ताज़ा खबर
 

26/11: सरकारी गवाह बनने के लिए हुआ तैयार हुआ आतंकी डेविड हेडली, मुंबई की अदालत ने दी माफी

कोर्ट इस शर्त पर राजी हुआ कि हेडली हमले में शामिल अन्‍य लोगों की भूमिका के बारे में बताएगा और दूसरी जानकारियां भी देगा।

डेविड हेडली पहली बार सोमवार को मुंबई की एक अदालत के समक्ष वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए गवाही में स्‍वीकार किया कि पाकिस्तान आर्मी के मेजर साजिद मीर ने ही उसे भारत जाने और रेकी करने को कहा था।

मुंबई पर हुए 26/11 के हमलों के साजिशकर्ताओं में से एक आतंकी डेविड हेडली को शहर की टाडा कोर्ट ने गुरुवार को माफ कर दिया। हेडली ने मुंबई हमलों के मामले में सजा से बचने के लिए सरकारी गवाह बनने का प्रस्‍ताव दिया, जिसके बाद कोर्ट ने यह फैसला लिया। कोर्ट इस शर्त पर राजी हुआ कि हेडली हमले में शामिल अन्‍य लोगों की भूमिका के बारे में बताएगा और दूसरी जानकारियां भी देगा। इस मामले में अब अगली सुनवाई अगले साल आठ सितंबर को होगी।

हेडली इस वक्‍त अमेरिका की जेल में सजा काट रहा है। टाडा कोर्ट में वीडियो कॉन्‍फ्रेंस के जरिए उसकी पेशी हुई। उसने पहले से लिखा बयान पढ़ा। इसमें उसने कहा कि वो सभी सवालों का जवाब देने के लिए तैयार है, अगर उसे कोर्ट माफ कर दे। उसने कहा कि वह इसी तरह के आरोपों में अमेरिका में सजा पा चुका है। हेडली के बयान के बाद जज ने कोर्ट की कार्यवाही कुछ वक्‍त के लिए स्‍थगित कर दी ताकि हेडली के बयान पर विचार किया जा सके। सरकारी पक्ष के वकील उज्‍जवल निकम ने कहा कि वे इस मामले पर जांच अधिकारियों से चर्चा करना चाहते हैं। बाद में निकम ने कोर्ट को बताया कि सरकारी पक्ष हेडली का प्रस्‍ताव मानने को तैयार है। इसके बाद जज ने कुछ शर्तों के साथ हेडली के सरकारी गवाह बनने को मंजूरी देते हुए उसे माफ कर दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App