प्रदूषणः वर्क फ्रॉम होम के साथ दिल्ली में हफ्ते भर के लिए स्कूल बंद, केजरीवाल ने कही प्रस्ताव तैयार करने की बात तो लोग बोले- प्रचार के बजाए काम किया होता तो…

दिल्ली सरकार का यह फैसला 15 नवंबर से प्रभावी होगा। वहीं 14 नवंबर से लेकर 17 नवंबर तक दिल्ली में सभी तरह के निर्माण कार्यों पर रोक लगा दी गई है।

प्रदूषण की वजह से दिल्ली में एक हफ्ते के लिए स्कूलों को बंद कर दिया गया है। (फोटो: पीटीआई)

दिल्ली में प्रदूषण की वजह से दिल्ली सरकार ने एक हफ्ते के लिए स्कूल बंद करने का ऐलान किया है। साथ ही सरकारी कर्मचारियों को भी वर्क फ्रॉम होम करने को कहा गया है। दिल्ली सरकार का यह फैसला 15 नवंबर से प्रभावी होगा। इसके साथ ही 14 नवंबर से लेकर 17 नवंबर तक दिल्ली में सभी तरह के निर्माण कार्यों पर रोक लगा दी गई है।

दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सोमवार से एक हफ्ते के लिए स्कूल बंद रहेंगे। सिर्फ वर्चुअल क्लास चलेंगी। 14-17 नवंबर तक कंस्ट्रक्शन एक्टिविटी का काम बंद किया जाएगा। सरकारी दफ्तरों का वर्क फ्रॉम होम किया जा रहा है तो दफ्तर बंद रहेंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि  प्राइवेट सेक्टर में एडवाइजरी जारी की जाएगी कि वहां भी ज्यादा से ज्यादा लोगों को वर्क फ्रॉम दिया जाए।

शनिवार को मीडिया से बात करते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट में संपूर्ण लॉकडाउन का सुझाव दिया गया था। हम अभी भी उसपर काम कर रहे हैं कि लॉकडाउन के क्या मायने होंगे। हम एक प्रस्ताव तैयार कर रहे हैं और इसे सुप्रीम कोर्ट के सामने रखेंगे। यह बहुत ही चरम कदम होगा। हम इसके लिए CPCB, SAFAR और केंद्र सरकार को विश्वास में लेंगे और चर्चा करेंगे। यदि ऐसे हालत बनते हैं कि दिल्ली के अंदर निजी वाहनों, निर्माण और औद्योगिक गतिविधियों को रोका जा सकता है। इसे प्रस्ताव के तौर पर हम कोर्ट के सामने रखेंगे।

प्रदूषण रोकने को लेकर अरविंद केजरीवाल के द्वारा प्रस्ताव तैयार किए जाने की खबर सामने आने पर कई सोशल मीडिया यूजर्स ने प्रतिक्रिया दी। मुकेश अग्रवाल नाम के एक ट्विटर यूजर ने लिखा कि साल भर प्रचार की जगह प्रदूषण नियंत्रण पर कार्य किए गए होते तो आज ऐसे हालात ही उत्पन्न नहीं होते। वहीं विपुल सहगल नाम के यूजर ने लिखा कि साल भर कुछ न करो बस अंत में लॉकडाउन लगा दो। लॉकडाउन न हो गया मजाक हो गया।

दिवाली के बाद से दिल्ली में प्रदूषण बढ़ता ही जा रहा है। दुनिया के दस सबसे ज्यादा प्रदूषित शहरों में दिल्ली पहले पायदान पर है। दिल्ली में हवा का गुणवत्ता स्तर 471 हो गया है। शनिवार को दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को लेकर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकार को जमकर फटकार लगाई। सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस ने दोनों सरकारों को यह बताने के लिए कहा कि हवा की गुणवत्ता को सुधारने के लिए क्या किया जा रहा है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट