ताज़ा खबर
 

अगले साल से सोलर एनर्जी से दौड़ेगी Delhi Metro

सबसे अधिक प्रदूषित शहरों की सूची में आने वाले शहर दिल्ली की जीवन रेखा ‘मेट्रो रेल’ अगले साल से मध्यप्रदेश की प्राकृतिक बिजली से संचालित होगी।
Author भोपाल | April 30, 2016 00:11 am
दिल्ली मेट्रो

सबसे अधिक प्रदूषित शहरों की सूची में आने वाले शहर दिल्ली की जीवन रेखा ‘मेट्रो रेल’ अगले साल से मध्यप्रदेश की प्राकृतिक बिजली से संचालित होगी।

मध्यप्रदेश के नवीन एवं नवीकरणीय उर्जा विभाग के प्रमुख सचिव मनु श्रीवास्तव ने बताया कि दिल्ली मेट्रो रेल निगम (डीएमआरसी) और मध्यप्रदेश के रीवा जिले में दुनिया का सबसे अधिक 750 मेगावाट उत्पादन क्षमता का सौर उर्जा संयंत्र लगाने वाली कंपनी के बीच बिजली खरीद का करार होने वाला है।

उन्होंने कहा कि पिछले माह हमने सौर उर्जा संयंत्र लगाने की निविदा जारी की थी, इसमें शामिल होने वाले निविदाकर्ताओं की बैठक एक अप्रैल को दिल्ली में हो चुकी है। इस बैठक में डीएमआरसी के संचालक (विद्युत) एके गुप्ता भी शामिल हुए थे।

दिल्ली मेट्रो को प्राकृतिक बिजली से चलाने की बात ऐसे समय सामने आई है जब दिल्ली सरकार को राष्ट्रीय राजधानी में प्रदूषण कम करने के लिये कड़े उपाय उठाने पड़ रहे हैं। इनमें चार पहिया वाहनों से होने वाले प्रदूषण को कम करने के लिये ‘सम-विषम नंबर योजना’ को भी लागू किया गया है।

श्रीवास्तव ने कहा कि मध्यप्रदेश डीएमआरसी को निश्चित रूप से प्राकृतिक बिजली की आपूर्ति करेगा और इस संबंध में कागजी कार्यवाही लगभग अंतिम चरण में है। उन्होंने कहा कि रीवा में सौर उर्जा संयंत्र की स्थापना का काम जून वर्ष 2017 तक पूरा हो जायेगा।

मनु श्रीवास्तव, जो कि मध्यप्रदेश उर्जा विकास निगम :एमपीयूवीएन: के प्रबंध संचालक भी हैं, ने कहा कि भारतीय सौर उर्जा निगम लिमिटेड और एमपीयूवीएन के संयुक्त उपक्रम रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर प्रोजक्ट के तहत रीवा जिले के गुढ़ तहसील बंधवार इलाके में 1500 हेक्टेयर भूमि पर यह प्राकृतिक सौर उर्जा का संयंत्र लगाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि विश्व बैंक इस संयंत्र के लिये 250 करोड़ रुपये दे रहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.