ताज़ा खबर
 

Delhi Assembly Polls 2020: पूर्व विधायक राम सिंह ‘आप’ में शामिल

Delhi Assembly Polls 2020: केजरीवाल ने कहा कि पार्टी की नीतियों और दिल्ली सरकार के कामकाज से प्रभावित होकर लोग हमारे परिवार में शामिल हो रहे हैं।

सोमवार को एक और पूर्व विधायक राम सिंह नेताजी और अन्य तीन लोग मुख्यमंत्री केजरीवाल की मौजूदगी में ‘आप’ में शामिल हुए।

Delhi Assembly Polls 2020: दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेसी नेताओं के पार्टी छोड़ने का सिलसिला जारी है। मटिया महल के पूर्व विधायक शोएब इकबाल और कुछ पार्षदों के पार्टी छोड़ आम आदमी पार्टी (आप) में शामिल होने के बाद सोमवार को एक और पूर्व विधायक राम सिंह नेताजी और अन्य तीन लोग मुख्यमंत्री केजरीवाल की मौजूदगी में ‘आप’ में शामिल हुए। इनमें कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व सांसद महाबल मिश्रा के बेटे विनय मिश्रा भी शामिल हैं। वह पिछले विधानसभा चुनाव में पालम सीट से चुनाव हार गए थे।

केजरीवाल ने कहा कि पार्टी की नीतियों और दिल्ली सरकार के कामकाज से प्रभावित होकर लोग हमारे परिवार में शामिल हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी में उनका गर्मजोशी से स्वागत है। इस मौके पर नेताजी ने कहा कि वह ‘आप’ सरकार के कामकाज से प्रभावित हुए है और इस वजह से कांग्रेस छोड़ने का फैसला किया। वह दो बार बदरपुर विधानसभा सीट से चुनाव जीत चुके हैं। वह एक बार बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर और दूसरी बार निर्दलीय चुनाव जीते और बाद में कांग्रेस में शामिल हो गए। बवाना विधानसभा के रोहिणी वार्ड से पार्षद तथा सामाजिक कार्यकर्ता जय भगवान उपकारजी तथा गांधीनगर क्षेत्र से सामाजिक कार्यकर्ता नवीन दीपू चौधरी भी ‘आप’ में शामिल हो गए जो कांग्रेस में थे। दिल्ली विधानसभा की 70 सीटों के लिए मतदान आठ फरवरी को होगा।

‘आप’ को अपने नहीं, दूसरी पार्टियों के नेताओं पर भरोसा: शर्मा

कई नेताओं के कांग्रेस पार्टी छोड़ने पर दिल्ली कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता मुकेश शर्मा ने कहा है कि इससे साफ हो गया है कि ‘आप’ के विधायक चुनाव नहीं जीत सकते। यही कारण है कि दूसरे दल के नेताओं को पार्टी में शामिल कराया जा रहा है।

शर्मा ने यह भी कहा कि बीते दिनों कुछ अन्य नेता भी ‘आप’ में शामिल हुए थे। उन नेताओं को अहसास हो गया था कि पार्टी उन्हें उम्मीदवार नहीं बनाएगी। यही कारण है कि कुछ घंटे तक पार्टी की गतिविधियों में शामिल रहने वाले नेता बाद में ‘आप’ में शामिल हो गए। विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए दिल्ली कांग्रेस से जुड़े पूर्व विधायक, निगम पार्षद, पूर्व निगम पार्षद, नेताओं और कार्यकर्ताओं ने कुल 683 लोगों आवेदन किए हैं। शर्मा का आरोप है कि कांग्रेस जिन लोगों को टिकट के लिए मना कर चुकी है। उनसे दल बदल करवाकर हारी हुई लड़ाई जीतने का असफल प्रयास कर रही है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 महिलाओं के लिए अभी भी असुरक्षित दिल्ली, बढ़ा अपराध का आंकड़ा
2 कश्मीर: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- इंटरनेट का इस्तेमाल जीने के हक जैसा अधिकार, क्या है इसे रोकने की कानूनी प्रक्रिया
3 सही समझ’ के लिए दीपिका को मुझ जैसा सलाहकार रख लेना चाहिए, बाबा रामदेव ने छपाक एक्ट्रेस को दी नसीहत
ये पढ़ा क्या?
X