ताज़ा खबर
 

Locust Attack : कोरोना संकट के बीच टिड्डों के हमले पर दिल्ली सरकार ने जारी की एडवाइजरी, मंत्री गोपाल राय के घर अहम बैठक

दिल्ली के मौजूदा हालात और टिड्डियों के हमले से पहले तैयारियों का जायजा लेने के लिए दिल्ली सरकार में मंत्री गोपाल राय ने आपात बैठक की।

Delhi, Corona Virus, Covid-19 दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार ने टिड्डियों के हमले के मुद्दे पर बैठक की। (प्रतीकात्मक फोटो)

कोरोना वायरस महामारी के संकट के बीच टिड्डों के हमले का नया संकट सामने आया है। इस संकट के मद्देनजर दिल्ली में गुरुवार को मंत्री गोपाल राय ने दिल्ली के हालात और टिड्डों के हमले से निपटने की तैयारी को लेकर एक आपात बैठक की। यह बैठक गोपाल राय के घर पर हुई। इस दौरान दिल्ली सरकार में लेबर मिनिस्टर गोपाल राय का कहना है कि किसानों को जागरुक करने के लिए कार्यक्रम चलाए जाएंगे।

टिड्डों के हमले को लेकर गोपाल राय ने ट्वीट भी किया। उन्होंने लिखा, उत्तर भारत में टिड्डियों के बढ़ते खतरे को देखते हुए दिल्ली सरकार के कृषि विभाग द्वारा दिल्ली के लोगों एवं किसानों को जागरूक करने के लिए कार्यक्रम चलाए जाएंगे साथ ही दिल्ली सरकार दिल्ली ने कीटनाशक दवाईयों के छिड़काव एवं उसकी मात्रा को लेकर एडवाइजरी जारी की है।

Image

टिड्डों के हमले के संकट को देखते हुए दिल्ली सरकार ने एडवाइजरी भी जारी की है। दिल्ली सरकार ने कीटनाशक दवाईयों के छिड़काव और उसकी मात्रा के बारे में भी बताया।

बता दें कि हरियाणा ने पड़ोसी राजस्थान और कुछ अन्य राज्यों में टिड्डी दल के फसलों पर हमले के बाद सात जिलों में हाई अलर्ट जारी किया है। साथ ही एक अधिकारी ने बृहस्पतिवार को बताया कि इस समस्या से निपटने के लिए पर्याप्त मात्रा में कीटनाशक भंडार है। छिड़काव के लिए रसायन से भरे ट्रैक्टरों को भी तैनात किया गया है। राजस्थान और मध्य प्रदेश में फसलों को नुकसान पहुंचाने के बाद टिड्डी दल उत्तर प्रदेश के झांसी में घुस गया है जिसे 26 वर्षों में कीटों का सबसे भीषण हमला बताया जा रहा है। हरियाणा प्रशासन ने कहा है कि यद्यपि टिड्डी दल ने राज्य में प्रवेश नहीं किया है, लेकिन हम उच्च स्तरीय सावधानी बरत रहे हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Lockdown 4.0: कोरोना संकट के बीच सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, प्रवासी मजदूरों से ट्रेन-बस का किराया न लिया जाए
2 ‘जब FCI के पास सरप्लस खाद्यान्न तो गरीबों, प्रवासी मजदूरों को क्यों नहीं बांट रहे?’ SG की दलील पर भड़के SC जज