ताज़ा खबर
 

एक दिन पहले ही मिला था आगरा कैंट की सीट का टिकट, सपा उम्मीदवार की अगले दिन हो गई हार्ट अटैक से मौत

परिवार के मुताबिक चंद्रसेन टपलू ने गुरुवार को सुबह 8 बजे सीने में दर्द की शिकायत की थी। इसके बाद उन्हें पास के एक अस्पताल ले जाया गया।

Akhilesh vs Mulayam, Samajwadi Party news, Samajwadi Party Cycle, Samajwadi Party News, Samajwadi Party latest newsसमाजवादी पार्टी का चुनावी निशान

बुधवार को समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने आगरा कैंट विधानसभा सीट से चंद्रसेन टपलू को टिकट दिया था। इसके बाद उनके समर्थक और परिवारीजनों के बीच खुशी का माहौल था। लेकिन अगले ही दिन गुरुवार को माहौल उस वक्त गम में बदल गया जब टपलू की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई। अचानक यूं एक मशहूर स्थानीय नेता का निधन समाजवादी पार्टी और कार्यकर्ताओं के लिए सदमे से कम नहीं है। हजारों लोग टपलू के फतेहाबाद रोड स्थित घर पर उन्हें श्रद्धांजलि देने पहुंचे। वहीं पार्टी अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने फोन पर अपनी संवेदनाएं टपलू की पत्नी को दीं। परिवार के मुताबिक टपलू ने गुरुवार को सुबह 8 बजे सीने में दर्द की शिकायत की थी। इसके बाद उन्हें पास के एक अस्पताल ले जाया गया। कुछ चेकअप के बाद डॉक्टरों ने उन्हें गुड़गांव के मेदांता के लिए रेफर कर दिया। लेकिन हॉस्पिटल पहुंचने से पहले ही उनकी तबीयत बिगड़ गई और मथुरा टोल प्लाजा पर उन्होंने दम तोड़ दिया।

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ चंद्रसेन टपलू मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ चंद्रसेन टपलू

टाइम्स अॉफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक आगरा विकास परिषद के सदस्य टपलू दो बार आगरा नगर निगम के निर्वाचित पार्षद भी रह चुके हैं। फिलहाल उनकी मां इस सीट पर पार्षद हैं। सूत्रों के मुताबिक ताजगंज इलाके में उनके विकास कार्यों के कारण उन्हें लोगों का भारी समर्थन मिला हुआ था।साल 2012 के विधानसभा चुनावों में टपलू समाजवादी पार्टी से चुनाव लड़े थे, लेकिन वह चुनाव हार गए थे। उन्हें 45000 से ज्यादा वोट मिले थे। एक पार्टी नेता ने कहा कि 2017 के विधानसभा चुनावों के लिए टपलू बहुत काम कर रहे थे और पूरे जिले में वह एक लोकप्रिय उम्मीदवार थे। उन्होंने कहा कि उनका इस तरह जाना इस सीट के लिए चिंता का विषय है। यह तभी भरी जा सकती है अगर उनकी पत्नी और परिवार के किसी सदस्य को टिकट दिया जाए।

समाजवादी पार्टी के जिला अध्यक्ष राम शाय  यादव ने कहा कि चंद्रसेन टपलू का जाना पार्टी के लिए एक बड़ा झटका है। उन्हें मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का भारी समर्थन प्राप्त था और आगरा के लोग भी उन्हें बहुत पसंद करते थे। उनकी मौत की खबर सुनते ही फतेहाबाद रोड पर भारी ट्रैफिक जाम लग गया। ताजगंज कॉलोनी की दुकानों को बंद कर दिया गया। उनके परिवार में उनकी पत्नी, दो बच्चे और मां हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 झारखंड के पुटकी में खदान ढहने से 9 लोगों की मौत, 35-40 से ज्यादा के अब भी फंसे होने की आशंका
2 पचास साल बाद भी नहीं बदला जम्मू-कश्मीर, 2011 में हिंदू-मुस्लिम की जनसंख्या में हिस्सेदारी 1961 जैसी
3 ‘बीजेपी ने हमें पत्रकारों और नेताओं की हिटलिस्ट दी थी, जिन्हें सोशल मीडिया पर लगातार निशाना बनाना था’
ये पढ़ा क्या?
X