ताज़ा खबर
 

ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर्स केसः ईद पर नवनीत कालरा की जमानत याचिका पर सुनवाई, DP की ओर से बोला ASC- क्यों दी जा रही इन्हें प्राथमिकता? आज तो छुट्टी है

जमानत याचिका पर सुनवाई के दौरान दिल्ली हाईकोर्ट ने नवनीत कालरा से सवाल पूछते हुए कहा कि क्या वे बिना लाइसेंस के ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर्स बेच सकते हैं।

निचली अदालत से अग्रिम जमानत याचिका खारिज होने के बाद ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर्स मामले में फंसे नवनीत कालरा ने उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था। (फोटो – ट्विटर/navneetkalra)

शुक्रवार को दिल्ली हाईकोर्ट में ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर्स मामले में दिल्ली पुलिस के वकील ने आरोपी नवनीत कालरा की जमानत याचिका का जमकर विरोध किया। दिल्ली पुलिस के वकील ने सुनवाई के दौरान कहा कि इन्हें क्यों इतनी प्राथमिकता दी जा रही है जबकि आज तो ईद की छुट्टी है। हालांकि दिल्ली उच्च न्यायालय ने नवनीत कालरा को अंतरिम सुरक्षा देने से इनकार करते हुए सुनवाई को 18 मई तक के लिए स्थगित कर दिया है। 

दिल्ली उच्च न्यायालय में सुनवाई के दौरान दिल्ली पुलिस की ओर से पेश हुए एडिशनल सॉलिसिटर जनरल एसवी राजू ने नवनीत कालरा की जमानत याचिका का विरोध करते हुए कहा कि आज ईद की छुट्टी है और इस व्यक्ति को इतनी प्राथमिकताएं दी जा रही है। आखिर इसके अग्रिम जमानत में क्या खास है। हालांकि एसवी राजू की इस दलील का विरोध करते हुए नवनीत कालरा की तरफ से पेश हुए वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि अगर अदालत समय सीमा के बाहर जाकर किसी मामले की सुनवाई करता है तो इसका स्वागत किया जाना चाहिए, ना कि विरोध किया जाना चाहिए।

जमानत याचिका पर सुनवाई के दौरान दिल्ली हाईकोर्ट ने नवनीत कालरा से सवाल पूछते हुए कहा कि क्या वे बिना लाइसेंस के ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर्स बेच सकते हैं। साथ ही कोर्ट ने यह भी कहा कि ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर्स जैसे मेडिकल उपकरण भी ड्रग्स एंड कॉस्मेटिक अधिनियम के अनुसार दवाएं ही हैं और इसके निर्माण, भंडारण और बिक्री के लिए एक लाइसेंस की आवश्यकता होती है। इसका उल्लंघन करने पर 10 साल की सजा हो सकती है।   

बता दें कि निचली अदालत से अग्रिम जमानत याचिका खारिज होने के बाद नवनीत कालरा ने उच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाया था। निचली अदालत ने कहा था कि व्यवसायी नवनीत कालरा पर गंभीर आरोप हैं, इसलिए उन्हें हिरासत में लेकर पूछताछ किया जाना चाहिए। हालांकि दिल्ली पुलिस ने उच्च न्यायालय में जमानत याचिका का विरोध करते हुए कहा कि आरोपी जांच से भाग रहा है। यह जमाखोरी व कालाबाजारी का उदाहरण है। इसलिए  यदि आरोपी को अग्रिम जमानत दी गई तो समाज में एक गलत संदेश जाएगा।  

पिछले दिनों दिल्ली पुलिस ने खान मार्केट के चर्चित खान चाचा रेस्टोरेंट में छापेमारी की थी। छापेमारी के दौरान यहां से 96 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर बरामद किये गए थे। इसके अलावा 9 और ऑक्सीजन कंसंट्रेटर खान मार्केट के टाउन हॉल रेस्टोरेंट से बरामद किए गए थे। हालांकि पुलिस के द्वारा की गई कार्रवाई में करीब 500 से ज्यादा कंसंट्रेटर पुलिस को मिले थे। इनमें से अधिकांश ऑक्सीजन कंसंट्रेटर नवनीत कालरा के रेस्टोरेंट से ही मिले थे।

Next Stories
1 PM-KISAN YOJANA की 8वीं किस्त जारी: मोदी से अंग्रेजी में किसान ने की बात, J&K वाले से बोले पीएम- ईद मुबारक!
2 प्रशांत किशोर का दावा, तीन बार चटाई धूल, अमित शाह अयोग्य चुनावी रणनीतिकार
3 बच्चों पर कोरोना का कहरः 2 दिनों में सालभर से भी कम के दो बच्चों को दफना चुके हैं BJP नेता, बोले- हालात बेहद डरावने
ये पढ़ा क्या?
X