ताज़ा खबर
 

केजरीवाल के ‘गारंटी कार्ड’ पर विरोधी पार्टियों का हमला, जुमला और झूठ का पिटारा बताया

दिल्ली में चरमराई सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था के लिए केजरीवाल सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि आज 3200 से ज्यादा बसें सड़कों से हट गई है, जो इस केजरीवाल सरकार के लिए शर्मनाक है।

Author Published on: January 20, 2020 5:15 AM
दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल। (Express Photo by Amit Mehra)

आम आदमी पार्टी के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के ‘गारंटी कार्ड’ पर हमला करते हुए दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सुभाष चोपड़ा ने कहा कि साल 2015 में हुए विधानसभा चुनाव में ‘आप’ ने 70 वादे किए थे। उनमें से एक भी वादा पूरा नहीं किया। अपनी संभावित हार से हताश और निराश पार्टी ने गारंटी कार्ड जारी करके दिल्ली के लोगों को फिर से गुमराह करने की कोशिश कर रही है। चोपड़ा ने इस गारंटी कार्ड को ‘जुमला कार्ड’ बताया है। उन्होंने यह भी कहा कि दिल्ली में एक भी नया विश्वविद्यालय केजरीवाल सरकार ने नहीं बनाया, जबकि 20 कॉलेज खोलने का वायदा किया था। आज अनधिकृत कॉलोनियों में पीने का पानी उपलब्ध ही नहीं है और न ही इन्होंने पानी का कोई नया संयंत्र लगाया है और न ही यूजीआर। एक भी नया अस्पताल न बनाने वाली केजरीवाल सरकार ने अब भी नया अस्तपाल बनाने की बात न कहकर अपने इरादों को साफ कर दिया है।

दिल्ली में चरमराई सार्वजनिक परिवहन व्यवस्था के लिए केजरीवाल सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि आज 3200 से ज्यादा बसें सड़कों से हट गई है, जो इस केजरीवाल सरकार के लिए शर्मनाक है। उन्होंने यह भी कहा कि दिल्ली मेट्रो के तीसरे चरण का काम तीन साल पीछे चल रहा है और चौथे चरण का काम पांच साल पीछे चल रहा है। केजरीवाल लोगों को झूठा दिलासा क्यों दे रहे है? कांग्रेस का कहना है कि यमुना को प्रदूषण मुक्त करने व ज्यादा पेड़ लगाने का वादा करने वाले केजरीवाल पहले दिल्ली की जनता को यह बताए कि दिल्ली में हरित क्षेत्र कम क्यों हुआ? ककरोला नहर से यमुना तक कालोनियों के सीवर के लिए 3600 करोड़ रुपए लागत से बनाए जा रहे इंटरसेप्टर के काम को क्यों रोका गया? सुभाष चोपड़ा ने कहा कि नरेला में आज भी 32000 मकान बने खड़े है जिन्हें इस सरकार ने किसी को नहीं दिया।

भाजपा ने मांगा हिसाब

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने रविवार को आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल के जारी किए जाने वाले गारंटी कार्ड को अगले पांच साल के लिए दिल्ली की जनता को बोले जाने वाले झूठों की कड़ी में एक और बढ़ोतरी बताया है। तिवारी ने कहा कि वो दस कामों की गारंटी देने से पहले उन 70 वादों का हिसाब दें जो उन्होंने वर्ष 2015 के चुनाव में दिल्ली की जनता से किए थे। दिल्ली के मुख्यमंत्री ने दिल्ली की जनता से 70 वादे तो किए लेकिन जब पूरा करने की बारी आई तो और नए वादे करके जनता को गुमराह करने की कोशिश कर रहे है।

तिवारी ने कहा कि 200 यूनिट मुफ्त बिजली वाली बात कहने वाले मुख्यमंत्री ने बिजली कंपनियों को मार्च तक ही बिजली मुफ्त देने का आदेश क्यों दिया है। तारों के जंजाल को हटाने की गारंटी देने वाले केजरीवाल बताएं कि यह काम पांच साल में क्यों नहीं हुआ। शिक्षा को लेकर क्रांतिकारी परिवर्तन की बात करने वाले मुख्यमंत्री बताएं कि 500 नए स्कूल और 20 नए कॉलेज दिल्ली में कहां है, हर नागरिक को मुफ्त इलाज का दावा करने वाले पहले मोहल्ला क्लीनिक और फिर दिल्ली सरकार के अस्पतालों की हालत पांच साल में क्यों नहीं सुधार पाए।

उन्होंने कहा कि कूड़े का पहाड़ हटाने की गारंटी देने वाले मुख्यमंत्री पांच साल तक कुछ नहीं कर पाए। निगम ने कूड़े के पहाड़ हटाने की मशीनें लगा दी है जो अपना काम तेजी से कर रही है और जल्द ही कूड़े के पहाड़ पूरी दिल्ली से हटाने का काम भाजपा शासित निगम करने जा रही है। सीसीटीवी और स्ट्रीट लाईट लगाने का वादा 2015 का था जो लगाए गए वो चलते ही नहीं है और मुख्यमंत्री फिर से वही पुराने वादे दोहरा रहे हैं और अब उन्हें गारंटी का नाम देकर जनता को गुमराह कर रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 तीनों पार्टियों ने निगम पार्षदों पर दांव लगाया
2 उत्कृष्ट पत्रकारिता के लिए रामनाथ गोयनका पुरस्कार आज प्रदान करेंगे राष्ट्रपति कोविंद
3 भारत ने परमाणु हमले में सक्षम 3500 किलोमीटर की रेंज वाली K-4 बैलेस्टिक मिसाइल का किया सफल परीक्षण, INS Arihant पर हो सकती है तैनाती
ये पढ़ा क्या?
X