ताज़ा खबर
 

राहुल गांधी का एक गुण बताइए जिससे देश उनपर भरोसा कर ले- गौरव वल्लभ से बोले संबित पात्रा, देखिए रिएक्शन

संबित पात्रा ने कहा, "मैं पूछता हूं कि कि क्या राहुल गांधी, योगेंद्र यादव, अरुंधति राय किसान हैं? ये कौन से टेंट में रहते हैं? मुझे बताइए, ये कौन से किसान हैं? बताइए ये कौन से खेत में काम करते हैं। कौन सा ट्रैक्टर चलाते हैं?"

farmers protest, farmerसंबित पात्रा ने कहा था कि वहां कांग्रेस ने अपना टेंट लगाया है।

किसानों के मुद्दे पर लगातार चल रहा विरोध-प्रदर्शन के बीच टेलीविजन न्यूज चैनलों पर भी एक-दूसरे की खिंचाई और बहस जारी है। बुधवार को आजतक चैनल के दंगल कार्यक्रम में डिबेट के दौरान एंकर रोहित सरदाना ने बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा और कांग्रेस के प्रवक्ता गौरव बल्लभ से पूछा कि विवाद खत्म क्यों नहीं हो रहा है?

संबित पात्रा ने कांग्रेस पर यह कहते हुए आरोप लगाया, “आप कहते हैं कि राज्य सभा खराब है, पार्लियामेंट खराब है, सुप्रीम कोर्ट खराब है, इलेक्शन कमीशन खराब है, अच्छा कौन है, किसी पर तो भरोसा करिए। सुप्रीम कोर्ट की कमेटी भी खराब है, यह देश केवल राहुल गांधी पर भरोसा करे, आप राहुल गांधी का एक ऐसा गुण बता दीजिए, जिसके कारण देश उनके नेतृत्व पर भरोसा करे। अरे जो व्यक्ति देश में रह नहीं सकता है और किसानों की बात मिलान में जाकर करता है। और कल टिकैत साहब कह रहे थे कि ये कमेटी वाले टेंट में नहीं रहते हैं, सरसों का साग नहीं खाते हैं, फटे कुर्ते और धोती नहीं पहनते हैं, ये किसान नहीं हैं। ये फर्जी हैं।”

कहा, “मैं पूछता हूं कि कि क्या राहुल गांधी, योगेंद्र यादव, अरुंधति राय किसान हैं? ये कौन से टेंट में रहते हैं? मुझे बताइए, ये कौन से किसान हैं? बताइए ये कौन से खेत में काम करते हैं। कौन सा ट्रैक्टर चलाते हैं?”

उनके सवाल के जवाब में कांग्रेस प्रवक्ता गौरव बल्लभ ने बोले, “इन्होंने कहा कि 13 लाख किसानों से कंसल्टेशन किया है। यह भाजपा का ट्वीट है। 13 लाख कंटल्टेशन। जब आरटीआई में ब्यौरा मांगा तो इस तरह की कोई भी जानकारी नहीं दे पाए। अरे कहां से लाते हो यह डाटा, थोड़ा सोचा तो करो। झूठ भी बोलो तो थोड़ा सोचो न।”

इस पर संबित पात्रा ने एक लिस्ट दिखाई कहा ये कमेटी के नाम मैंने पढ़े हैं, आप भी देख सकते हैं। गौरव बल्लभ अपनी बात जारी रखते हुए एंकर रोहित सरदाना से कहा कि मेरा समय इनको मत दीजिए, मुझे बोलने दीजिए। पूछा “किसान एमएसपी की लीगल गारंटी मांग रहे हैं। आप लीगल गारंटी क्यों नहीं देते हैं। क्या पीएम मोदी जी ने कभी बताया कि लीगल गारंटी देंगे। गृहमंत्री अमित शाह ने लीगल गारंटी दी, और वे रेलमंत्री जो ट्रेनों के पहिए पटरी से उतार दिए और आजकल किसानों से बात कर रहे हैं क्या कभी बोला?”

कहा, “बार-बार पूछते हैं कौन कहां गया, संबित जी कौन कहां गया से ज्यादा जरूरी है कि 65 किसानों के शहादत के बाद कौन कहां नहीं गया, यह जानना। आप पूछ रहे हैं कौन कहां गया, टेंट में कौन रह रहा है? अरे शर्म नहीं आती आपको? किसान मांग रहा अपनी फसल की जायज मांग, अपनी सुरक्षा उसको आप नहीं दे रहे हैं।”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सरकार ने 10 साल पुराने ट्रैक्टरों पर बैन लगाया है, पर हम उन्हें ही दिल्ली की सड़कों पर चलाकर दिखाएंगे- बोले किसान नेता राकेश टिकैत
2 किसानों के समर्थन में बीजेपी नेता ने छोड़ी पार्टी, अकाली दल में गए
3 अदालत ने अपना रुतबा गंवा दिया? ट्वीट पर रोहित सरदाना ने किया आशुतोष को ट्रोल
ये पढ़ा क्या?
X