार्यवाही समाप्त होने के बाद जब यादव को अदालत कक्ष के बाहर ले जाया जा रहा था तो हड़ताली वकीलों ने पुलिसकर्मियों और आरोपी का रास्ता रोकने की कोशिश कर नारे भी लगाए। इससे कुछ देर के लिए भगदड़ भी मच गई। यादव पर गुड़गांव में काम करने वाली 27 साल की एक महिला से बलात्कार का आरोप है। इस बाबत दिल्ली के सराय रोहिल्ला थाने में मामला दर्ज है।

आरोपी की तरफ से उपस्थित विधिक सेवा के वकील ने हालांकि कहा कि जांच पूरी हो चुकी है और यादव को न्यायिक हिरासत में भेजा जाए। अदालत ने दलीलों को सुनने के बाद कहा कि मामले के तथ्यों, प्रकृति व आरोपों की गंभीरता और जांच के अहम चरण में होने के मद्देनजर आरोपी को 24 दिसंबर तक न्यायिक हिरासत में भेजा जाए। इस मामले के आरोपी यादव को जैसे ही अदालत में पेश किया गया तो वहां तीन दिन से हड़ताल पर बैठे वकीलों ने अदालत कक्ष में हंगामा कर दिया और उसकी तरफ से पेश वकील का विरोध किया। वकीलों ने नारा लगाना शुरू कर दिया कि हम हड़ताल पर हैं और कार्यवाही में कोई भी वकील पेश नहीं होगा।

मजिस्ट्रेट ने इसके बाद अधिवक्ताओं से अनुरोध किया कि वे अदालत की कार्यवाही में हस्तक्षेप नहीं करें।

कैब चालक 32 साल के शिव कुमार यादव ने इस महिला से पांच दिसंबर की रात को कथित तौर पर बलात्कार किया था जब वह उत्तरी दिल्ली के इंद्रलोक इलाके में अपने घर लौट रही थीं। यादव को तीन दिन पहले मथुरा से दिल्ली और उत्तर प्रदेश पुलिस के संयुक्त अभियान में गिरफ्तार किया गया और अगले दिन उसे अदालत में पेश किया गया जिसने उसे पुलिस हिरासत में भेज दिया। यह अवधि गुरुवार को समाप्त होने पर कड़ी सुरक्षा के बीच उसे फिर अदालत में पेश किया गया। पुलिस और यादव के वकीलों की दलील सुनने के बाद मजिस्ट्रेट ने यादव से पूछा कि क्या वह कुछ कहना चाहता है तो इस पर आरोपी ने कहा कि नहीं।

इस बीच शिव कुमार यादव को ‘आॅल इंडिया टूरिस्ट परमिट’ लेने के लिए फर्जी चरित्र प्रमाणपत्र दिलवाने में कथित तौर पर मदद करने वाले, वित्तीय कंपनी के एजंट को हिरासत में लिया गया है।

पुलिस ने बताया कि 32 वर्षीय कैब चालक ने पूछताछ के दौरान पुलिस को बताया कि उसने दिल्ली पुलिस के एक अतिरिक्त डीसीपी के नाम से जारी फर्जी चरित्र प्रमाणपत्र एक वित्तीय कंपनी के एजंट से हासिल किया था। पुलिस उपायुक्त (उत्तर क्षेत्र) मधुर वर्मा ने बताया ‘यादव ने जिस एजंट का नाम बताया था उसे हमने हिरासत में ले लिया है। पूछताछ में एजंट ने हमें बताया कि वह प्रमाणपत्र उसे किसी दूसरे व्यक्ति से मिला था जिसकी पहचान अभी की जानी है। फर्जी प्रमाणपत्र हासिल करने की पूरी शृंखला का पता चलाने के बाद ही हम गिरफ्तारियां करेंगे।’

अब तक हुई पूछताछ से पता चला है कि यादव ने वित्तीय कंपनी से ऋण लेने के बाद वह कार खरीदी थी जिसमें कथित अपराध हुआ था। वित्तीय कंपनी ने इस आधार पर ऋण दिया था कि उसके पास आॅल इंडिया टूरिस्ट परमिट है इसलिए वह कार का उपयोग कर ऋण चुका सकता है।

पुलिस का मानना है कि एजंट ने शायद प्रमाणपत्र हासिल करने में उसकी मदद की होगी ताकि वह ऋण ले सके। पुलिस यह भी देखेगी कि क्या इसमें किसी क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय (आरटीओ) के अधिकारियों की कोई मिलीभगत है।

उधर अमेरिकी कंपनी उबर ने बलात्कार के इस मामले में माफी मांगी है और कहा कि वह आरोपी को न्याय के जद में लाने के लिए प्रशासन का सहयोग करेगी। इसके साथ ही उबर ने उम्मीद जताई कि वह दिल्ली में फिर से अपनी टैक्सी सेवा का परिचालन कर सकेगी।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App