ताज़ा खबर
 

Delhi Election Result 2020: जीत की राह में अटक गई थी मनीष सिसोदिया की सांस

सिसोदिया की कठिन जीत की वजह गढ़वाली मतों के कम मिलने को भी बताया जा रहा है। पटपड़गंज के एक इलाका विनोद नगर में उत्तराखंड या गढ़वाली लोग काफी ज्यादा संख्या में हैं। भाजपा ने रविंदर सिंह नेगी और कांग्रेस ने लक्ष्मण रावत को उम्मीदवार बनाया था।

आप नेता मनीष सिसोदिया (एएनआई इमेज)

दिल्ली की कुछ हाई प्रोफाइल सीटों में से एक पटपड़गंज विधानसभा सीट पर इस बार मुकाबला कांटे का रहा। आप उम्मीदवार और दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया को कड़े मुकाबले में उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ा। इस विधानसभा की कुल 15 चरणों में मतगणना हुई। 10वें चरण तक भाजपा उम्मीदवार रविंदर सिंह नेगी बढ़त बनाए रखे। हालांकि 11वें चरण से मनीष सिसोदिया ने जो बढ़त ली, उसे 14वें चरण तक बरकरार रखा। हालांकि 15वें चरण में फिर भाजपा को आप से 120 मत अधिक मिले लेकिन तब तक मनीष अजेय बढ़त बना चुके थे। 15 चरणों की गिनती के बाद 3207 मतों के अंतर से आप इस सीट पर विजयी रही। गिनती पूरी होने के बाद मनीष सिसोदिया 70163 मत लेकर विजयी हुए, जिसमें 189 पोस्टल बैलट थे। जबकि भाजपा उम्मीदवार रविंदर सिंह नेगी को 253 पोस्टल बैलट मिलाकर कुल 66956 मत मिले।

हार-जीत के उतार-चढ़ाव के दौरान पूर्वी विनोद नगर मेट्रो स्टेशन के पास मनीष सिसोदिया के घर के आसपास का नजारा पल-पल बदल रहा था। समर्थक, रिश्तेदार समेत पार्टी कार्यकर्ता हर चरण की गिनती पूरी होने पर अगले चरण में किस-किस इलाके की ईवीएम खुलेगी, इसका आकलन कर रहे थे। मतगणना में जारी खींचतान के दौरान मनीष सिसोदिया से जुड़े कार्यकर्ता यह दावा करते नहीं थक रहे थे कि दिल्ली को मॉडल शहर बनाने वाला अपने घर में ही हारे, यह बर्दाश्त नहीं है। 11वें चरण के बाद मनीष की जीत का अंतर बढ़ने की सूचना मिलते ही समर्थक जय श्रीराम, भारत माता की जय, वंदेमातरम के नारे लगाकर हौंसलाअफजाई कर रहे थे।

शुरुआती चरणों से ही मामला गड़बड़ाते देख समर्थक और रिश्तेदारों ने मनीष सिसोदिया के फ्लैट की छत और मेट्रो स्टेशन के बाहर शांत मुद्रा में खड़े होकर जीत की दुआ मांगनी शुरू कर दी। वहां मौजूद आप समर्थक केपी. सिंह राघव और दिनेश राघव ने बताया कि उन्होंने बद्रीनाथ मंदिर जाकर जीत के लिए पूजा अर्चना की। उनके समर्थक कांटे के मुकाबले के लिए क्षेत्र के कुछ खास इलाके के मतदाताओं को कोसते भी दिखाई दिए। हालांकि पहले चरण में आप को भाजपा से अधिक मत मिले और दूसरे चरण में दोनों लगभग बराबरी पर थे। तीसरे चरण में भाजपा उम्मीदवार ने करीब डेढ़ हजार मतों की बढ़त बना ली थी। मनीष सिसोदिया सुबह आठ बजे ही राष्ट्रमंडल खेल गांव स्थित मतगणना स्थल पर पहुंच गए थे। वहां से 10 बजे घर आए, जहां से पार्टी कार्यालय के लिए रवाना हुए।

सिसोदिया की कठिन जीत की वजह गढ़वाली मतों के कम मिलने को भी बताया जा रहा है। पटपड़गंज के एक इलाका विनोद नगर में उत्तराखंड या गढ़वाली लोग काफी ज्यादा संख्या में हैं। भाजपा ने रविंदर सिंह नेगी और कांग्रेस ने लक्ष्मण रावत को उम्मीदवार बनाया था। दोनों गढ़वाल के रहने वाले हैं। यहां की ईवीएम की गितनी के दौरान भाजपा उम्मीदवार आगे थे। पटपड़गंज गांव में ब्राह्मण, वैश्य, मुसलमान और गुर्जर की भी तादात काफी है। 12 बहुमंजिला सोसायटी के अलावा मध्यमवर्ग मतदाता वाले मंडावली, मयूर विहार फेज-2, पांडव नगर और प्रताप नगर इलाके हैं। शशि नगर में आप को अच्छे मत मिलने का दावा किया गया है। इसी सीट से आप उम्मीदवार के रूप में मनीष सिसोदिया ने 2015 में भाजपा के विनोद कुमार बिन्नी को 46728 मतों से हराया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप 24-25 फरवरी को आएंगे भारत
2 दिल्ली में 15 साल राज करने वाली कांग्रेस के वोट खिसके, झाड़ू और कमल को मिला हाथ का साथ
3 अहंकार से हारी कांग्रेस, सभी ने मिलकर कर खोदी पार्टी की कब्र- शीला दी‍क्ष‍ित के बेटे संदीप ने कहा
ये पढ़ा क्या?
X
Testing git commit