ताज़ा खबर
 

जाने-माने फिल्म डायरेक्टर और पूर्व मंत्री दासारी नारायण राव का निधन, जयललिता की लाइफ पर बनाने वाले थे फिल्म

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की मंत्रिपरिषद के सदस्य रह चुके राव का नाम कोयला घोटाले के आरोपपत्र में भी था। राव की कुछ बेहद सफल फिल्मों में 'प्रेमाभिषेकम', 'मेघा संदेशम', 'ओसी रामुलम्मा' और 'टाटा मनवाडू' शामिल हैं।

Author हैदराबाद। | May 30, 2017 10:08 PM
फिल्म निर्देशक दासारी नारायण राव का निधन।

दक्षिण भारत के फेमस फिल्म निर्देशक एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री दासारी नारायण राव का मंगलवार को लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया। वह 75 वर्ष के थे। तेलुगू, तमिल और हिंदी भाषाओं में 125 फिल्में निर्देशित कर गिनीज बुक में नाम दर्ज करा चुके राव का हैदराबाद के एक निजी अस्पताल में उपचार के दौरान निधन हुआ। राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार विजेता राव ने 50 अन्य फिल्में भी निर्देशित की थीं। लंबे समय से बीमार चल रहे राव को पिछले कुछ समय के दौरान कई बार अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। इसी वर्ष उनका फेफड़े और गुर्दे का ऑपरेशन भी हुआ था।

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की मंत्रिपरिषद के सदस्य रह चुके राव का नाम कोयला घोटाले के आरोपपत्र में भी था। राव की कुछ बेहद सफल फिल्मों में ‘प्रेमाभिषेकम’, ‘मेघा संदेशम’, ‘ओसी रामुलम्मा’ और ‘टाटा मनवाडू’ शामिल हैं। राव तमिलनाडु की दिवंगत मुख्यमंत्री जे. जयललिता के जीवन पर फिल्म बनाने की योजना बना रहे थे। राव के निधन पर साउथ के सुपरस्टार रजनीकांत और एक्टर कमल हासन ने दुुख प्रकट करते हुए इसे तमिल सिनेमा के लिए बड़ा नुकसान बताया है।

रजनीकांत ने अपने ट्वीट में लिखा- “श्री दासारी नारायण राव में मेरे बहुत ही प्यारे और करीबी शुभचिंतक और दोस्त थे। वह भारत के महान फिल्म डायरेक्टर में से एक थे। उनकी जाने से पूरी फिल्म इंडस्ट्री को अपूर्णीय क्षति पहुंची है। उनके परिवार के प्रति संवेदना प्रकट करता हूं।”

 

दिवंगत फिल्म निर्माता को बड़े पैमाने पर लोगों ने जानना शुरू किया जब उन्होंने “आशा ज्योति” और “आज का एमएलए राम अवतार” में दो अलग-अलग भूमिकाओं में बॉलीवुड सुपरस्टार राजेश खन्ना को निर्देशित किया। राव ने अपनी राजनैतिक करियर की शुरुआत उस समय की जब साल 2004 में कांग्रेस सत्ता में आई। साल 2013 में सीबीआई ने उन्हें कोल ब्लाक आवंटन मामले में उन पर केस दर्ज किया। राव पर उद्योगपति और पूर्व सांसद नवीन जिंदल से 2.25 करोड़ रुपए लेने का आरोप लगा था। उनके दो बेटे हैं।

 

शिवसेना ने कहा- जब गांधी का स्मारक बन सकता है तो ठाकरे का क्यों नहीं?

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App