ताज़ा खबर
 

AAP में शामिल हो सकते हैं केजरीवाल के पूर्व प्रधान सचिव, भ्रष्‍टाचार के मामले में CBI कर चुकी है अरेस्‍ट

जब राजेंद्र से पूछा गया कि क्‍या वह AAP में शामिल होंगे तो उन्‍होंने कहा, ''हां, यह AAP हो सकती है।''

15 दिसंबर को सीबीआई ने सीएम अरविंद केजरीवाल के मुख्‍य सचिव राजेंद्र कुमार के दफ्तर में छापा मारा था।

दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल के प्रधान सचिव रहे राजेंद्र कुमार जल्‍द ही आम आदमी पार्टी (AAP) में शामिल हो सकते हैं। पिछले साल सीबाआई द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद पहली बार एनडीटीवी को दिए इंटरव्‍यू में उन्‍होंने अपने पूर्व बॉस की पार्टी ज्‍वाइन करने की संभावना से इनकार नहीं किया। कुमार ने हाल ही में सेवा से जल्‍दी रिटायरमेंट की मांग की थी, अपने पत्र में उन्‍होंने आरोप लगाया था कि सीबीआई उनसे दिल्‍ली सीएम को भ्रष्‍टाचार में फंसाना चाहती थी। इंटरव्‍यू में उन्‍होंने कहा, ”मैं समाज सेवा जारी रखूंगी, चाहे वह राजनीति या किसी और रूप में क्‍यों न हो।” जब उनसे पूछा गया कि क्‍या वह AAP में शामिल होंगे तो उन्‍होंने कहा, ”हां, यह AAP हो सकती है।” 1989 कैडर के अधिकारी राजेंद्र ने कहा कि ऐसा इसलिए नहीं कि सीएम से उनके संबंध अच्‍छे थे, बल्कि काम को लेकर उनका रवैया एक जैसा है।

कुमार ने केजरीवाल के साथ अच्‍छे संबंधों के लिए आईआईटी बैकग्राउंड को जिम्‍मेदार नहीं ठहराया। कुमार के अनुसार वे केजरीवाल से पहली बार तब मिले थे तब उन्‍हें AAP की 49 दिन की सरकार में मुख्‍यमंत्री स्‍टाफ में पद ऑफर किया गया था। कुमार के अनुसार, उनपर सीबीआई केस इसलिए हुआ क्‍योंकि सबको लगता है कि वह केजरीवाल के करीबी हैं। कुमार पर शिक्षा विभाग में रहते हुए एक आईटी कंपनी का पक्ष लेकर 12 करोड़ रुपयों का नुकसान करने और कंप्‍यूटर्स के लिए 9.5 करोड़ रुपए का टेंडर देने का आरोप है। कुमार ने कहा कि उन्‍हें उसी विभाग (शिक्षा) में बेहतरीन काम के लिए 2008 में प्रधानमंत्री अवार्ड मिला था। कुमार के मुताबिक, AAP की पहली सरकार के इस्‍तीफे के बाद उनके लिए परेशानियां खड़ी हुईं।

कुमार ने 26 पन्नों का एक लेटर लिखकर सरकार से वॉलंटरी रिटायरमेंट मांगा है। पत्र में उन्होंने सीबीआई पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्‍होंने लिखा है, ‘सीबीआई ने मुझपर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ बयान देने के लिए दबाव डाला था और ऐसा करने पर मुझे छोड़ने की बात भी सीबीआई ने कही थी।’ उन्होंने सीबीआई पर आरोप लगाया कि उनसे जबरन मेल का एक्सेस हासिल किया गया और धमकी भी दी गई।

राजेंद्र कुमार ने आगे लिखा कि, ‘सीबीआई ने उन्हें और मुख्यमंत्री को फंसाने के लिए लोगों पर दबाव डाला और बहुत से लोगों की पिटाई भी की, जिससे उन्हें गंभीर चोटें आई हैं।’ लेटर में कुमार ने लिखा, ‘इस सिस्टम पर उन्हें बहुत विश्वास था, क्योंकि एक गरीब परिवार से आना वाला शख्स भी सिविल सर्विसेज एग्जाम में सफलता पाकर आईएएस बन गया था, लेकिन आज हालात बदल गए हैं।’

पीएम मोदी के मां से मिलने पर केजरीवाल ने कहा- “ढिंढोरा मत पीटिए, बूढ़ी मां और धर्म पत्नी को साथ रखिए”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App