ताज़ा खबर
 

कांग्रेस: पूर्णबंदी में बेहतर काम करने वालों को मिल सकती है पार्टी में जिम्मेदारी

नई कार्यकारिणी में उन पार्टी के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी मिलने की उम्मीद अधिक है, जिन्होंने पूर्णबंदी के दौरान दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष के साथ दिल्लीवसियों की सेवा में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया था।

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी।

निर्भय कुमार पांडेय
नई प्रदेश कार्यकारिणी को लेकर दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में बैठकों का दौर शुरू हो गया है। दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष चौधरी अनिल कुमार ने प्रदेश के उपाध्यक्षों के साथ इस मुद्दे को लेकर कई दौर की बैठकें कर चुके हैं। इसी क्रम में शुक्रवार को भी बैठक आयोजित की गई थी और आगामी निगम चुनाव को लेकर भी इस बैठक में चर्चा की गई। बैठक में सेल के प्रमुखों, कांग्रेस नेता परवेज आलम भी शामिल हुए थे। बताया जा रहा है कि नई कार्यकारिणी, जिला अध्यक्ष और ब्लॉक अध्यक्षों की नियुक्ति को लेकर प्रक्रिया शुरू हो गई है। पार्टी के पदाधिकारियों और नेता संगठन को मजबूत करने के लिए किए गए कार्य और पूर्णबंदी के दौरान किए गए कार्यों की समीक्षा की जा रही है।

पार्टी सूत्रों की मानें तो नई कार्यकारिणी में उन पार्टी के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को जिम्मेदारी मिलने की उम्मीद अधिक है, जिन्होंने पूर्णबंदी के दौरान दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष के साथ दिल्लीवसियों की सेवा में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया था। चाहे प्रवासी मजदूरों को सुविधा मुहैया करवाने की बात हो या फिर रसोई के माध्यम से जरूरतमंद लोगों को खाना मुहैया करवाने का इंतजाम हो। इसके साथ ही जरूरतमंद लोगों के लिए मास्क, सेनिटाइजर या फिर खाने-पीने का सामान उपलब्ध करने का कार्य किया हो।

पार्टी सूत्रों का यह भी कहना है कि पूर्णबंदी के दौरान कार्य करने वाले पार्टी के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं के कार्यों का आकलन किया जा रहा है। माना जा रहा है कि चाहे वर्तमान के कार्यकारिणी, जिला अध्यक्ष और ब्लॉक अध्यक्ष हों। नई कार्यकारिणी में फिर से उन्हें जिम्मेदारी मिलने की संभावना कहीं अधिक है। बिहार विधानसभा चुनाव के परिणाम आ चुके हैं। हालांकि, वहां भी कांग्रेस का प्रदर्शन संतोषजनक नहीं रहा है।

शक्ति सिंह गोहिल बिहार कांग्रेस के प्रभारी होने के साथ-साथ दिल्ली कांग्रेस के अंतरिम प्रभारी हैं। विधानसभा चुनाव को लेकर वह काफी दिनों से वहां व्यस्त थे। इस कारण दिल्ली की कार्यकारणी का नए सिरे से गठन नहीं किया गया था। पार्टी सूत्रों का कहना है कि अब इसको लेकर शक्ति सिंह गोहिल ने भी नई कार्यकारिणी गठन करने को लेकर इशारा कर दिया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दिल्ली: ठंड का बढ़ता असर, एम्स के बाहर इलाज के इंतजार में मरीज
2 दिल्ली विश्वविद्यालय: डीसीएसी के विद्यार्थियों का भविष्य दांव पर, बिना मंजूरी शुरू हुए पाठ्यक्रमों पर आयोग ने खड़े किए हाथ
3 कोरोना का आतंक: दीपावली के बाद दिल्ली में सात दिन में 376 नए इलाके सील
यह पढ़ा क्या?
X