बिहार के हर जिले में BJP नेतृत्व लेता है गतिविधियों पर डेली रिपोर्ट, हर महीने कम से कम ऑनलाइन 45 मीटिंग लेते हैं प्रदेश पार्टी प्रमुख

कोरोना काल ने बिहार बीजेपी के हर कार्यकर्ता को ऑनलाइन बैठकों के साथ सहज बना दिया है और अब इसका इस्तेमाल पार्टी के विस्तार से जुड़े कार्यक्रमों के लिए किया जा रहा है।

bihar, bjp, coronavirus
तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

बिहार में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेतृत्व हर जिले में क्या चल रहा है, इसकी हर रोज की खबर रहती है। ऐसा इसलिए, क्योंकि राज्य स्तर की पार्टी लीडरशिप के पास हर रोज तय समय पर इससे जुड़ी रिपोर्ट आ जाती है। इतना ही नहीं, ऑनलाइन बैठकों के जरिए भी संवाद और जुड़ाव बरकरार रखा जाता है। खुद प्रदेश पार्टी प्रमुख संजय जायसवाल एक महीने में कम से कम 45 ऑनलाइन मीटिंग्स ले लेते हैं।

दरअसल, कोरोना वायरस संकट के दौरान अधिकतर क्षेत्रों में काम को सुगम बनाने के लिए जो ऑनलाइन ढांचा विकसित हुआ, वह सियासी दलों के लिए भी खासा कारगर साबित हुआ। महामारी काल में बिहार में बीजेपी को ऑनलाइन मीटिंग्स ने पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं से जोड़े रखने में खासा मदद की।

प्रदेश पार्टी प्रमुख जायसवाल (जिन्होंने रोजाना हर जिला नेतृत्व के साथ ऑनलाइन बैठकें की थीं) अब प्रत्येक दिन शाम से पहले पार्टी की गतिविधियों पर दैनिक रिपोर्ट हासिल करते हैं। वह हर महीने कम से कम 45 बैठकें ऑनलाइन हर जिले की टीम के साथ करते हैं (फिजिकल बैठकों के अलावा उन्होंने फिर से इन्हें शुरू किया है), जबकि उनके महासचिव महीने में कम से कम 100 बैठकें करते हैं।

कोरोना काल ने बिहार बीजेपी के हर कार्यकर्ता को ऑनलाइन बैठकों के साथ सहज बना दिया है और अब इसका इस्तेमाल पार्टी के विस्तार से जुड़े कार्यक्रमों के लिए किया जा रहा है। बता दें कि जायसवाल मूल रूप से पश्चिमी चंपारण के बेतिया के हैं। पेशे से वह मेडिकल प्रैक्टिशनर और किसान रहे हैं।

“बिहार की ‘नल जल योजना’ अब ‘नल धन योजना’ है”: इसी बीच, बिहार विस में नेता प्रतिपक्ष और राजद नेता तेजस्वी यादव ने गुरुवार (23 सितंबर, 2021) को आरोप लगाया कि सीएम नीतीश कुमार की ‘‘हर घर नल जल’’ योजना निजी धनोपार्जन योजना बनकर रह गई है। उन्होंने पत्रकारों से कहा, ‘‘सीएम की ‘हर घर नल जल’ योजना दरअसल निजी धनोपार्जन योजना बन गई है। इस योजना ने भ्रष्टाचार की सारी पराकाष्ठा पार कर दी है। उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद जी ने अपनी बहु, दामाद और साले को कटिहार में ठेका दिया।’’

सफलता के चलते अनर्गल प्रलाप कर रहा विपक्ष- तारकिशोरः उधर, डिप्टी सीएम तारकिशोर प्रसाद ने ‘हर घर नल का जल’ को बिहार सरकार की महत्वाकांक्षी योजना बताते हुए कहा कि योजना की सफलता से घबराहट में विपक्ष अनर्गल प्रलाप कर रहा है। बहुप्रचारित योजना के तहत 53 करोड़ रुपए का ठेका कटिहार जिले में अपने करीबी रिश्तेदारों को देने संबंधी रिपोर्ट के बारे में तारकिशोर ने कहा कि उनके ऊपर लगाया गया आरोप तथ्यहीन और बेबुनियाद है और राजनीतिक साजिश का हिस्सा है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट