ताज़ा खबर
 

मनीष सिसोदिया का दिल्लीवालों को खुला खत- बीजेपी ने चुनाव थोपा, अब विकास नहीं करा पाऊंगा, आप इंसाफ करना

सिसोदिया ने इस पत्र में केजरीवाल सरकार द्वारा तीन साल में कराए गए कार्यों को भी गिनाया है और लिखा है कि चुनाव होने की वजह से अब दिल्ली में आचारसंहिता लागू हो जाएगी। ऐसी स्थिति में नए काम नहीं हो सकेंगे।

मनीष सिसोदिया(दाएं) और अरविंद केजरीवाल

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा आम आदमी पार्टी (आप) के 20 विधायकों की सदस्यता रद्द करने के बाद दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दिल्ली की जनता के नाम खुला खत लिखा है। दो पन्ने की इस चिठ्ठी में सिसोदिया ने बीजेपी पर गंदी राजनीति करने और दिल्ली पर जबरन चुनाव थोपने का आरोप लगाया है। उन्होंने अपनी चिट्ठी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर भी शेयर की है और लिखा है, “दिल्ली की जनता के लिए मेरा एक पत्र, क्या चुने हुए विधायकों को इस तरह गैर-संवैधानिक और गैर-कानूनी तरीके से बर्खास्त करना सही है? क्या दिल्ली को इस तरह चुनावों में धकेलना ठीक है? क्या ये गंदी राजनीति नहीं है? ” सिसोदिया ने इस पत्र में केजरीवाल सरकार द्वारा तीन साल में कराए गए कार्यों को भी गिनाया है और लिखा है कि चुनाव होने की वजह से अब दिल्ली में आचारसंहिता लागू हो जाएगी। ऐसी स्थिति में नए काम नहीं हो सकेंगे। इसके बाद फिर लोक सभा चुनाव का समय नजदीक आ जाएगा। उस वक्त भी आचारसंहिता लागू हो जाएगी और दिल्ली में विकास कार्य ठप हो जाएगा।

सिसोदिया ने पत्र की शुरुआत करते हुए लिखा है, “आज इस खुले पत्र के माध्यम से मैं आपसे सीधे बात करना चाहता हूं। मन दु:खी है। पर निराश हूं क्योंकि मुझे आप पर भरोसा है। दिल्ली के और देश के लोग मेरी आशा हैं। तीन साल पहले आपने 70 में से 67 विधायक चुनकर आम आदमी पार्टी की सरकरा बनाई थी। आज इन्होंने आपके 20 विधायकों को बर्खास्त कर दिया। इनका कहना है कि ये 20 विधायक लाभ के पद पर थे। हमने इन्हें संसदीय सचिव बनाया था और अलग-अलग जिम्मेदारियां दी थीं। इनके काम की वजह से दिल्ली के स्कूलों, अस्पतालों में आश्चर्यजनक सुधार हुआ।” सिसोदिया ने लिखा है कि जब इन विधायकों को सरकार ने कोई सरकारी गाड़ी नहीं दी, बंगला नहीं दिया, एक नया पैसा तनख्वाह नहीं दी। कुछ भी नहीं दिया। ये सभी अपने पैसे खर्च कर रहे थे। जब इन्हें कुछ दिया ही नहीं तो लाभ का पद कैसे हो गया।

सिसोदिया ने लिखा है कि केंद्र की बीजेपी सरकार ने जानबूझकर ऐसा किया है क्योंकि बीजेपी केजरीवाल सरकार के कार्यों से परेशान है। सिसोदिया ने लिखा है कि आपकी सरकार ने तीन साल में दिल्ली में बिजली के दाम देशभर में सबसे कम कर दिए, पानी मुफ्त कर दिया, स्कूलों का कायापलट कर दिया, प्राइवेट स्कूलों से बढ़ी फीस वापस कराई, मोहल्ला क्लिनिक बनाए, बुजुर्गों की पेंशन बढ़ा दी। नई सड़कें बनवाई वगैरह-वगैरह। उन्होंने लिखा है कि अब दो साल बचे हैं इन दो सालों में बहुत काम करना था, पूरी दिल्ली में सीसीटीवी कैमरे लगाने हैं, प्री वाई-फाई देने हैं, सरकारी सेवाओं की डोरस्टोप डिलीवरी देनी है। उन्होंने लिखा है कि इन कार्यों की वजह से जहां आप का ग्राफ उभार पर है, नहीं बीजेपी का ग्राफ तेजी से नीचे गिर रहा है।

पढ़ें: मनीष सिसोदिया का खुला खत

दिल्लीवालों को उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया द्वारा लिखा गया खुला खत।

सिसोदिया ने आरोप लगाया है कि चुनाव थोपकर बीजेपी दिल्ली में विकास कार्यों को रोकना चाहती है। उन्होंने लिखा है कि क्या ये गंदी राजनीति नहीं है? अंत में उन्होंने लिखा है, मुझे आपसे ही उम्मीद है। आप जरूर इसका सही और असरदार जवाब देंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App