ताज़ा खबर
 

बलात्कार के आरोपी कैब चालक को तीन दिन की पुलिस हिरासत

गुड़गांव की एक फाइनेंस कंपनी में काम करने वाली 27 वर्षीय महिला से शुक्रवार की रात कथित तौर पर बलात्कार करने के आरोपी अमेरिकी कैब सेवा प्रदाता उबर के लिए काम करने वाले चालक को दिल्ली की एक अदालत ने आज तीन दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया। उसे आगे की पूछताछ और अपराध […]
Author December 8, 2014 20:22 pm
आरोपी पर 27 वर्षीय महिला से बलात्कार करने का आरोप है। (फ़ोटो-पीटीआई)

गुड़गांव की एक फाइनेंस कंपनी में काम करने वाली 27 वर्षीय महिला से शुक्रवार की रात कथित तौर पर बलात्कार करने के आरोपी अमेरिकी कैब सेवा प्रदाता उबर के लिए काम करने वाले चालक को दिल्ली की एक अदालत ने आज तीन दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया। उसे आगे की पूछताछ और अपराध में उसके द्वारा इस्तेमाल मोबाइल फोन की बरामदगी के लिए पुलिस हिरासत में भेजा गया है।

मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट अंबिका सिंह ने 32 वर्षीय शिव कुमार यादव को पुलिस हिरासत में देने की जांच अधिकारियों की अर्जी स्वीकार कर ली और उसे 11 दिसंबर तक पुलिस हिरासत में भेज दिया। यादव को दिल्ली और उत्तर प्रदेश पुलिस के संयुक्त अभियान में कल मथुरा से गिरफ्तार किया गया था। अदालत में जब उसे पेश किया गया तो उसका चेहरा ढंका हुआ था।

यादव ने पहचान परेड (टीआईपी) कराने से यह कहते हुए इंकार कर दिया कि लड़की ने उबर की वेबसाइट पर पहले ही उसकी तस्वीर देख ली है और वह आरोपी के तौर पर निश्चित तौर पर उसकी पहचान कर लेगी। पहचान परेड के तहत पीड़िता आरोपी की पहचान करती है।

यादव ने अदालत की चेतावनी के बावजूद पहचान परेड (टीआईपी) कराने से इंकार कर दिया। अदालत ने उसे चेतावनी दी थी कि पहचान परेड कराने से इंकार करना उसके खिलाफ जा सकता है।

अदालत की कार्यवाही समाप्त होने के बाद यादव को पुलिस के वाहन में ले जाया जा रहा था। इस दौरान उसका चेहरा खुला हुआ था। इस मौके का फायदा उठाते हुए फोटो पत्रकारों ने उसे अपने कैमरे में कैद कर लिया।

यादव से पुलिस हिरासत में पूछताछ की अनुमति देते हुए मजिस्ट्रेट ने कहा, ‘‘विस्तृत जांच और मामले से संबंधित संपत्ति यथा मोबाइल फोन का अब भी बरामद किया जाना बाकी है, इसलिए उसे तीन दिन की पुलिस हिरासत में भेजा जाता है। उसे 11 दिसंबर को पेश किया जाए।’’

सुनवाई के दौरान यादव का प्रतिनिधित्व दिल्ली राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के अधिवक्ता विनीत मल्होत्रा ने किया। उन्होंने यादव से हिरासत में पूछताछ किए जाने का विरोध किया। उन्होंने कहा कि वाहन को बरामद कर लिया गया है और उसे पुलिस हिरासत में भेजने से किसी उद्देश्य की पूर्ति नहीं होगी क्योंकि इस बात की आशंका है कि उसे यातना दी जाएगी

हालांकि, अदालत ने आरोपी को न्यायिक हिरासत में भेजने के उसके वकील के अनुरोध को खारिज कर दिया और पुलिस की अर्जी मंजूर कर ली कि आरोपी को अपराध से जुड़े स्थानों पर ले जाने की आवश्यकता है।

यादव ने कथित तौर पर शुक्रवार की रात पीड़िता से उस वक्त बलात्कार किया था जब वह उत्तर दिल्ली के इंद्रलोक इलाके में अपने घर लौट रही थी। वह गुड़गांव की एक फाइनेंस कंपनी में काम करती है।

खचाखच भरे अदालत कक्ष में जब मामले की सुनवाई शुरू हुई तो विभिन्न वकील, पत्रकार और राहगीर आरोपी की एक झलक पाने का प्रयास कर रहे थे। उसे कड़ी सुरक्षा के बीच अदालत कक्ष में पेश किया गया।

पुलिस के अनुसार यादव बार-बार अपराध करने वाला व्यक्ति है। वह बलात्कार के एक अन्य मामले में पहले ही सात माह जेल में बिता चुका है। यह मामला उसके खिलाफ साल 2011 में दक्षिण दिल्ली के मेहरौली इलाके में दर्ज किया गया था।

पुलिस ने कहा कि आरोपी का दावा है कि उसे बाद में बलात्कार मामले में बरी कर दिया गया था। आरोपी को मथुरा से गिरफ्तार करने के बाद कल रात राष्ट्रीय राजधानी लाया गया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. Sakshi Chopra
    Dec 9, 2014 at 11:50 am
    Read News in Gujarati at :� :www.vishwagujarat/
    (0)(0)
    Reply