ताज़ा खबर
 

Delhi Weather: दिल्ली में टूटा 118 साल का रिकॉर्ड, 2.4 डिग्री पहुंचा पारा; पूरे उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड

Delhi Cold Weather: मौसम विभाग के मुताबिक, 1901 के बाद यानी पूरे 118 साल में ये दूसरा दिसंबर है जब दिल्ली में इतनी कड़ाके की ठंड पड़ रही है।

Author नई दिल्ली | Updated: December 28, 2019 9:07 AM
cold weather, delhiदिल्ली में बढ़ी ठंड फोटो- इंडियन एक्सप्रेस

Delhi Cold Weather: शीतलहर की गिरफ्त में आई राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में शुक्रवार (27 दिसंबर) रात को न्यूनतम तापमान 2.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से तीन डिग्री कम और इस मौसम का सबसे कम तापमान है। मौसम विभाग के अनुसार अभी और तापमान गिरने की संभावना है। मौसम विभाग की माने तो 1901 के बाद (118 साल) में ये दूसरा दिसंबर है जब दिल्ली में इतनी कड़ाके की ठंड पड़ रही है। शुक्रवार को अधिकतम तापमान 13.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो सामान्य से सात डिग्री कम है। बताया जा रहा है कि हिमालय क्षेत्र (पहाड़ी क्षेत्रों) में लगातार हो रही बर्फबारी और तेज हवाओं के चलते मैदानी इलाकों में ठंड बढ़ गई है।

दिल्ली में मौसम की मार: वायु की धीमी गति, उच्च आर्द्रता स्तर और ठंडे मौसम के कारण शहर में शाम चार बजे वायु गुणवत्ता ‘अत्यंत खराब’ (373) की श्रेणी में दर्ज की गयी। मौसम विभाग के मुताबिक इस साल दिसंबर का महीना 1901 के बाद से दूसरा सबसे ठंडा महीना रहने की उम्मीद है। शहर में वर्ष 1997 के बाद पहली बार लोग दिसंबर में इतनी ठंड का सामना कर रहे हैं। कमोबेश समूचे उत्तर भारत में अभी ठंड का सितम जारी रहेगा।

Hindi News Today, 28 December 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की तमाम बड़ी खबरों को पढ़ने के लिए यहां क्लिक करे

मौसम विभाग का अनुमान: भारतीय मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा, ‘‘दिसंबर में औसत अधिकतम तापमान 20 डिग्री सेल्सियस से कम 1919, 1929, 1961 और 1997 में रहा है।’’ इस साल दिसंबर माह में गुरुवार तक औसत अधिकतम तापमान 19.85 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया और इसके 31 दिसंबर तक 19.15 डिग्री सेल्सियस तक पहुंच जाने की संभावना है। अधिकारी ने कहा, ‘‘अगर ऐसा होता है तो यह 1901 के बाद दूसरा सबसे सर्द दिसंबर होगा। दिसंबर 1997 में औसत अधिकतम तापमान 17.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।’’

ऐसा रहेगा मौसम: दिल्ली में लगातार 14वें दिन कड़ाके की सर्दी पड़ रही है और इससे पहले 1997 में ऐसा हुआ था जब ऐसे ही लगातार 13 दिन कड़ाके की सर्दी पड़ी थी। वर्ष 1992 के बाद दिल्ली में कड़ाके की ठंड केवल 1997, 1998, 2003 और 2014 में पड़ी थी। अगले सप्ताह हवा की दिशा में बदलाव के कारण राहत की उम्मीद है। मौसम विभाग के अनुसार एक “शीत दिवस” तब होता है जब अधिकतम तापमान सामान्य से कम से कम 4.5 डिग्री कम हो और “गंभीर ठंड का दिन” तब होता है जब अधिकतम तापमान सामान्य से लगभग 6.5 डिग्री सेल्सियस कम होता है।

Next Stories
1 संविधान विशेषज्ञ ने 2 साल पहले ही JPC को CAB पर दी थी चेतावनी- धर्मों का नाम न करें इस्तेमाल, पर नहीं मानी मोदी सरकार
2 पीएम मोदी की रैली में हर शख्स पर थी नजर, पहली बार AFRS के जरिए डेढ़ लाख चेहरों से हुआ मिलान, 2 साल में तीसरी बार टेक्निक इस्तेमाल
3 आदित्य ठाकरे को बनाया जाएगा कैबिनेट मंत्री, अजित पवार ने डिप्टी सीएम पद की शपथ ली
यह पढ़ा क्या?
X