ताज़ा खबर
 

दिल्ली पुलिस ने नहीं दी ट्रैक्टर परेड की इजाजत, किसान नेताओं के दावे पर उठे सवाल

किसान नेता दर्शन पाल ने शनिवार को कहा था कि 26 जनवरी को हम ट्रैक्टर परेड निकालेंगे। पुलिस अब हमें नहीं रोकेगी। इसके अलावा उन्होंने बताया था कि हम अलग-अलग पांच रूटों से अपनी परेड निकालेंगे। परेड शांतिपूर्वक होगी।

Farmer movement26 जनवरी की ट्रैक्टर रैली के लिए महिलाओं ने भी कमर कस ली हैं। (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

26 जनवरी को होने वाली ट्रैक्टर परेड को दिल्ली पुलिस ने इजाजत नहीं दी है। किसान नेताओं का यह दावा झूठा साबित हो गया है जिसमें उन्होंने कहा था कि हमें दिल्ली के अंदर ट्रैक्टर परेड करने की अनुमति मिल गयी है और हम अपना रूट निर्धारित कर रहे हैं। किसान नेता दर्शन पाल ने शनिवार को कहा था कि 26 जनवरी को हम ट्रैक्टर परेड निकालेंगे। पुलिस अब हमें नहीं रोकेगी। इसके अलावा उन्होंने बताया था कि हम अलग-अलग पांच रूटों से अपनी परेड निकालेंगे। परेड शांतिपूर्वक होगी।

हालाँकि न्यूज़18 ने यह बताया है कि किसानों के ट्रैक्टर परेड के लिए पुलिस ने कोई इजाजत नहीं दी है। साथ ही न्यूज 18 ने सूत्रों के हवाले से यह भी कहा है कि सिंघू बॉर्डर से ट्रैक्टर परेड का एक संभावित मार्ग गांधी ट्रांसपोर्र्ट नगर  कंझावाल और बवाना इलाकों से होते हुए वापस हरियाणा की तरफ होगा। वहीँ टीकरी बॉर्डर से ट्रैक्टर परेड शुरू होकर नांगलोई, नजफगढ़, बादली, और कुंडली-मानेसर-पलवल एक्सप्रेसवे होते हुए वापस प्रदर्शन स्थल की तरफ चली जाएगी।

शनिवार रात को दिल्ली पुलिस के साथ हुई मीटिंग के बाद स्वराज इंडिया के नेता योगेंद्र यादव ने बताया था कि 26 जनवरी को सारे बैरिकेड हट जाएंगे और किसान दिल्ली में प्रवेश करेंगे। ट्रैक्टर परेड के रूट को लेकर पुलिस और किसानों में सहमति बन गई है। योगेन्द्र यादव ने यह भी कहा था कि ट्रैक्टर परेड शांतिपूर्ण और ऐतिहासिक होगी। किसान नेताओं ने आगे कहा था कि ट्रैक्टर परेड के लिए पांच मार्गों को सैद्धांतिक मंजूरी दी गई है और हर मार्ग पर किसान ट्रैक्टरों से 100 किलोमीटर तक का सफर तय करेंगे। जिसमें 70 से 78 प्रतिशत मार्ग दिल्ली में होंगे जबकि शेष मार्ग राष्ट्रीय राजधानी से बाहर होंगे।

हालाँकि पंजाब किसान संघर्ष समिति के नेता सतनाम सिंह पन्नू ने कहा है कि हर हाल में ट्रैक्टर परेड दिल्ली के बाहरी रिंग रोड पर ही होगी। किसान नेता सतनाम सिंह पन्नू ने कहा है कि ट्रैक्टर परेड में हिस्सा लेने के लिए अनेकों किसान दिल्ली आ रहे हैं। इसलिए हम ट्रैक्टर परेड दिल्ली के आउटर रिंग रोड पर ही निकालेंगे चाहे दिल्ली पुलिस की अनुमति ना ही मिले।

वैसे दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने साफ किया है कि आउटर रिंग रोड और दिल्ली के किसी भी इलाके में किसानों को ट्रैक्टर रैली की अनुमति नहीं मिलेगी। आपसी सहमति से जो रूट तय हुए किसान उन्हीं पर रैली निकाल सकते हैं। साथ ही परेड के लिए ट्रैक्टरों की स्पीड भी तय की गई है।

Next Stories
1 कांग्रेस ने ही सुभाष चंद्र बोस की हत्या कराई, भाजपा सांसद साक्षी महाराज का आरोप
2 राहुल गांधी ने गढ़ी GDP की नई परिभाषा, बोले- मोदी जी ने यहां जबरदस्त विकास किया
3 बाइडेन की टीम में शामिल समीरा फाजिली का चचेरा भाई हो चुका है गिरफ्तार, PSA भी लगा
यह पढ़ा क्या?
X