ताज़ा खबर
 

केजरीवाल को कोर्ट से फटकार- दें सही बयान, जो कहेंगे उसे सपोर्ट नहीं करेगा HC; कहा था- INC, BJP से पैसे लें, पर वोट AAP को दें

केजरीवाल की इस याचिका पर सुनवाई करते हुए जस्टिस संजीव सचदेवा ने कहा कि "अदालत यह तय नहीं कर सकती कि आप क्या बोलेंगे...ऐसे बयान ना दें, जैसा कि विशेषकर आपने पहले दिया।

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल। फोटो: PTI

दिल्ली हाईकोर्ट ने गुरुवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को सलाह दी कि ‘वह आगामी चुनावों में सामान्य बयान दें और ऐसी बात ना कहें जो सही ना हो।’ दरअसल कोर्ट ने यह टिप्पणी अरविंद केजरीवाल के 2017 के गोवा विधानसभा चुनावों में दिए गए बयान को लेकर की। बता दें कि 7-8 जनवरी, 2017 को गोवा विधानसभा चुनाव के दौरान प्रचार करते हुए आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने मतदाताओं से अपील की थी कि ‘वह भाजपा और कांग्रेस उम्मीदवारों से पैसे ले लें, लेकिन वोट आप को ही दें।’

इसके अलावा केजरीवाल ने 2014 के दिल्ली विधानसभा चुनाव के दौरान भी ऐसा ही बयान दिया था। गोवा में दिए गए बयान के खिलाफ गोवा के मुख्य चुनाव अधिकारी ने केजरीवाल के खिलाफ एफआईआर दर्ज करायी थी। इस एफआईआर के खिलाफ केजरीवाल ने दिल्ली हाईकोर्ट में 29 जनवरी, 2017 को याचिका दाखिल कर कहा था कि चुनाव आयोग उनके बोलने के अधिकार पर पाबंदी लगा रहा है।

अब केजरीवाल की इस याचिका पर सुनवाई करते हुए जस्टिस संजीव सचदेवा ने कहा कि “अदालत यह तय नहीं कर सकती कि आप क्या बोलेंगे…ऐसे बयान ना दें, जैसा कि विशेषकर आपने पहले दिया। उस बयान में कुछ ऐसी बातें थीं, जो सही नहीं थी। सामान्य बयान दें, जिनमें किसी की तरफ ऊंगली ना उठायी गई हो। आम बयान दें।”

बता दें कि दिल्ली में इन दिनों चुनाव का माहौल है। चुनाव आयोग राष्ट्रीय राजधानी में चुनाव की घोषणा कर चुका है। ऐलान के मुताबिक दिल्ली में 8 फरवरी को मतदान होगा, वहीं 11 फरवरी को चुनाव के नतीजे घोषित किए जाएंगे। चुनावों की घोषणा होने के साथ ही राजनैतिक आरोप-प्रत्यारोप और चुनाव प्रचार का दौर दिल्ली में शुरू हो गया है।

भाजपा नेता मनोज तिवारी ने हाल ही में अपने एक बयान में कहा कि दिल्ली में भाजपा की सरकार बनने पर आप की सरकार से पांच गुना ज्यादा सब्सिडी दी जाएगी। इस पर केजरीवाल ने ट्वीट कर भाजपा पर निशाना साधा और कहा कि भाजपा जनता का मजाक उड़ा रही है। भाजपा को पहले किसी भाजपा शासित प्रदेश में इसे लागू करना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 NCRB Data: 2 साल में दोगुणे हुए देशद्रोह के मामले, सबसे अधिक झारखंड में; JK में भी हुई तेजी से बढ़त!
2 JNU वीसी पर HRD मंत्रालय नरम? माह भर पहले दिया अल्टीमेटम, अब कहा- x,y,z को हटाना प्राथमिकता नहीं, बुनियादी मुद्दे पहले
3 CAA पर बोले CJI- कठिन दौर से गुजर रहा देश, हुई इतनी हिंसा कि याचिकाएं नहीं आएंगी काम
ये पढ़ा क्या?
X
Testing git commit