scorecardresearch

Delhi Confidential: गडकरी के कमरे में लगा वो हीटर जो इथेनॉल से चलता है, हिंदी को लेकर सिंधिया-थरूर के बीच जंग

नितिन गडकरी का कहना है कि अब हमें ग्रीन एनर्जी पर पूरा फोकस करना होगा, जिससे कार्बन उत्‍सर्जन एकदम जीरो हो और वह सस्‍ता भी हो।

Hit and Run case, Modi government, Increased the compensation, Rs 2 lakh. Nitin gadkari, Salman khan
केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Photo- Indian Express)

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने हाई-वे निर्माण कार्य को जो रफ्तार दी है, उसके लिए न केवल उनकी पार्टी के लोग बल्कि विपक्षी सांसद भी उनकी प्रशंसा करते हैं। गडकरी इन दिनों ग्रीन एनर्जी यानी क्‍लीन एनर्जी की दिशा में भी बेहद सक्रिय नजर आ रहे हैं। उन्‍होंने बायो-फ्यूल एनर्जी के साथ ऑर्गेनिक फार्मिंग के लिए पहल की है। इंडियन एक्‍सप्रेस के Delhi Confidential के मुताबिक, गडकरी ने राजधानी स्थित अपने विजिटर्स रूम में लगी एक गैस बर्नर जैसी चीज की ओर उन्‍होंने इशारा किया। गडकरी के मुताबिक, यह हीटर एक लीटर बायो इथेनॉल से 6-7 घंटे तक चलता है।

इस हीटर से कार्बन बिल्‍कुल भी नहीं निकलता है। गडकरी ने कहा कि इस तरह के आइटम को प्रयोग में लाना चाहिए, क्‍योंकि देश अब सस्‍ते एनर्जी सोर्स की तरफ बढ़ रहा है। ऐसे एनर्जी सोर्स जिनसे कार्बन उत्‍सर्जन बिल्‍कुल जीरो हो।

सिंधिया के हिंदी में बोलने पर थरूर ने कसा तंज

Delhi Confidential में बीजेपी नेता और केंद्रीय मंत्री ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया की भी बात करेंगे। गुरुवार को डीएमके नेता वेलुस्‍वामी पी. ने उनसे एक सवाल पूछा। सवाल इंग्लिश में किया गया था। सवाल यह था कि क्‍या UDAN स्‍कीम के तहत सरकार पलानी को एयरपोर्ट देगी, ताकि हिंदू तीर्थ यात्रियों को सुविधा मिल सके? सिंधिया ने इसका जवाब हिंदी में दिया। इस पर कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा कि मंत्री इंग्लिश और हिंदी दोनों में बोल सकते हैं, चूंकि सवाल तमिलनाडु के सांसद ने पूछा है, इसलिए जवाब इंग्लिश में दिया जाना चाहिए। इस पर सिंधिया ने कहा कि हिंदी में प्रॉब्‍लम क्‍या है? यहां ट्रांसलेटर्स हैं, यह बहुत ही हैरानी वाली बात है। इस पर डीएमके के दयानिधि मारन ने थरूर को याद दिलाया कि सिंधिया ने अब बीजेपी जॉइन कर ली है।

टीआरएस सांसद पर भड़के मल्लिकार्जुन खड़गे

टीआरएस सांसद के. केशव राव ने तेलंगाना के सीएम के चंद्रशेखर राव के उस बयान को दोहराया, जिसमें उन्‍होंने मौजूदा सरकार के कार्यकाल में सेक्‍युलरिज्‍म के लिए खतरा बताया तो कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे भड़क उठे और बोले कि अगर टीआरएस संविधान में बदलाव करना चाहती है तो कांग्रेस सबसे पहले पार्टी होगी जो विरोध में खड़ी होगी। खड़गे ने कहा, हम इसे कभी स्‍वीकार नहीं करेंगे।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट