ताज़ा खबर
 

दिल्ली पुलिस की पहल: ‘युवा’ योजना से बदल रहे तकदीर

दिल्ली पुलिस राष्ट्रीय राजधानी में सिर्फ अपराधियों को ही नहीं पकड़ रही बल्कि ‘युवा’ योजना के तहत दिल्ली के कई परिवारों की जिंदगी भी बदल रही है।

नई दिल्‍ली | Updated: January 26, 2021 9:29 AM
कौशल विकास कार्यशाला में भाग लेते प्रतिभागी। फाइल फोटो।

दिल्ली पुलिस की ‘युवा’ योजना ने केंद्र सरकार के कौशल विकास की योजना से जुड़कर उन युवाओं को समाज की मुख्यधारा में लाने का बीड़ा उठाया है जिन्होंने अपराध की दुनिया में कदम रख लिया था या फिर सही दिशा से वंचित थे।

मध्य दिल्ली में इसी तरह के आर्थिक रूप से कमजोर, अपराध की दुनिया में कदम रख चुके और जेजे कॉलोनियों के 60 युवाओं ने ‘युवा’ योजना में प्रशिक्षण पाकर काफी कुछ सीखा। इनमें 53 युवतियां और सात युवक हैं। 36 युवतियों को विभिन्न अस्पतालों में नौकरी मिली।
मध्य जिला पुलिस उपायुक्त जसमीत सिंह ने बताया कि पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव की पहल पर मुख्यधारा से कटे बच्चों में सुधार के लिए कौशल विकास की ओर उन्मुख कर रोजगारोन्मुखी पाठयक्रम से लेकर तकनीकी शिक्षा का प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

ताकि वे अपने भविष्य को संवार सके। प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना के तहत दिल्ली पुलिस ने ‘युवा’ कार्यक्रम के जरिए अपनी सकारात्मक भागीदारी निभानी शुरू कर दी है। कोरोनाकाल में स्वास्थ्य सेक्टर की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए मध्य जिले के आनंद पर्वत, पटेलनगर, पहाड़गंज सहित अन्य इलाके में पुलिस ने 60 बच्चों को प्रशिक्षण दिया, जिनमें ज्यादातर नर्सिंग के छात्र थे।

लिहाजा 53 में से 36 युवतियों को दिल्ली के अलग-अलग अस्पतालों में नौकरी भी मिल गई है। जिले की अतिरिक्त उपायुक्त श्वेता सिंह की मौजूदगी में उन्हें प्रमाण पत्र दिया गया।

Next Stories
1 विश्व परिक्रमा: दुनिया में कोरोना संक्रमितों की संख्या करीब 10 करोड़
2 दिल्‍ली मेरी दिल्‍ली
ये पढ़ा क्या?
X