VIDEO में शराबी बताए जाने पर सिपाही की मुआवजे मांगने की याचिका SC ने की खारिज, पढ़ें क्या कहा? - Jansatta
ताज़ा खबर
 

VIDEO में शराबी बताए जाने पर सिपाही की मुआवजे मांगने की याचिका SC ने की खारिज, पढ़ें क्या कहा?

पीठ ने कहा कि कोई दोषी नहीं था क्योंकि ना तो वीडियो के साथ छेड़छाड़ की गयी और ना ही मीडिया ने इसे किसी गलत इरादे से जारी किया।

Author नई दिल्ली | April 1, 2016 8:38 PM
फेसबुक पर एक वीडियो डाला गया था, जिसमें सलीम को मेट्रो के डिब्बे में बड़ी मुश्किल से खड़े होते देखा जा सकता है। (Photo Source:Youtube)

उच्चतम न्यायालय ने पिछले साल सोशल मीडिया पर वायरल हुए एक वीडियो में ‘गलत’ तरीके से चित्रण करने पर मुआवजे की दिल्ली पुलिस के एक हैड कांस्टेबल की याचिका पर विचार करने से शुक्रवार को इनकार कर दिया। वीडियो में पुलिसकर्मी को मेट्रो के एक कोच में लड़खड़ाकर गिरते हुए देखा जा सकता है और लोगों का मानना था कि वह नशे की हालत में था। न्यायमूर्ति जे एस खेहर और न्यायमूर्ति सी नागप्पन की पीठ ने कहा कि कोई दोषी नहीं था क्योंकि ना तो वीडियो के साथ छेड़छाड़ की गयी और ना ही मीडिया ने इसे किसी गलत इरादे से जारी किया। पीठ ने कहा कि जब किसी ने कुछ गलत नहीं किया तो क्या किया जा सकता है। आप सेवा पर लौट ही चुके हैं।

फेसबुक पर ‘ड्रंक दिल्ली पुलिस मैन ऑन दिल्ली मेट्रो-फनी’ शीर्षक से किसी ने एक वीडियो डाला था जिसमें सलीम को मेट्रो के डिब्बे में बड़ी मुश्किल से खड़े होते देखा जा सकता है। पुलिस सेवा में फिर से लौट चुके सलीम ने कहा था कि वह उस समय नशे की हालत में नहीं थे बल्कि काम से घर लौटते समय मस्तिष्क में बड़ा ब्लॉकेज होने की वजह से चेतता खो रहे थे।

उन्होंने अपनी याचिका में कहा कि असहाय स्थिति में उनका वीडियो बना लिया गया और कुछ समाचार चैनलों ने इसे जारी करते हुए कहा कि वह नशे की हालत में थे। उन्होंने कहा कि यह किसी व्यक्ति को बिना मुकदमे के कथित अपराध के लिए दोषी करार देने के समान है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App