ताज़ा खबर
 

Delhi Election Results 2020: कांग्रेस से करार, तकरार के बाद बहुमत का तोरणद्वार

Delhi Election/Chunav Results 2020: नौ साल पहले 2011 में केजरीवाल अन्ना हजारे के नेतृत्व में चले लोकपाल आंदोलन के दौरान राजनीतिक फलक पर आए थे।

कांग्रेस की उसी सरकार ने पहली बार मुफ्त पानी की आपूर्ति तथा 400 यूनिट तक बिजली पर आधी कीमत पर देने के फैसले को लागू किया।

Delhi Election Results 2020: अरविंद केजरीवाल वर्ष 2013 में पहली बार कांग्रेस के सहयोग से दिल्ली के मुख्यमंत्री बने थे। उस चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) ने सिर्फ 28 सीटों पर जीत हासिल की थी। तब आप और कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाई थी। हालांकि उनकी यह सरकार केवल 49 दिनों तक ही चल पाई थी। केजरीवाल ने खुद ही इस्तीफा दे दिया था। कांग्रेस की उसी सरकार ने पहली बार मुफ्त पानी की आपूर्ति तथा 400 यूनिट तक बिजली पर आधी कीमत पर देने के फैसले को लागू किया। बाद में अपने इसी फैसले के दम पर 2015 के विधानसभा चुनाव में केजरीवाल की अगुआई में आम आदमी पार्टी दिल्ली में जीत का रिकार्ड बनाने में कामयाब हुई। पार्टी ने दिल्ली की 70 सीटों में से 67 सीटों पर प्रचंड जीत दर्ज की।

नौ साल पहले 2011 में केजरीवाल अन्ना हजारे के नेतृत्व में चले लोकपाल आंदोलन के दौरान राजनीतिक फलक पर आए थे। इसके बाद जल्द ही उन्होंने आम आदमी पार्टी नाम से एक राजनीतिक पार्टी बना ली। आम आदमी पार्टी के गठन के बाद दिल्ली की राजनीति में एक नया विकल्प सामने आया। हालांकि, केजरीवाल की महत्वाकांक्षा आप को एक राष्ट्रीय पार्टी बनाने की थी लेकिन इसमें उन्हें ज्यादा सफलता नहीं मिली।

केजरीवाल ने 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी को चुनौती देते हुए उनके खिलाफ वाराणसी सीट से चुनाव लड़ा। लेकिन वह हार गए। उन्होंने 2017 में पंजाब और गोवा विधानसभा चुनावों में भी अपनी पार्टी की पैठ बनाने की कोशिश की। पंजाब में कुछ हद तक उन्हें कामयाबी मिली, लेकिन गोवा में उन्हें सफलता नहीं मिली।

इस चुनाव में दिल्ली में 200 यूनिट तक मुफ्त बिजली, 20 हजार लीटर तक मुफ्त पानी, डीटीसी की बसों में महिलाओं के लिए मुफ्त यात्रा और 1.4 लाख सीसीटीवी कैमरों को लगाना उनके मुख्य चुनावी मुद्दे रहे। अपने चुनाव प्रचार के दौरान केजरीवाल ने कई बार भाजपा पर निशाना साधते हुए पूछा था कि उनका मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार कौन है। हालांकि उन्होंने सावधानी बरतते हुए शाहीन बाग में चल रहे सीएए विरोधी प्रर्दशनों पर स्पष्ट रूप से कुछ नहीं कहा।

Next Stories
1 Delhi Election Results 2020: खता ऐसी कि खाता खुला नहीं, कांग्रेस की अधिकतर सीटों पर जमानत जब्त
2 Delhi Election Results 2020: …तो बंद कर दें प्रदेश कमेटियों की दुकान- कांग्रेस नेता ने AAP को लेकर अपनी ही पार्टी पर साधा निशाना
3 Delhi Election Results 2020: कई भाजपा उम्मीदवारों की हार की हैट्रिक, पूर्व मुख्यमंत्री के भाई भी हारे
ये पढ़ा क्या?
X