ताज़ा खबर
 

दिल्ली: ‘5 घंटे से फोन करके थक गया हूं, कोई नहीं आया’, कोरोना संदिग्ध बुजुर्ग पिता की लाश के साथ वीडियो के जरिए युवक ने बयां किया दर्द

जानकारी के मुताबिक, यह मामला पूर्वी दिल्ली के शकरपुर का है। वहां शनिवार सुबह 80 साल के बुजुर्ग की मौत हो गई, जो कोरोना संदिग्ध थे।

Coronavirus, COVID-19, Corona Patient, Corona Death, Viral Video, Shakarpur, Laxmi Nagar, East Delhi, North East Delhi, Delhi, National News, India News, Hindi Newsवायरल वीडियो के स्क्रीनशॉट में दिल्ली के शकरपुर निवासी अनुपम त्रिपाठी अपनी पीड़ा बयान करते हुए। (फोटोः ट्विटर/@RachnaUpadhya)

दिल्ली में शनिवार को एक कोरोना संदिग्ध बुजुर्ग की सही वक्त पर इलाज न मिलने से घर पर ही मौत हो गई। मृतक के बेटे ने पिता की तबीयत बिगड़ने पर कई फोन किए। अस्पतालों, अफसरों और प्रशासन से मदद की गुहार लगाई, पर कोई सुनवाई नहीं हुई। आलम यह था कि युवक पांच घंटे तक फोन कर-कर के थक गया, मगर उसकी मदद के लिए कोई नहीं पहुंचा। बाद में उसने पिता की लाश के साथ वीडियो रिकॉर्ड कर अपना दुख-दर्द बयां किया।

जानकारी के मुताबिक, यह मामला पूर्वी दिल्ली के शकरपुर का है। वहां शनिवार सुबह 80 साल के बुजुर्ग की मौत हो गई, जो कोरोना संदिग्ध थे। बताया जा रहा है कि उनके बेटे को कोराना संक्रमण है। वह सुबह से प्रशासन के अधिकारियों से बात करने की कोशिश कर रहे थे, पर फिर भी कोई पिता का शव लेने कोई आया।

Coronavirus in India Live Updates

पीड़ित शख्स का वीडियो फिलहाल सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। उसमें शख्स सबसे पहले अपना परिचय देता है। बता रहा था- मैं अनुपम त्रिपाठी हूं। सुबह साढ़े सात बजे पिता की मौत हुई थी। 12 बज चुके हैं, पर स्वास्थ्य कर्मचारी या और कोई मदद के लिए नहीं आया।

बता दें कि शनिवार को दिल्ली में कोरोना वायरस संक्रमण के 1320 नये मरीज सामने आये। अधिकारियों के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी में इन ताजा केसों के बाद महामारी के कुल मामले 27000 के पार पहुंच गए हैं, जबकि अबतक 761 मरीजों की जान गयी है।

मध्य सितंबर के आसपास भारत में महामारी खत्म हो जाएगी: कोविड-19 महामारी मध्य सितंबर के आसपास भारत में खत्म हो सकती है। स्वास्थ्य मंत्रालय के दो जन स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने यह दावा किया है, जिन्होंने इस निष्कर्ष पर पहुंचने के लिये गणितीय प्रारूप पर आधारित विश्लेषण का सहारा लिया। विश्लेषण से यह प्रदर्शित होता है कि जब गुणांक 100 प्रतिशत पर पहुंच जाएगा तो यह महामारी खत्म हो जाएगी।

यह विश्लेषण ऑनलाइन जर्नल एपीडेमीयोलॉजी इंटरनेशनल में प्रकाशित हुआ है। यह अध्ययन स्वास्थ्य मंत्रालय में स्वास्थ्य सेवाएं महानिदेशालय (डीजएसएच) में उप निदेशक (जन स्वास्थ्य) डॉ अनिल कुमार और डीजीएचएस में उप सहायक निदेशक (कुष्ठ रोग) रूपाली रॉय ने किया है। उन्होंने इस निष्कर्ष पर पहुंचने के लिये बेली के गणितीय प्रारूप का इस्तेमाल किया।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 MP: कांग्रेस MLA जीतू पटवारी के भतीजे ने टोल नाके पर काटा बवाल! अफसरों को डंडों से पीटा, शिकायत पर केस
2 ‘ड्रैगन’ पर बनाया विज्ञापन तो Amul बना निशाना, Twitter पर अकाउंट ब्लॉक! जानें, क्या है पूरा मामला
3 ‘Congress है पॉलिटिकल प्रदूषण की प्रयोगशाला, फैला रही पाखंड’, मोदी के मंत्री बोले- हमें टिड्डी भगाने हैं, फिसड्डी नहीं