ताज़ा खबर
 

और मजबूत होगा रक्षा क्षेत्र! राजनाथ ने 499 करोड़ रुपए के बजट को दी मंजूरी

यह सैन्य उपकरणों और हथियारों के आयात में कमी लाने और भारत को रक्षा विनिर्माण का केंद्र बनाने की सरकार की कोशिश का हिस्सा है।

Edited By रुंजय कुमार नई दिल्ली | Updated: June 13, 2021 11:45 PM
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने रक्षा क्षेत्र में अनुसंधान और नवोन्मेष के लिए करीब 499 करोड़ के बजट को मंजूरी दे दी। (एक्सप्रेस फोटो: गजेन्द्र यादव)

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अगले पांच वर्षों के लिए रक्षा क्षेत्र में अनुसंधान और नवोन्मेष के लिए करीब 499 करोड़ रुपये के बजट को मंजूरी दी है। रक्षा मंत्रालय ने रविवार को कहा कि रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भरता के लक्ष्य को हासिल करने के मकसद से करीब 300 स्टार्टअप, लघु, छोटे और मध्यम उद्योगों (एमएसएमई) और व्यक्तिगत अन्वेषकों को वित्तीय मदद मुहैया कराने के लिए इस निधि का इस्तेमाल किया जाएगा।

यह योजना सैन्य उपकरणों और हथियारों के आयात में कमी लाने और भारत को रक्षा विनिर्माण का केंद्र बनाने की सरकार की कोशिश का हिस्सा है। मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने अगले पांच वर्षों के लिए रक्षा उत्कृष्टता नवोन्मेष (आईडेक्स)-रक्षा नवोन्मेष संगठन (डीआईओ) के लिए 498.8 करोड़ रुपये के बजट को मंजूरी दी है।’’

रक्षा मंत्रालय ने कहा कि आईडेक्स-डीआईओ का मुख्य उद्देश्य रक्षा तथा वैमानिकी क्षेत्र में आत्मनिर्भरता तथा स्वदेशीकरण है। मंत्रालय ने कहा, ‘‘अगले पांच साल के लिए 498.8 करोड़ रुपये के बजट सहयोग वाली इस योजना का मकसद डीआईओ रूपरेखा के तहत करीब 300 स्टार्टअप/एमएसएमई/व्यक्तिगत अन्वेषकों और 20 साझेदार संगठनों को वित्तीय मदद मुहैया कराना है।’’

इसके अलावा रक्षा मंत्रालय ने कहा कि डीआईओ नवोन्मेषकों के लिए भारतीय रक्षा उत्पादन उद्यम के साथ बातचीत के माध्यम तैयार करने में मदद करेगा। मंत्रालय ने कहा, ‘‘इस योजना से भारतीय रक्षा और वैमानिकी क्षेत्र को कम समय में अपनी जरूरतों को पूरो करने के लिए नवीन, स्वदेशी और नवोन्मेषी प्रौद्योगिकियां तेजी से विकसित करने में मदद मिलेगी।’’

पिछले कुछ वर्षों में सरकार ने भारत को रक्षा उत्पादन का केंद्र बनाने के लिए कई सुधारात्मक कदम उठाए हैं और कई पहलों की शुरुआत की है।

Next Stories
1 Shiv Sena के साथ 2014 से 19 के बीच “गुलाम” जैसों किया गया सलूक, सियासत से साफ करने तक की हुईं कोशिशें- संजय राउत का दावा
2 VIDEO: जब सतीश चंद्र मिश्रा ने मायावती को मिलाया फोन और फिर प्रकाश सिंह बादल को पकड़ाया
3 14 साल पहले देश के तीसरे सबसे अमीर व्यक्ति थे अनिल, पर अब भाई मुकेश से बहुत पीछे, मौजूदा नेटवर्थ 0
ये पढ़ा क्या?
X