हेलिकॉप्टर क्रैश मामले में तीनों सेना के दल ने शुरू की जांच, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने दोनों सदनों में दी अहम जानकारी

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सदन को जानकारी दी कि इस दुर्घटना में हेलीकॉप्टर में सवार कुल 14 लोगों में से 13 की मृत्यु हो गयी जिनमें सीडीएस जनरल रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत भी शामिल हैं।

rajnath singh,helicopter crash, CDS Bipin Rawat
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने संसद के दोनों सदनों में हेलिकॉप्टर क्रैश को लेकर जानकारी दी(फोटो सोर्स: ANI/PTI)।

राजनाथ सिंह रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बृहस्पतिवार को संसद के दोनों सदनों में बयान दिया कि तमिलनाडु के कुन्नूर में बुधवार को हुए हेलिकॉप्टर हादसे की जांच एयर मार्शल मानवेंद्र सिंह की अगुवाई में तीनों सेनाओं के एक दल ने शुरू कर दी है। बता दें कि इस हादसे में देश के पहले प्रमुख रक्षा अध्यक्ष (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका रावत सहित 13 लोगों की मृत्यु हो गई।

जांच शुरू हुई: राजनाथ सिंह ने बताया कि इस हेलिकॉप्टर क्रैश में एक मात्र जीवित बचे ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह का वेलिंगटन के सैन्य अस्पताल में इलाज चल रहा है। वो जीवन रक्षक प्रणाली पर हैं। रक्षा मंत्री ने कहा कि उन्हें बचाने के लिये सभी प्रयास किये जा रहे हैं। लोकसभा के बाद राज्यसभा में उन्होंने कहा, ‘‘एयर मार्शल मानवेंद्र सिंह की अध्यक्षता में तीनों सेनाओं का एक दल इस दुर्घटना की जांच करेगा। इस दल ने कल वेलिंगटन पहुंचकर जांच का काम शुरू कर दिया है।’’

सिंह ने बताया कि इस दुर्घटना में हेलीकॉप्टर में सवार कुल 14 लोगों में से 13 की मृत्यु हो गयी जिनमें सीडीएस जनरल रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत भी शामिल हैं।

मृतक सैन्य कर्मियों के नाम: सिंह ने बताया कि अन्य मृतकों की जानकारी देते हुए कहा कि सीडीएस के रक्षा सलाहकार ब्रिगेडियर लखविंदर सिंह लिड्डर, सीडीएस के सैन्य सलाहकार एवं स्टाफ अफसर लेफ्टिनेंट कर्नल हरजिंदर सिंह, विंग कमांडर प्रतीक सिंह चौहान, स्क्वाड्रन लीडर कुलदीप सिंह, जूनियर वारंट अधिकारी राणा प्रताप दास, जूनियर अधिकारी अरक्कल प्रदीप, हवलदार सतपाल, नायक गुरसेवक सिंह, नायक जितेन्द्र कुमार, लांस नायक विवेक कुमार और लांस नायक वीर साई तेजा इस हादसे का शिकार हुए।

अंतिम संस्कार को लेकर तैयारी: रक्षा मंत्री ने सदन को जानकारी दी कि दिवंगत सैन्य कर्मियों के पार्थिव शरीर वायु सेना के विमान से आज शाम तक दिल्ली लाया जायेगा। उन्होंने कहा कि जनरल रावत और अन्य दिवंगत सैन्य कर्मियों का उचित सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा। दिल्ली में शीर्ष नेतृत्व द्वारा श्रद्धांजलि दी जाएगी।

जानकारी के मुताबिक सभी मृतक सैन्य कर्मियों के परिजन दिल्ली पहुंचकर सम्मान समारोह में शामिल होंगे। इस दौरान उन्हें सभी आवश्यक सहायता दी जायेगी। सैन्य कर्मियों की पहचान किये जाने के बाद करीबी रिश्तेदारों के परामर्श से उनका उचित सैन्य संस्कार सुनिश्चित किया जाएगा।

पहचान के बाद परिवार को सौंपे जाएंगे शव: नायक जितेंद्र कुमार की पहचान कर उनके शव को सौंपने से पहले एक टीम आज सुबह सीहोर पहुंची और जितेंद्र कुमार के घर से डीएनए टेस्ट के लिए सैंपल लिया। बता दें कि भयंकर हादसे के चलते शवों को पहचानना मुश्किल है। ऐसे में जरूरी पुष्टि के बाद ही शव को अंतिम संस्कार के लिए सौंपा जाएगा।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट