ताज़ा खबर
 

हेडली का खुलासा: NIA को दी थी इशरत के बारे में जानकारी, पर उन्होंने रिकॉर्ड पर नहीं लिया

उसने जिरह के दौरान दावा किया कि उसने एनआईए को बताया था कि भारत में एक मुठभेड़ में जो महिला सदस्य मारी गई वह इशरत जहां थी।

Author मुंबई | March 26, 2016 4:23 PM
हेडली के अनुसार उसने एनआईए को यह भी बताया कि लश्कर ए तैयबा में एक महिला दस्ता था और अबु अयमन की मां उसकी प्रमुख थी। ( File Photo)

पाकिस्तानी मूल के अमेरिकी आतंकवादी डेविड कोलमेन हेडली ने शनिवार को दावा किया कि लश्कर ए तैयबा के कमांडर जकी उर रहमान लखवी ने उसे इशरत जहां ‘अभियान’ के बारे में बताया था, हालांकि उसे इस मामले के बारे में मीडिया के माध्यम से भी पता चला था।
मुंबई में 26:11 को हुए आतंकी हमले मामले में आतंकवाद निरोधक अदालत में हेडली शनिवार को चौथे दिन गवाही दे रहा था। उसने जिरह के दौरान दावा किया कि उसने एनआईए को बताया था कि भारत में एक मुठभेड़ में जो महिला सदस्य मारी गई वह इशरत जहां थी।’’ उसके अनुसार, उसने अन्य बातों के बारे में भी बताया था लेकिन वह यह नहीं कह सकता कि एजेंसी ने इसे रिकॉर्ड क्यों नहीं किया।

बहरहाल, हेडली एनआईए को दिए गए अपने बयान के इस हिस्से से यह कहते हुए पलट गया कि उसने जांच एजेंसी को यह नहीं बताया कि लखवी ने उसे जानकारी दी थी कि इशरत जहां ‘मॉड्यूल’ लापरवाही से अंजाम दिया गया एक अभियान था। उसने यह भी कहा कि यह सिर्फ मेरे विचार थे।

उसने यह भी माना कि उसे ‘‘इशरत जहां के बारे में कोई निजी जानकारी नहीं थी।’’ हेडली ने कहा ‘‘जब लखवी ने मुजम्मिल भट को मुझसे मिलवाया तो उसने मुझसे कहा कि वह (भट) लश्कर ए तैयबा के शीर्ष कमांडरों से एक है और उसने अक्षरधाम मंदिर, इशरत जहां जैसे कुछ अभियानों को अंजाम दिया है…. शेष मेरे विचार थे….मुझे इशरत जहां के बारे में मीडिया से पता चला। यह मेरे विचार थे कि इशरत जहां अभियान असफल क्यों हुआ ।’’

Read Also:बचपन में ही भारत-भारतीयों से हो गई थी नफ़रत, हेडली के ऐसे ही 10 खुलासे

हेडली के अनुसार, उसने एनआईए को यह भी बताया कि लश्कर ए तैयबा में एक महिला दस्ता था और अबु अयमन की मां उसकी प्रमुख थी। उसने बताया कि एनआईए को उसने बताया था कि भारत में एक मुठभेड़ में मारी गई एक महिला सदस्य इशरत जहां थी लेकिन वह यह नहीं कह सकता कि इसे भी एजेंसी ने क्यों रिकॉर्ड नहीं किया।

एक सवाल के जवाब में हेडली ने स्पष्ट किया कि उसने एनआईए को बताया था कि ‘‘यह महिला (इशरत जहां) भारतीय थी और लश्कर ए तैयबा की सदस्य थी’’ लेकिन वह यह नहीं बता सकता कि उसके बयान में इसे रिकॉर्ड क्यों नहीं किया गया। हेडली ने एक अन्य सवाल के जवाब में कहा ‘‘यह कहना सही होगा कि मुझे इशरत जहां के बारे में कोई निजी जानकारी नहीं है।’’ गुजरात में वर्ष 2004 में एक कथित फर्जी मुठभेड़ में इशरत जहां और तीन अन्य लोग मारे गए थे।

फरवरी में गवाही के दौरान हेडली ने कहा था कि मुंबई की 19 वर्षीय छात्रा इशरत जहां लश्कर ए तैयबा से संबद्ध थी। हेडली ने यह भी कहा कि उसने एजेंसी को बताया था कि मुजम्मिल के अभियान पूरे भारत में थे और गुजरात तथा महाराष्ट्र में खास तौर पर केंद्रित थे लेकिन वह यह नहीं कह सकता कि उसके बयान में इसे क्यों रिकॉर्ड नहीं किया गया। एक सवाल के जवाब में हेडली ने कहा ‘‘यह सच है कि लखवी ने 2005 में मुजम्मिल से मेरा परिचय कराया था।’’ बहरहाल, उसने इस बात से इंकार किया कि लखवी ने उसे बताया कि मुजम्मिल लश्कर ए तैयबा का एक शीर्ष कमांडर था जिसकी हर परियोजना नाकाम रही थी।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App