ताज़ा खबर
 

Delhi Elections 2020 से ऐन पहले BJP को अकाली दल का समर्थन, SAD नहीं लड़ रही चुनाव

इस मौके पर सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि बीजेपी संग हमारा राजनीतिक नहीं भावनात्मक गठबंधन है।

दिल्ली विधानसभा चुनाव में शिरोमणी अकाली दल ने भाजपा को समर्थन देने का फैसला किया है। (फोटो-ANI)

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 से ठीक पहले शिरोमणि अकाली दल ने बड़ा ऐलान किया है। दिल्ली के विधानसभा चुनाव में अकाली दल भले ही चुनाव नहीं लड़ रही हो लेकिन वह बीजेपी का समर्थन करेगी। भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा और अकाली दल प्रमुख सुखबीर सिंह बादल के बीच मुलाकात के दौरान इस बात का फैसला किया गया।

इस मौके पर सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि बीजेपी संग हमारा राजनीतिक नहीं भावनात्मक गठबंधन है। गठबंधन कभी टूटा ही नहीं था। हमारे बीच कुछ गलतफहमियां थी जिसे अब दूर कर लिया गया है। दोनों दलों का गठबंधन देश और पंजाब के हित एवं भविष्य तथा शांति के लिये है । इसमें लेन देन की कोई बात नहीं है । उन्होंने कहा कि कुछ संवादहीनता की स्थिति थी और यह दूर हो गयी है। हमारी पार्टी के सभी कार्यकर्ता पूरी ताकत से भाजपा के लिये जुटेंगे।

नड्डा और सुखबीर बादल के बीच संवाददाता सम्मेलन से पहले लम्बी वार्ता हुई । अकाली दल के दिल्ली का चुनाव नहीं लड़ने के निर्णय के बाद कई तरह की अटकलें सामने आ रही थी।बादल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने करतारपुर कारिडोर सहित अनेक कार्यो को आगे बढ़ाया है। शिरोमणि अकाली दल प्रमुख ने कहा कि हम संशोधित नागरिकता कानून के समर्थक है। पाकिस्तान और तालिबान के दौर में अफगानिस्तान से प्रताड़ित होकर आएं वहां के सिखों एवं अल्पसंख्यकों के मुद्दे को हमने लगातार उठाया । हमने मांग की थी कि इन्हें नागरिकता दी जाए।

भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘ भाजपा के साथ शिरोमणि अकाली दल का गठबंधन सबसे पुराना और मजबूत है । देश की जरूरतों के समय अकाली दल हमेशा आगे आता है ।’’ उन्होंने कहा कि आज अकाली दल ने दिल्ली में भाजपा को समर्थन देने का निर्णय किया है, और हम इसके लिये उनके आभारी हैं । बता दें कि इससे पहले नागरिकता संशोधित कानून को लेकर मतभेद के चलते शिरोमणि ने चुनाव नहीं लड़ने का फैसला लिया था।

(भाषा इनपुट्स के साथ)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 VIDEO: ‘नेता पढ़ा-लिखा हो जरूरी नहीं, निजी सचिव होते हैं, जेल अधीक्षक होते हैं’, योगी के मंत्री बोले- जेल मुझे थोड़े चलानी है
2 प्रशांत किशोर, पवन वर्मा JDU से बर्खास्त, नीतीश कुमार पहले ही दिखा चुके थे बाहर का ‘रास्ता’; पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते हुआ ऐक्शन
3 पटना एयरपोर्ट पर पत्रकारों से धक्कामुक्की, शरजील इमाम को ट्रांजिट रिमांड पर लाने के दौरान पुलिस ने कहा खबरदार
ये पढ़ा क्या?
X