ताज़ा खबर
 

Delhi Fire: अनाज मंडी अग्निकांड पर बड़ा खुलासा! इस वजह से गई दर्जनों लोगों की जान

Delhi Anaj Mandi Fire News Updates: दिल्ली की अनाज मंडी क्षेत्र में चार मंजिला इमारत में आग लगने के बाद अधिकांश श्रमिकों की दम घुटने से मौत हो गई। शहर में 1997 में हुए उपहार सिनेमा हादसे के बाद यह अब तक का सबसे बड़ा आग हादसा है।

Author नई दिल्ली | Updated: December 8, 2019 6:11 PM
DELHI FIREदिल्ली के आज मंडी में आग से 43 की मौत हो गई। फोटो- इंडियन एक्सप्रेस

Delhi Anaj Mandi Fire News Updates: दिल्ली के अनाज मंडी स्थित जिस इमारत में रविवार (8 दिसंबर) सुबह आग लगी थी वहां पहुंचे एनडीआरएफ (NDRF) के दल ने कहा कि इमारत में जहरीली कार्बन मोनोऑक्साइड गैस भरी थी। इमारत में लगी आग की वजह 43 लोगों की जान चली गई। उत्तरी दिल्ली की अनाज मंडी क्षेत्र में चार मंजिला इमारत में चलने वाली अवैध निर्माण इकाइयों के अधिकांश श्रमिकों की दम घुटने से मौत हो गई। शहर में 1997 में हुए उपहार सिनेमा हादसे के बाद यह अब तक का सबसे बड़ा आग हादसा है।

कैसे हुई मौत: एनडीआरएफ के डिप्टी कमांडर आदित्य प्रताप सिंह ने कहा कि दिल्ली अग्निशमन सेवा द्वारा आग पर काबू करने के बाद राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) ने इमारत में गैस डिटेक्टरों की सहायता से जहरीली गैस का पता लगाया। उन्होंने कहा, ‘‘हमें बड़ी मात्रा में कार्बन मोनोऑक्साइड (सीओ) गैस मिली। उसके बाद हमने इमारत की अच्छे से जांच की। इमारत की तीसरी और चौथी मंजिल पूरी तरह से धुएं से भरी हुई थी जिसमें कार्बन मोनोमोनोऑक्साइड की मात्रा अधिक थी।’’

एनडीएआरएफ का बयान: NDRF के अधिकारी ने बताया कि यह जहरीली गैस तेल, कोयला और लकड़ी जैसे ईंधनों के पूरी तरह से नहीं जल पाने पर यह रंगहीन, गंधहीन खतरनाक बनती है। डिप्टी कमांडर ने कहा कि टीम को इमारत की कुछ खिड़कियां सील मिली। वहां एक ही कमरा था जिसमें अधिकतर मजदूर सो रहे थे और वहां हवा के आने-जाने के लिए केवल एक स्थान था। अधिकतर मजदूरों को तीसरी मंजिल से लाया गया था। इमारत में रखे सामान के जलने की वजह से अधिक मात्रा में कार्बन मोनोऑक्साइड गैस बन गई।’’

ये थी कमी: उत्तरी दिल्ली के अनाज मंडी इलाके में आग हादसे का शिकार हुई चार मंजिला इमारत के पास दमकल विभाग की मंजूरी नहीं थी। दिल्ली अग्निशमन सेवा के निदेशक अतुल गर्ग ने बताया कि इमारत के लिए न तो दमकल सेवा की मंजूरी ली गई थी और न ही परिसर में अग्नि सुरक्षा उपकरण लगे हुए पाये गये। गौरतलब है कि अनाज मंडी में रविवार की तड़के एक फैक्ट्री में आग लगने से 43 लोगों की मौत हो गई। मारे गये लोगों में ज्यादातर श्रमिक थे।

Next Stories
1 बीजेपी सांसद बोले- भ्रष्ट राजनेताओं की वजह से बढ़ रही रेप की घटनाएं, दुष्कर्म के आरोपी नेताओं को लगाया जाए ठिकाने
2 हिन्दू राष्ट्रवाद से थम जाएगी इकनॉमिक ग्रोथ, रघुराम राजन बोले- धार्मिक महापुरुषों की मूर्तियों से बेहतर मॉडर्न स्कूल, यूनिवर्सिटी बनाएं
3 नागरिकता संशोधन बिल पर बोले शशि थरूर- गांधी के विचारों पर जिन्ना की जीत, ‘पाकिस्तान का हिंदू संस्करण’
यह पढ़ा क्या?
X