ताज़ा खबर
 

लॉकडाउन के बाद दिल्ली मेट्रो में सफर के नियमों में हुआ बदलाव, जानिए किन बातों का रखना होगा ध्यान

Coronavirus: लॉकडाउन के बाद अधिकारी दिल्ली मेट्रो के संचालन को लेकर बहुत सतर्क हैं। इसके लिए उन्होंने दिल्ली मेट्रो में सफर करने के नियमों में कुछ बदलाव किया है। दिल्ली मेट्रो ने यात्रियों और अपने कर्मचारियों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए नियमों में बदलाव किए हैं।

Edited By आलोक श्रीवास्तव नई दिल्ली | Updated: April 23, 2020 10:59 PM
लॉकडाउन के बाद अधिकारी दिल्ली मेट्रो के संचालन को लेकर बहुत सतर्क हैं। उन्होंने दिल्ली मेट्रो में सफर करने के नियमों में बदलाव किए हैं। (फाइल फोटो)

Covid-19: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश में 3 मई तक लॉकडाउन का ऐलान किया है। इसके बाद क्या होगा, लोगों के लिए कौतूहल का विषय है। 20 अप्रैल के बाद सरकार ने आवश्यक सेवाओं को शुरू करने की मंजूरी दी गई है। हालांकि, दिल्ली की धड़कन बन चुकी मेट्रो के पहिए अब भी थमे हुए हैं। हालांकि, दिल्ली मेट्रो ने लॉकडाउन खत्म होने के बाद इसके संचालन के लिए पूरी तरह से तैयारी कर ली गई है।

लॉकडाउन से पहले तक दिल्ली मेट्रो में रोजाना लगभग 30 लाख लोग सफर करते थे। जाहिर लॉकडाउन खुलने के बाद हर मुसाफिर अपने गंतव्य तक पहुंचने के लिए फिर से मेट्रो का सफर करेगा। ऐसे में लॉकडाउन के बाद अधिकारी दिल्ली मेट्रो के संचालन को लेकर बहुत सतर्क हैं। इसके लिए उन्होंने दिल्ली मेट्रो में सफर करने के नियमों में कुछ बदलाव किया है। दिल्ली मेट्रो ने यात्रियों और अपने कर्मचारियों के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए नियमों में बदलाव किए हैं।

इस संबंध में गृह मंत्रालय के अधीन आने वाले केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) ने गुरुवार को एक प्रस्ताव पेश किया है। प्रस्ताव के मुताबिक, लॉकडाउन के बाद किसी भी यात्री को फेस मास्क और आरोग्य सेतु ऐप के बिना मेट्रो परिसर में एंट्री नहीं मिलेगी। यही नहीं, मेट्रो में सफर करने वाले लोगों को शरीर की तलाशी देने से पहले अपने पास मौजूद हर प्रकार के मेटल (धातु) को बाहर निकाल कर रखना होगा। आरोग्य सेतु ऐप का इस्तेमाल पास के तौर पर किया जाएगा।

Coronavirus in India Live Updates:

सीआईएसएफ के प्रस्ताव के मुताबिक, यदि किसी यात्री में फ्लू या उसके जैसे कोई भी लक्षण दिखाई देते हैं तो उसे व्यक्ति को सफर करने की मंजूरी नहीं दी जाएगी। सीआईएसएफ (CISF) ने सभी दिल्ली मेट्रो स्टेशनों पर कम से कम 2 पीपीई (PPE) सूट रखने का भी प्रस्ताव दिया। इनका इस्तेमाल संदिग्ध यात्री या सामान को पकड़ने के लिए किया जा सकेगा। बता दें कि फ्लू एक आम वायरल संक्रमण होता है, लेकिन यह जानलेवा भी हो सकता है। मालूम हो, सीआईएसएफ ने मेट्रो कर्मियों और यात्रियों की सुरक्षा के लिए गुरुवार को बिजनेस कंटिन्यूटी प्लान पेश किया था। इसी प्लान में ये सभी योजनाओं का जिक्र किया गया है।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें:
कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबा
जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए
इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं
क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

Next Stories
1 टीवी डिबेट में एंकर ने गुलाम नबी आजाद के बयान का दिया हवाला, पूछा ये भी मोदी भक्त हैं क्या? बिफर पड़े कांग्रेस नेता
2 महाराष्ट्र सरकार के मंत्री जितेंद्र आव्हाड़ कोरोना पॉजिटिव, पिछले 24 घंटे में 778 नए मरीज
3 तेलंगाना में जान पर खेल 2 पुलिसकर्मियों ने बचाई 4 बेजुबानों की जान, VIDEO वायरल
ये पढ़ा क्या?
X