ताज़ा खबर
 

Delhi Assembly Polls 2020: अंतिम दिन परचा भरने उमड़ा छोटे-बड़े नेताओं का सैलाब, आकड़ा 600 के पार

Delhi Assembly Polls 2020: मंगलवार 11 बजे से दोपहर बाद तीन बजे तक एसडीएम कार्यालयों में दाखिल हो चुके सभी नागरिकों के उम्मीदवारी के दावों को अधिकारियों ने स्वीकार किया।

Author नई दिल्ली | Updated: January 23, 2020 4:24 AM
दिल्ली विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान कांग्रेस उम्मीदवार पार्टी के उम्मीदवार।

Delhi Assembly Election 2020: दिल्ली विधानसभा चुनाव में परचा भरने के लिए अंतिम आखिरी तारीख पिछले सात दिनों पर भारी पड़ी। सात दिनों में जितने लोगों ने नामांकन भरा उससे ज्यादा लोग आखिरी दिन यानि मंगलवार को परचा भरने पहुंचे। चुनाव आयोग के मुताबिक 14 जनवरी से सोमवार तक 327 उम्मीदवारों ने परचा भरा था लेकिन मंगलवार को यह आकड़ा 600 को पार कर गया। जबकि प्रतिरूपी (डमी) उम्मीदवारों को शामिल कर लिया जाए तो यह संख्या 1473 को पार कर गई है। सोमवार तक डमी उम्मीदवारों को मिलाकर चुनाव लड़ने के दावेदारों की सूची 722 थी, जो एक ही दिन में मंगलवार को दोगुनी हो गई। परचा वापसी की तारीख 24 जनवरी है। इसके बाद चुनाव मौदान में डटने वाले उम्मीदवारों की अंतिम संख्या सामने आएगी।

मंगलवार 11 बजे से दोपहर बाद तीन बजे तक एसडीएम कार्यालयों में दाखिल हो चुके सभी नागरिकों के उम्मीदवारी के दावों को अधिकारियों ने स्वीकार किया। निर्वाचन अधिकारियों के यहां देर रात तक नामांकन प्रक्रिया चलती रही। कार्यालयों पर प्रत्याशियों की संख्या अधिक होने की चलते नामांकन प्रक्रिया रात्रि 10 बजे तक जारी रही। हालात यह रहे कि दिल्ली चुनाव अधिकारी कार्यालय रात दस बजे तक सभी 70 सीटों का अंतिम आकड़ा मुहैया नहीं करा सका। चुनाव अधिकारी के मुताबिक 55 सीटों पर देर रात नौ बजे तक 592 लोग परचा भर चुके थे और प्रक्रिया जारी थी। दिल्ली में 8 फरवरी को विधानसभा चुनाव के लिए वोट डाले जाएंगे और नतीजे 11 फरवरी को आएंगे।

साथ ही शकूरबस्ती विधानसभा क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी व पूर्व विधायक डॉ एससी वत्स ने मंगलवार को कंझावला एसडीएम कार्यालय में अपना नामांकन दाखिल किया। दक्षिणी दिल्ली नगर निगम में कांग्रेस दल के नेता अभिषेक दत्त ने भी मंगलवार को गुरुद्वारा सिंह साबिह कोटला मुबारकपुर से शुरू हुए एक ऐसिहासिक रोड शो के बाद कस्तूरबा नगर विधानसभा सीट से अपना नामांकन दाखिल किया। अभिषेक दत्त एंड्रयूजगंज से दो कार्यकाल से निगम पार्षद हैं। अभिषेक दत्त एक आॅटो रिक्शा पर एसडीएम कार्यालय महरौली पहुंचे।

करावल नगर विधानसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार अरबिंद सिंह ने नंद नगरी एसडीएम कार्यालय में नामांकन किया। समर्थकों के साथ अरबिंद का काफिला करावल नगर से नंद नगरी एसडीएम कार्यालय तक पहुंचा। दिल्ली विश्वविद्यालय से पढ़ाई कर चुके अरबिंद सिंह कांग्रेस के संगठन अखिल भारतीय संगठित कामकार कांग्रेस के अध्यक्ष हैं। साथ ही नेशनल एसोसिएशन आॅफ स्ट्रीट वेंडर्स आॅफ इंडिया (नासवी) के राष्ट्रीय संयोजक भी हैं। बदरपुर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा, जनता दल (एकी) और लोक जनशक्ति पार्टी के संयुक्त उम्मीदवार रामवीर सिंह बिधूड़ी ने मंगलवार को अपना नामांकन पत्र दाखिल किया।

बिधूड़ी मंगलवार सुबह अपने समर्थकों के साथ अपने घर से समर्थकों के हुजूम के साथ नामांकन पत्र दाखिल करने निकले और सादगी के साथ संसदीय मार्ग स्थित जिला निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय पहुंचे। दिल्ली विधानसभा का तीन चुनाव जीत चुके बिधूड़ी भाजपा के टिकट पर लगातार तीसरी बार बदरपुर विधानसभा क्षेत्र से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। बदरपुर विधानसभा क्षेत्र में इस बार उनका मुकाबला आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार राम सिंह नेताजी से हैं।

विश्वास नगर से कांग्रेस प्रत्याशी गुरचरन सिंह राजू ने मंगलवार को नंदनगरी स्थित एसडीएम कार्यालय में नामांकन पत्र दाखिल किया। मंगलवार सुबह प्रीत विहार स्थित दुर्गा मंदिर में पूजा करने के बाद गुरचरन का काफिला मधुबन, निर्माण विहार, चित्रा विहार, विश्वास नगर, हरगोबिंद एन्क्लेव, एजीसीआर, आर्य नगर, आनंद विहार होते हुए नंद नगरी पहुंचा। गुरचरन सिंह ने कहा नगर निगम में भाजपा और केंद्र में बीजेपी तथा दिल्ली में जुमलेबाज की सरकार को लोगों ने देख लिया। साथ ही पटपड़गंज सीट से मयूर विहार के पूर्व निगम पार्षद सुरजीत सिंह ने मंगलवार को गीता कॉलोनी में नामांकन दाखिल किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Delhi Assembly Polls 2020: वामपंथी पार्टियों के सामने ‘एक हजार’ चुनौती, 18 उतारेंगे उम्मीदवार मैदान में
2 Delhi Assembly Election 2020: शीला युग के अंत का संकेत है यह चुनाव
3 Delhi Assembly Election 2020: टिकट बंटवारे में सावधानी से कांग्रेस ने खेला दांव
ये पढ़ा क्या?
X