ताज़ा खबर
 

Delhi Elections 2020: प्रवेश वर्मा को फिर झटका! केजरीवाल को ‘आतंकी’ बताने पर EC ने 6 फरवरी की शाम तक प्रचार पर लगाई रोक

बीजेपी सांसद पर पांच फरवरी शाम छह बजे से छह फरवरी शाम छह बजे तक प्रचार नहीं कर पाएंगे। उन पर एक हफ्ते में दूसरी बार बैन लगा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और प्रवेश वर्मा दिल्ली में चुनावी सभा के दौरान। फोटो: Parvesh Verma/Twitter

द‍िल्‍ली व‍िधानसभा चुनाव के मद्देनजर नेताओं के तीखे बोल जारी हैं। इस बीच, चुनाव आयोग ने पश्‍च‍िमी द‍िल्‍ली से बीजेपी सांसद प्रवेश वर्मा पर एक बार फ‍िर बैन लगाया है। वह पांच फरवरी शाम छह बजे से छह फरवरी शाम छह बजे तक प्रचार नहीं कर पाएंगे। आयोग ने 30 जनवरी को जारी कारण बताओ नोटिस पर वर्मा का जवाब मिलने के बाद उन्हें एक दिन के लिये प्रचार करने से प्रतिबंधित करने की कार्रवाई की है। उन पर एक हफ्ते में दूसरी बार बैन लगा है। 20 जनवरी को प्रवेश वर्मा पर 96 घंटे का बैन लगा था। साथ ही, स्‍टार प्रचारकों की सूची से उन्‍हें हटा द‍िया गया था। लेक‍िन, 4 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रवेश वर्मा को बगल में खड़ा करके द‍िल्‍ली में चुनावी सभा की।

बीजेपी सांसद ने एक न्यूज चैनल से बातचीत में दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल को ‘आतंकवादी’ बताया था। वर्मा के इसी बयान पर आयोग ने यह कार्रवाई की है। बैन के बाद वह सार्वजनिक सभा, सार्वजनिक जुलूस, सार्वजनिक रैलियों, रोड शो और इंटरव्यू नहीं दे सकेंगे। सांसद वर्मा ने 31 जनवरी को भेजे अपने जवाब में कहा कि एक साक्षात्कार में उनके द्वारा केजरीवाल को आतंकवादी कहे जाने के आरोप गलत है। उन्होंने कहा कि एक टीवी चैनल को दिये साक्षात्कार में उनके बयान को सही तरीके से पेश नहीं किया गया।

इससे पहले भी चुनाव आयोग उनके खिलाफ कार्रवाई कर चुका है। आयोग ने तब सांसद पर 96 घंटे के लिए प्रतिबंधित लगा दिया था। उन्‍होंने कहा था कि शाहीन बाग में जो लोग जमा हैं वे आपके घरों में घुस जाएंगे, आपकी बेटी-बहनों का बलात्‍कार करेंगे। इस वजह से उन पर 96 घंटे का प्रचार-बैन लगा था। वर्मा ने कभी अपने बयान पर अफसोस जाहिर नहीं किया। उल्‍टा, वह कहते रहे कि केजरीवाल को आतंकवादी कह कर कुछ गलत नहीं बोला है।

वहीं चुनाव आयोग ने अदालतों के परिसरों में मोहल्ला क्लीनिक बनाने के दिल्ली के मुख्यमंत्री के वादे की भी ‘निंदा’ की है। आयोग ने उनसे भविष्य में अधिक सावधानी बरतने को कहा है। उल्लेखनीय है कि गुरुवार को दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिये प्रचार का अंतिम दिन है।

 

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 कश्‍मीरी मां-बाप का दर्द: छह महीने से कैद बेटा, 20 हजार खर्च कर हुई केवल 20 म‍िनट की मुलाकात
2 मोदी सरकार ने पेश किया आंकड़ा, देश में बेरोजगारी दर 6.1 प्रतिशत, 2012 के बाद नहीं बढ़ी बेरोजगारी!
3 यौन शोषण केसः बेल के 2 दिन बाद शाहजहांपुर जेल से छूटे पूर्व केंद्रीय मंत्री चिन्मयानंद
यह पढ़ा क्या?
X