ताज़ा खबर
 

Delhi Assembly Polls 2020: दिल्ली में ‘दिल की बात कांग्रेस के साथ’ संवाद शुरू

Delhi Assembly Polls 2020: सांसद थरुर और सुभाष चोपड़ा ने कहा कि पार्टी चुनाव घोषणापत्र में दिल्ली की आम जनता के सुझावों को शामिल कर उनकी सीधी भागीदारी सुनिश्चित करना चहती है।

Author Updated: January 11, 2020 5:32 AM
दिल्ली विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस ने ‘दिल्ली में दिल की बात कांग्रेस के साथ’ संवाद कार्यक्रम की शुरुआत की।

Delhi Assembly Polls 2020: दिल्ली विधानसभा चुनाव को लेकर कांग्रेस ने शुक्रवार को लोगों को लुभाने के लिए ‘दिल्ली में दिल की बात कांग्रेस के साथ’ संवाद कार्यक्रम की शुरुआत की। इसका शुभारंभ सांसद डॉ. शशी थरुर ने दिल्ली प्रदेश कार्यालय में की। इस मौके पर विपक्ष पर हमला करते हुए शशी थरुर ने कहा कि दिल्ली में भाजपा और आम आदमी पार्टी के बीच गोपनीय तरीके से गठजोड़ हो चुका है। पर इस बार दिल्ली की जनता ने मन बना लिया है कि चुनाव में आप और भाजपा को सबक सीखाना है। दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा, शशी थरुर और डिजिटल कम्यूनिकेशन विभाग के राष्टÑीय अध्यक्ष रोहन गुप्ता ने इस दौरान एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया, जिसकी मदद से विधानसभा चुनाव की घोषणापत्र बनाने के लिए दिल्ली की आम जनता से राय ली जाएगी।

सांसद थरुर और सुभाष चोपड़ा ने कहा कि पार्टी चुनाव घोषणापत्र में दिल्ली की आम जनता के सुझावों को शामिल कर उनकी सीधी भागीदारी सुनिश्चित करना चहती है। इस चुनाव में दिल्ली के नौजवानों, महिलाएं, विद्यार्थियों, रेहरी-पटरी वाले, छोटे-मंझले और माध्यम वर्ग के सभी दुकानदारों और व्यापारियों के अलावा ई-रिक्शा चालकों व आॅटो चालकों तक पहुंच कर उनसे संवाद किया जाएगा।

पार्टी ने 9625777907 यह वॉट्सऐप नंबर और एक 800 1215 555 58 हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है। इसके साथ ही फेसबुक और ट्वीटर पर भी लोग अपनी राय दे सकते हैं। शशी थरुर और सुभाष चोपड़ा ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर आरोप लगाते हुए कहा कि जामिया विश्वविद्यालय व जेएनयू में हिंसा में घायल छात्रां से मिलने का समय नहीं है, जिससे यह साफ जाहिर है कि वो गैरजिम्मेदार मुख्यमंत्री हैं।

भाजपा ने किया नजरअंदाज, संयोजक ने भेजा इस्तीफा

चुनाव के चेहरे तलाशने के लिए शुरू हुई प्रक्रिया के साथ ही भाजपा में बवाल शुरू हो गया। प्रक्रिया के तहत मताधिकार से वचिंत किए जाने से नाराज भाजपा के आरडब्लूए सेल के संयोजक पंकज वधावन नाराज हैं। यह नाराजगी जाहिर करते हुए पार्टी को उन्होंने इस्तीफा सौंप दिया है। यह सेल लोकसभा व एमसीडी के चुनाव में सक्रिय था और इसकी मदद से दिल्ली की कॉलोनियों में रह रहे लोगों को जोड़ने की कोशिश की गई थी। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इस मामले में एक शिकायत प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी व संगठन पदाधिकारी सिद्धार्थन को भी भेजी गई है। इसके माध्यम से यह बताने की कोशिश की गई है कि इस बार की चयन प्रक्रिया में प्रकल्प, विभाग, प्रकोष्ठ समेत प्रत्याशी चयन के लिए मत का अधिकार तक नहीं दिया गया है।

इस वजह से पार्टी के कई वरिष्ठ नेता इस प्रक्रिया से बाहर हो गए हैं। इस प्रक्रिया के लिए पार्टी ने नई प्रक्रिया को अपनाया है। इससे पुराने सक्रिय नेताओं को दुख हुआ है। इस शिकायत के आधार पर यह इस्तीफा भेजा गया है। पार्टी सूत्र बताते हैं कि आरडब्लूए सेल की चुनाव व पार्टी के बड़े कार्यक्रमों में अहम भूमिका होती है। इनके माध्यम से नए कार्यकर्ताओं को जोड़ना और उन्हें पार्टी की गतिविधियों से जोड़ना जैसे काम किए जाते हंै। इसकी मदद से पार्टी ने बीते सालों में बजट पर चर्चा, जन कल्याण वर्ष, अपने सांसद से मिले, दिल्ली के दिल की बात आरडब्लूए के साथ जैसे कार्यक्रम किए हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Delhi Assembly Polls 2020: केंद्र सरकार ने दिल्ली के फंसे हुए काम पूरे किए: नड्डा
2 Delhi Assembly Polls 2020: छपाक फिल्म को लेकर ‘आप’ ने भाजपा को घेरा, सामाजिक मुद्दों पर बनी फिल्म से डरती है बीजेपी
3 Delhi Assembly Polls 2020: हरदीप पुरी ने दिल्ली सरकार पर लगाया आरोप, “सरकार बच्चों के भविष्य से खेल रही है”
ये पढ़ा क्या?
X