ताज़ा खबर
 

CAA विरोधी दंगा केसः पूर्व JNU छात्र शरजील इमाम के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने दाखिल की चार्जशीट

शरजील पर राजद्रोह के तहत मामला दर्ज है। आरोप है कि उन्होंने भड़काऊ भाषण दे लोगों को उसकाया, जिससे देश की अखंडता, एकता और संप्रभुता पर असर पड़ा।

Anti CAA Riots, CAA Riots, Sharjeel Imam, JNU, New Delhiपूर्व JNU छात्र शरजील इमाम। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

पूर्व JNU छात्र शरजील इमाम के खिलाफ दिल्ली पुलिस ने शनिवार को Unlawful Activities (Prevention) Act के तहत चार्जशीट दायर कर ली। पुलिस की ओर से यह ऐक्शन इसी साल हुए CAA विरोधी दंगों के संबंध में लिया गया है। शरजील पर राजद्रोह के तहत मामला भी दर्ज है। आरोप है कि उन्होंने भड़काऊ भाषण दे लोगों को उसकाया, जिससे देश की अखंडता, एकता और संप्रभुता पर असर पड़ा था।

चार्जशीट में कहा गया- संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ विरोध की आड़ में उसने एक विशेष समुदाय के लोगों को राजमार्ग बाधित करने के लिए उकसाया और ‘चक्का जाम’ कराया जिससे सामान्य जनजीवन बाधित हुआ। इमाम ने खुलेआम संविधान का उल्लंघन किया और इसे ‘‘फासीवादी’’ दस्तावेज बताया।

बकौल चार्जशीट, “सीएए के विरोध के नाम पर उसने खुलेआम दुष्प्रचार किया कि ‘चिकेन नेक’ को जाम किया जाए जो पूर्वोत्तर को शेष भारत से जोड़ता है। उसने प्रदर्शन के लोकतांत्रित तरीकों का भी अपमान किया।” अदालत इस मामले में 27 जुलाई को सुनवाई कर सकती है।

कौन-कौन सी धाराओं के तहत है इमाम पर मुकदमा?: एजेंसी ने अंतिम रिपोर्ट दायर की जिसमें भादंसं की विभिन्न धाराएं शामिल हैं जैसे 124-ए (देशद्रोह), 153 (ए) (शत्रुता को बढ़ावा देना), 153-ए (शत्रुता को बढ़ावा देना, समुदायों के बीच घृणा फैलाना), 153-बी (राष्ट्रीय एकता के खिलाफ वक्तव्य) और 505 (अफवाह फैलाना)। उस पर अवैध गतिविधियां (निवारण) कानून के तहत भी मामला दर्ज किया गया है।

शरजील से इसी साल दिल्ली के Jamia Millia Islamia कैंपस में पिछले साल दिसंबर में और उत्तर पूर्वी दिल्ली में फरवरी में भड़की सांप्रदायिक हिंसा को लेकर पूछताछ चल रही थी। वह IIT मुंबई से ग्रैजुएट है, जबकि जेएनयू से उसने मॉर्डन इंडिया हिस्ट्री में पीएचडी की पढ़ाई की है। उन पर राजद्रोह, दंगा भड़काने और दिल्ली, असम और यूपी समेत पांच राज्यों में सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने के तहत मामले दर्ज हैं।

दिल्ली पुलिस का आरोप है कि शरजील ने 13 दिसंबर, 2019 को कथित तौर पर जामिया कैंपस के बाहर एक भड़काऊ भाषण दिया था, जिसके बाद वहां का माहौल बिगड़ा। दो दिन बाद न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी इलाके में भीषण झड़पें हुई थी। 35 छात्र और पुलिस वाले जख्मी हुए थे। बताया जाता है कि शाहीन बाग में सीएए विरोधी प्रदर्शन के आयोजकों में से एक शरजील भी हैं।

वहीं, जनवरी में उनका एक भाषण सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था। आरोप है कि वह उस वीडियो क्लिप में ‘भारत से असम को काटने’ की बात कर रहे थे। यह भाषण उन्होंने यूपी के अलीगढ़ में दिया था। इमाम की इस स्पीच का वीडियो वायरल होने के बाद उन्हें बिहार से 28 जनवरी को दिल्ली पुलिस ने अरेस्ट कर लिया था।

एक और JNU स्टूडेंट के खिलाफ ऐक्शनः इसी बीच, दिल्ली पुलिस ने JNU के एक अन्य स्कॉलर साजिब बिन सैदय के खिलाफ कापासहेड़ पुलिस थाने में एफआईआर दर्ज की है। उन्होंने आठ जुलाई को भारतीय सेना के खिलाफ एक ट्वीट किया था। दिल्ली पुलिस के मुताबिक, साजिब के खिलाफ आईपीसी की धारा 504 और 153 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

दिल्ली दंगा केस में रहमान के खिलाफ जांच पूरी करने को और वक्तः राजधानी की एक अदालत ने उत्तर पूर्वी दिल्ली में फरवरी में हुए दंगों के सिलसिले में गैरकानूनी गतिविधियां (रोकथाम) अधिनियम (यूएपीए) के तहत गिरफ्तार जामिया मिल्लिया इस्लामिया के पूर्व छात्रों के संगठन अध्यक्ष के खिलाफ एक मामले की जांच पूरा करने के लिए दिल्ली पुलिस को एक और महीने का समय दिया है। पुलिस ने अदालत को बताया कि एएजेएमआई के अध्यक्ष शिफा-उर-रहमान ने संदिग्ध और अज्ञात स्रोतों से भारी धनराशि एकत्रित की।

उन्होंने कहा, ‘‘यहां तक कि भारत के बाहर रहने वाले व्यक्तियों से भी धन प्राप्त किया गया।’’ जामिया समन्वय समिति के सदस्य रहमान के खिलाफ दंगों में कथित संलिप्तता के लिए मामला दर्ज किया गया था और अप्रैल में दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ ने उसे गिरफ्तार किया था। पुलिस ने बताया कि शरजील इमाम के कोरोना वायरस से संक्रमित होने के कारण जांच प्रभावित हुई है। इमाम इस समय गुवाहाटी जेल में बंद है और उसका नाम इस मामले की साजिश रचने में सामने आया था। (भाषा इनपुट्स के साथ)

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘ऑक्सीजन के लिए सुप्रिटेंडेंट मांगते हैं पैसा, मृत पिता के हाथ से निकाल ली सोने की अंगूठी’, पूर्व MP के गले लग दहाड़ मार रोने लगा BJP मंडल अध्यक्ष
2 केरल, कर्नाटक में छिपे हैं ISIS के 180 से 200 आतंकवादी! यूएन की रिपोर्ट
3 Kerala Karunya Lottery KR-458 Results: नतीजे जारी, इनकी लगी 80 लाख रुपए तक की लॉटरी
IPL 2020
X