ताज़ा खबर
 

Delhi Assembly Election 2020: लंबी कतार, छह घंटे का इंतजार

Delhi Assembly Election 2020: मंगलवार को अरविंद केजरीवाल का काफिला समय से पहले ही नामांकन केंद्र तक पहुंच गया था।

Author नई दिल्ली | Updated: January 22, 2020 6:13 AM
नामांकन करने के लिए केजरीवाल अपने पिता के साथ 12:30 बजे नामांकन केंद्र पहुंचे थे

Delhi Assembly Election 2020: नामांकन के आखिरी दिन आम आदमी पार्टी के राष्टÑीय संयोजक व नई दिल्ली प्रत्याशी अरविंद केजरीवाल ने छह घंटे के भी अधिक समय तक इंतजार के बाद अपना नामांकन दाखिल किया। नामांकन करने के लिए केजरीवाल अपने पिता के साथ 12:30 बजे नामांकन केंद्र पहुंचे थे। अरविंद केजरीवाल का 45वां नंबर था। इस कारण छह घंटे तक प्रतीक्षा करनी पड़ी।

मंगलवार को अरविंद केजरीवाल का काफिला समय से पहले ही नामांकन केंद्र तक पहुंच गया था। उन्होंने अपना पर्चा दाखिल करने के लिए नई दिल्ली उपायुक्त कार्यालय, जाम नगर में पर्चा भरा। वे नामांकन केंद्र तक एक खुली गाड़ी से पहुंचे थे। अधिक समय लगने की वजह से उनके पिता पहले ही नामांकन केंद्र से चले गए थे। केजरीवाल के साथ आप नेता पंकज गुप्ता व उनके समर्थक मौजूद थे। केजरीवाल ने कहा कि पहली बार इस प्रकार का गठबंधन देखने को मिला है। इन सब का केवल एक ही मकसद है कि किस प्रकार से उनको इस चुनाव में हराया जाए। उन्होंने अपने ट्वीट में कहा कि एक तरफ भाजपा, जद (एकी), लोजपा, जजपा, कांग्रेस व राजद हैं, वहीं दूसरी तरफ स्कूल, अस्पताल, पानी-बिजली, मुफ्त बस सेवा और जनता है। मेरा मकसद है-भ्रष्ष्टाचार को हराने और दिल्ली को आगे ले जाना। उनका मकसद है मुझे हराना।

मुख्यमंत्री केजरीवाल के नामांकन से ठीक पहले जामनगर केंद्र पर हंगामा हुआ। इस वजह से मुख्य अधिकारी को बाहर आना पड़ा। हंगामा कर रहे लोगों की शिकायत थी कि चुनाव अधिकारी पहले आए लोगों को छोड़कर उनका पर्चा भरवा रहे हैं। इसके विरोध में कुछ लोग परिसर में धरने पर भी बैठ गए। बाद में चुनाव अधिकारी के आने के बाद आगे की नामांकन प्रक्रिया शुरू हुई।

बाद में अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया कि अपना नामांकन पत्र भरने का इंतजार कर रहा हूं। मेरा टोकन नंबर 45 है। यहां नामांकन दाखिल करने के लिए अनेक लोग हैं। मुझे खुशी है कि इतने अधिक लोग लोकतंत्र में भागीदारी कर रहे हैं।

आप के राष्ट्रीय संयोजक केजरीवाल को अपना नामांकन पत्र सोमवार को दाखिल करना था, लेकिन अपने रोड शो के कारण विलंब के कारण वे ऐसा नहीं कर पाए। वहीं, इस मामले में दिल्ली आप संयोजक गोपाल राय ने बताया कि आज अचानक बिना कागज के लोग जाकर लाइन में खड़े हो गए थे। इससे मन में प्रश्न आ रहा है कि इसके पीछे कोई सोचा समझा खेल है कि इसपर वह कहावत सटीक बैठती है कि जिसमें कहा गया है कि खिसियानी बिल्ली खंबा नोचे। अब कुछ करने की हालत नहीं बची है तो चलो इतना ही सही। कोई नहीं अब एक बजे की जगह नामांकन छह बजे होगा, लेकिन नामांकन तो होगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
शाहीन बाग LIVE
X