X

दिल्ली में नाइट्रोजन डाइऑक्साइड का स्तर घटा

‘शहरी दुनिया में कोविड-19’ पर संयुक्त राष्ट्र महासचिव के नीति सार में कहा गया कि कोविड-19 के अनुमानित 90 फीसद मामलों में, शहरी इलाके वैश्विक महामारी के केंद्र बन गए हैं। इसने इस बात का भी इशारा किया कि कई नए वैज्ञानिक अध्ययन दिखाते हैं कि खराब वायु गुणवत्ता का कोविड-19 की वजह से अधिक मृत्यु दर से सह संबंध है।

संयुक्त राष्ट्र की एक नीति के सार में कहा गया कि नई दिल्ली में पूर्णबंदी के दौरान नाइट्रोजन डाइआॅक्साइड का स्तर 70 फीसद से अधिक घट गया। इसमें आगाह किया है कि अगर वायु प्रदूषण को रोकने की नीति अपनाए बिना और कार्बन कम करने को बढ़ावा दिए बिना अगर शहर फिर से खुलते हैं तो पर्यावरणीय लिहाज से हुए लाभ अस्थायी रह जाएंगे।

‘शहरी दुनिया में कोविड-19’ पर संयुक्त राष्ट्र महासचिव के नीति सार में कहा गया कि कोविड-19 के अनुमानित 90 फीसद मामलों में, शहरी इलाके वैश्विक महामारी के केंद्र बन गए हैं। इसने इस बात का भी इशारा किया कि कई नए वैज्ञानिक अध्ययन दिखाते हैं कि खराब वायु गुणवत्ता का कोविड-19 की वजह से अधिक मृत्यु दर से सह संबंध है।

शहरी इलाकों की आबादी और वैश्विक एवं स्थानीय अंतरसंपर्क का उच्च स्तर विषाणु के प्रसार के प्रति उन्हें संवेदनशील बनाता है। सार में कहा गया कि कोरोना को फैलने से रोकने के लिए देशों द्वारा उनकी अर्थव्यवस्था को विराम देने के दौरान प्रदूषण एवं ग्रीनहाउस गैस उत्सर्जन भले ही काफी घट गया हो लेकिन ये पर्यावरणीय लाभ अस्थायी हो सकते हैं अगर अर्थव्यवस्थाओं को खोलते वक्त वायु प्रदूषण को रोकने और कार्बन कम करने के कार्य को बढ़ावा देने की नीति नहीं अपनाई जाती है।

इसमें कहा गया कि नई दिल्ली में नाइट्रोजन डाइआक्साइड का स्तर 70 फीसद, चीन के शहरी इलाकों में 40 फीसद, बेल्जियम व जर्मनी में 20 फीसद और अमेरिका के इलाकों में 19-40 फीसद तक कम हुआ।

नई दिल्ली में नाइट्रोजन डाइआॅक्साइड का स्तर 70 फीसद, चीन के शहरी इलाकों में 40 फीसद, बेल्जियम और जर्मनी में 20 फीसद और अमेरिका के विभिन्न इलाकों में 19-40 फीसद तक कम हुआ।

Next Story