संसद की प्रोडक्टिविटी को अटेंडेंस कहने पर अंजना ने टोका तो कहने लगे टीएमसी प्रवक्ता- आपको देखकर स्लिप ऑफ टंग

एंकर अंजना ओमकश्यप ने कहा कि “ममता बनर्जी दिल्ली आई हैं। लेकिन कहा जा रहा है कि उनकी जो दिल्ली को लेकर अपनी महत्वाकांक्षाएं हैं, उसकी वजह से वह दिल्ली आई हैं।” इस पर टीएमसी प्रवक्ता मानव जायसवाल ने कहा कि “दीदी महत्वाकांक्षा की वजह से नहीं आई हैं, वह दिल्ली सेवा भाव से आई हैं।”

mamata banerjee, pm narendra modi
सीएम ममता बनर्जी ने पीएम नरेंद्र मोदी संग की मुलाकात (फोटो सोर्स- पूर्व IAS सूर्य प्रताप सिंह ट्विटर)

बंगाल में भारी जीत से उत्साहित तृणमूल कांग्रेस की नेता ममता बनर्जी दिल्ली में डेरा डाली हैं। कहा जा रहा है कि वह अब प्रदेश के साथ-साथ केंद्र की राजनीति में भी नेतृत्व करना चाहती है। इसको लेकर राजनीतिक हलकों में काफी बहस चल रही है। आजतक न्यूज चैनल पर डिबेट में भी इस पर खूब चर्चा हुई। एंकर अंजना ओमकश्यप के साथ डिबेट में टीएमसी प्रवक्ता ने  इस पर जोरदार ढंग से अपनी बात रखी।

एंकर अंजना ओमकश्यप  ने टीएमसी प्रवक्ता से कहा कि “ममता बनर्जी दिल्ली आई हैं। लेकिन कहा जा रहा है कि उनकी जो दिल्ली को लेकर अपनी महत्वाकांक्षाएं हैं, उसकी वजह से वह दिल्ली आई हैं।” इस पर टीएमसी प्रवक्ता मानव जायसवाल ने कहा कि “दीदी महत्वाकांक्षा की वजह से नहीं आई हैं, वह दिल्ली सेवा भाव से आई हैं। महत्वाकांक्षी व्यक्ति वह होता है, जिसका अपना स्वार्थ होता है। और अगर दिल्ली आकर वह प्रधानमंत्री बनती हैं तो उनका एक ही मंत्र है शिक्षा, स्वास्थ्य और बेटी की सुरक्षा, जो बीजेपी के पास नहीं है।”

अंजना ओम कश्यप ने उनको टोकते हुए पूछा कि तब उद्धव ठाकरे और शरद पवार जी का क्या होगा? संजय राउत ने आज ही कहा है कि उद्धव ठाकरे देश संभालने के लिए तैयार हैं। टीएमसी नेता मानव जायसवाल ने कहा कि “उद्धव ठाकरे और शरद पवार जी अच्छे नेता हैं। सही समय पर सही चेहरा आपको दिख जाएगा।” कहा कि “आप डेटा की बात करती हैं, बीजेपी के प्रवक्ता गौरव भाटिया कभी 64 फीसदी और कभी 10 फीसदी की बात करते हैं, लेकिन जो लोग ऑक्सीजन के बिना देश में मारे गए, उनका डेटा इनके पास नहीं है। प्रवासी मजदूर मारे गए, उनके डेटा इनके पास नहीं हैं। टैक्स की चिंता है और टैक्स पेयर्स की चिंता नहीं है। इतने लोग जो मारे गए हैं, किसान मारे गए हैं। क्या बीजेपी को चिंता है।”

बोले “आठ महीने से हमारे किसान वहां बार्डर पर खड़े हैं, कौन से बार्डर दिल्ली में, विश्व में कौन सा ऐसा देश है, जहां एक प्रांत के इर्द-गिर्द बार्डर बनाया जाता है कि किसान नहीं आ पाए। शर्म आती है। दुख होता है क्योंकि इनके पास डेटा है कि संसद में अटेंडेंस नहीं हो पाती है, लेकिन जो शवों का अंबार लगा था गंगा में उसका डेटा इनके पास नहीं है। राज्यसभा में अटेंडेंस नहीं है।”

इस पर अंजना ओमकश्यप ने कहा कि अटेंडेंस नहीं प्रोडक्टिविटी बोलो बाबा, अटेंडेंस नहीं होता है प्रोडक्टिविटी होती है। इस पर मानव जायसवाल ने कहा कि क्या करें मैडम आपको देखकर स्लिप ऑफ टंग हो जाता है। अंजना ने कहा कि स्लिप ऑफ टंग, यहां क्या से क्या हो जाता है।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।